इन एक्यूप्रेशर पॉइंट से दिल को रखें स्वस्थ 

152
Image credits: Health Jade

आपका दिल आपके लिए चौबीसों घंटों काम करता है। आपकी पूरी ज़िन्दगी काम करने वाली इस मांसपेशी को स्वस्थ रखने के लिए मौकों को तलाश सही नहीं। पर आखिर दिल को स्वस्थ रखने के लिए आप सबसे आसान रास्ता कौनसा चुन सकते हैं?

कई हजारों शोधों में एक्यूप्रेशर के प्रभावी होने की पुष्टि हुई है। एक्यूपंक्चर के सिद्धांत और आसान तरीकों के कारण यह आपको कई तरह के स्वास्थ्य लाभ दे सकता है। इस लेख को पढ़ते हुए भी आप अपने दिल को एक्यूप्रेशर की मदद से स्वस्थ बना सकते हैं।

आइये जानें ऐसे 3 खास एक्यूप्रेशर पॉइंट जो आपके दिल को स्वस्थ रख सकते हैं-

1. पहला पॉइंट 

यह एक रिफ्लेक्सोलॉजी पॉइंट है जो आपके बाएँ हाथ में होता है। आप इसे इस तरह ढूंढ सकते हैं-

हथेली पर अनामिका और कनिष्ठा उगलियों के बीच के हिस्सा को ढूंढें जो दोनों उँगलियों की हड्डी को हाथ से जोड़ता है। विशेषज्ञ सुझाते हैं की आप इस बिंदु को अपने अंगूठे की मदद से आधे से पुरे मिनट के लिए दबाएँ। ऐसा आप दिन में दो या तीन बार कर सेहतमंद हृदय पा सकते हैं। यकीन मानिए, यह दिल की मांसपेशी को मालिश देने जितना ही प्रभावी है।

2. दूसरा पॉइंट 

यह पॉइंट चीनी एक्यूपंक्चर पद्धति से आया है। यह दिल की रेखा पर स्थित होता है इसलिए इसे ढूंढना बहुत आसान है। पहले आप हथेली के निचले कोने पर मौजूद गोल हड्डी को ढूंढें। इस हड्डी के निचले हिस्से में यह पॉइंट मौजूद होता है जिसे आत्मा का दरवाज़ा भी कहते हैं। आप अंगूठे की मदद से अंदर की तरफ इस बिंदु को दबा सकते हैं या एक गोलाकार दिशा में मालिश कर सकते हैं। इस क्रिया को आधे से एक मिनट तक दिन में दो से तीन बार करें।

3. तीसरा पॉइंट 

यह पॉइंट पश्चिम भारत की वर्मम नामक कला से मिलता है। इस पॉइंट को ढूँढने के लिए अपने अंगूठे के छोर को गले के ठीक नीचे मौजूद गड्ढे पर रखें। बाकी उँगलियों को सामान्य रूप से छाती को छूने दें। उँगलियों के पोरों से छाती पर 5-10 बार ऊपर व् नीचे की दिशा में दबाएँ।

वर्मम कला के अनुसार अगर रेवती नक्षत्र में इस बिंदु को दबाया जाए तो आपके दिल को विभिन्न गृह नक्षत्रों से सकरात्मक उर्जा मिलती है। अगर आपको पेसमेकर की ज़रूरत पड़े तो चिकित्सक भी आपको इसी बिंदु पर पेसमेकर लगाएंगे।

इन तीन बिन्दुओं की मदद से अपने दिल को आप स्वस्थ बनाकर रख सकते हैं। इसके साथ हल्का फुल्का व्यायाम और तनाव रहित जीवनशैली को अपनाने से आप पूर्ण सेहत पा सकते हैं।

हृदय में स्टंट डलने के बाद डॉयट प्लान

7 अहम बातें जिनका पालन कर आप रह सकते हैं हृदय रोगों से दूर