इन आयुर्वेदिक दवाओं की मदद से निपटें तनाव और अवसाद से

1053
asgandh-nagori-ayurvedic-herb
image credits: hindi.revoltpress.com

जब आप तनाव से ग्रसित होते हैं तो आपके शरीर के सभी अंगों पर असर पड़ने लगता है। ध्यान केन्द्रित करने में समस्या होने से लेकर रोगप्रतिरोधक कमजोर होने तक कई परेशानियाँ इसके कई प्रभाव हो सकती हैं। इस तरह यह छोटी सी समस्या बड़ा रूप भी ले सकती है। (ayurvedic medicine for anxiety and depression in hindi)

 

आयुर्वेद के अनुसार बेचैनी और तनाव शरीर में वात दोष के बढ़ जाने से होते हैं इसलिए इस समस्या का उपचार भी वात को कम करके ही किया जाता है। ऐसा करने के लिए आपको शरीर को भरपूर पानी देना चाहिए। इसके लिए आप भरपूर पानी पियें तथा तेलों की मालिश लें। इसके अलावा शरीर को गर्म रखना भी आपकी मनोदशा सुधारेगा।

 

इन आसान उपयोग के अलावा कुछ ऐसी जड़ी-बूटियां भी हैं जो आपको तनाव से छुटकारा दिला सकती हैं। कौनसी हैं ये दवाएं, आइये जानते हैं-

 

ब्राह्मी 

आयुर्वेद में ब्राह्मी का उपयोग हमेशा से समझ से जुडी बीमारियों के उपचार में किया जाता रहा है। देखा जाता है की यह दवा स्नायु तन्त्र की कोशिकाओं के बीच सम्पर्क को मजबूत और सक्रीय बनाती है और सेरोटोनिन के स्तर बढ़ाकर तनाव घटाती है।

ब्राह्मी के लाभ लेने के लिए आप इसकी वटी या शर्बत का सेवन रोजाना शुरू कर सकते हैं। तनाव कम करने के साथ ही यह आपकी याददाश्त और ध्यान भी बेहतर करेगी। यह अनिद्रा का उपचार करने में भी मदद करती है। इन सभी गुणों के साथ किसी भी कार्यक्षेत्र से जुड़े व्यक्ति के लिए यह दवा बेहद लाभदायक है।

 

अश्वगंधा 

यह भी एक प्रचलित आयुर्वेदिक दवा है जो स्नायु तन्त्र की रक्षा करने में मदद करती है। किसी भी तरह की क्षति से बचाकर यह मन को शांत करती है तथा बेचैनी को खत्म करती है। इसके अलावा अश्वगंधा में एंटी-एजिंग अर्थात उम्र के प्रभाव घटाने का गुण भी है। रोग प्रतिरोधक क्षमता बढाने के साथ ही तनाव कम कर यह आपको एक स्वस्थ जीवन के लिए तैयार करती है।

किसी भी तरह के एंटीडिप्रेसेंट के उपयोग से आपको कई दुष्प्रभाव हो सकते हैं लेकिन अश्वगंधा का उपयोग आपको किसी भी तरह के दुष्प्रभाव नहीं देता।

 

इन दवाओं के अलावा कुछ और आयुर्वेदिक मिश्रण भी आपको तनाव से राहत दे सकते हैं-

  • एक गिलास संतरे का रस लें, इसमें एक चम्मच शहद डालें, 1 चम्मच जायफल पाउडर डालें तथा सभी चीज़ों को अच्छी तरह मिला लें।

इस मिश्रण को रोजाना लेने से आप बेचैनी का उपचार कर पाएंगे तथा ताजगी और उर्जा का अनुभव भी करेंगे।

  • रातभर 7-8 बादाम पानी में रखकर रखें। सुबह इनके छिलके हटा लें तथा कूट/पीस लें। इसमें एक कप गुनगुना दूध डालें। ऊपर से एक चुटकी केसर और थोडा शहद डालें। इन सभी चीज़ों को अच्छी तरह मिला लें तथा दूध के ठंडा होने से पहले पी लें।

इस मिश्रण को रोजाना सुबह पीने से आपको बेचैनी से राहत तो मिलेगी ही साथ आपकी मानसिक शक्ति भी बढ़ेगी। इसका सेवन कर आप बेहतर याददाश्त, ध्यान और समझ का लाभ भी उठा सकते हैं।