चेहरे पर आए गड्ढों को ऐसे दूर करें

442
pores-skin-face-cure
image credits: instiks.com

चेहरे के रोमछिद्र तेल और पसीने के स्राव के लिए बेहद ज़रूरी हैं। पर अगर इनका आकार बड़ा हो जाए तो यह चेहरे की खूबसूरती में बाधा भी बन सकते हैं। (chehre ke gadde ka ilaj, how to reduce the size of pores on my face naturally)

अगर आपके चेहरे पर गड्ढे दिख रहे हैं तो इनकी वजह यह हो सकती है-

  • मुंहासे
  • तेलिय त्वचा
  • धुप से त्वचा को हुई क्षति
  • अनुचित मेकअप

 

कुछ आसान से उपाय अपनाकर आप इस समस्या का हल निकाल सकते हैं-

 

अपने प्रसाधनों पर ध्यान दें 

हो सकता है त्वचा की देखभाल के लिए अपनाए जा रहे प्रसाधन ही आपकी समस्या की वजह हो।

अगर आप मुंहासे या तेलिय त्वचा के उपचार के लिए किसी प्रसाधन का उपयोग कर रहे हैं तो इन्हें 1-2 हफ्तों से ज़्यादा उपयोग में न लें। इनमें मौजूद घटक आपकी त्वचा को शुरुआत में स्वस्थ दिखाएंगे लेकिन दीर्घकाल में इनसे लड़ने के लिए त्वचा और भी ज्यादा तेल बनाने लगेगी।

सुनिश्चित करें की आपके सभी प्रसाधन नॉन-कोमेडोजेनिक हों- इसका मतलब है की आपके प्रसाधन पानी पर आधारित हों, न की तेल पर।

 

चेहरा साफ़ रखें 

सही क्लेंसेर आपकी त्वचा से तेल और गंदगी हटाएगा लेकिन त्वचा को शुष्क और बेजान नहीं करेगा। चेहरे के गड्ढों की वजह अगर तेलिय त्वचा हो तो जेल-आधारित क्लेंसेर अपनाएं। सामान्य या शुष्क त्वचा वाले लोग क्रीम-आधारित क्लेंसेर भी अपना सकते हैं।

सही क्लेंसेर चुनने के बाद इनका सही उपयोग भी ज़रूरी है-

  • अपना चेहरा गुनगुने पानी से गीला करें।
  • क्लेंसेर से चेहरे और गले की 30-60 सेकंड तक मालिश करें।
  • चेहरे को अच्छे से धो लें तथा टॉवल की थपकी से पानी सुखाएं(त्वचा को रगड़ें नहीं)

इस क्रिया को रोज़ सुबह और शाम अपनाने से आपके रोमछिद्र स्वस्थ होते जाएंगे।

 

AHA और BHA से एक्स्फोलीएट करें 

हफ्ते में सिर्फ एक या दो बार ही स्क्रबिंग करें। इससे चेहरे की मृत कोशिकाएं हट जाती हैं तथा रोमछिद्रों की भी सफाई होती है। अगर आपके चेहरे पर मुंहासे हैं तो स्क्रब का उपयोग न करें।

चेहरे की बेहतर सफाई के लिए AHA या BHA युक्त एक्स्फोलीअंट अपनाएं। यह दोनों ही अम्ल हैं और स्क्रबिंग के लाभों को दुगना कर सकते हैं। अगर आपको एस्पिरिन से एलर्जी हो तो BHA का उपयोग न करें।

 

संतुलित मॉइस्चराइजिंग करें 

तेलिय त्वचा से परेशान लोग अक्सर मॉइस्चराइजर से दूर रहते हैं ताकि उनके चेहरे पर तेल और न बढ़ जाए। दरअसल, मॉइस्चराइजर प्राकृतिक तेलों को आपके त्वचा के अंदरूनी परतों तक पहुँचाने में मदद कर सकता है जिससे न सिर्फ आपके चेहरे पर कम तेल दिखेगा बल्कि तेल के स्त्राव में भी कमी आएगी।

 

क्ले मास्क अपनाएं 

मुल्तानी मिटटी व् अन्य विकल्प गंदगी, तेल और मृत कोशिकाओं को दूर कर रोमछिद्र छोटे करने में आपकी मदद करेंगे। इन्हें आप हफ्ते में एक या दो बार लगा सकते हैं लेकिन जिस दिन आप स्क्रबिंग करते हैं, उन दिनों इन्हें लगाने से बचें।

 

सनस्क्रीन लगाएं 

सनस्क्रीन हर व्यक्ति के लिए बेहद ज़रूरी प्रसाधन है। इससे न सिर्फ धुप से होने वाली क्षति से बचा जा सकता है बल्कि कई चर्मरोगों से भी दूर रहा जा सकता है।

कम से कम SPF 30 युक्त सनस्क्रीन का उपयोग करें। इसे घर से निकलने के 15 मिनट लगा लें ताकि धुप में जाने से पहले आपकी त्वचा इसे अच्छी तरह सोख ले। आप चाहें तो SPF युक्त मॉइस्चराइजर या फाउंडेशन का उपयोग भी कर सकते हैं।

 

भरपूर पानी पियें 

सही प्रसाधनों के साथ भरपूर पानी की आवश्यकता भी आपकी त्वचा और रोमछिद्रों को होती है। दिन में कम से कम 8 गिलास पानी पीना आपको अंदर से हाइड्रेट करता है, शरीर से विषेले तत्वों को बाहर करता है तथा आपकी रंगत भी निखारता है।

सादे पानी के अलावा फलों का रस, ग्रीन टी आदि पेयों को भी दिनभर में लेते रहें। सुनिश्चित करें की आपके शरीर में पानी की कमी न हो।

 

इन सभी उपायों को अपनाने पर जल्द ही अपनी त्वचा में बदलाव देखने लगेंगे। आप चाहें तो अपने डर्मेटोलॉजिस्ट से भी परामर्श लेकर चेहरे पर आ रहे गड्ढों की सटीक वजह जान सकते हैं और तेज़ी से काम करने वाली दवाएं ले सकते हैं।