इस तरह लें हल्दी-काली मिर्च का मिश्रण तो मिलेंगें भरपूर लाभ

348
turmeric-health-benefits

हल्दी एक एंटीसेप्टिक, सूजन विरोधी, फफूंद नाशक और कीटाणु नाशक औषधि है। इन बेहतरीन गुणों की वजह से ही हल्दी को महत्वपूर्ण माना जाता है लेकिन इसमें मौजूद गुणों को शरीर के द्वारा अवशोषित करना आसान नहीं। इसलिए ज़रूरी है की हल्दी को ऐसे मसालों के साथ लिया जो इसके विघटन और अवशोषण में मदद करे। हल्दी को अगर काली मिर्च के साथ मिलाकर लिया जाए तो आप काली मिर्च के फायदे तो पाते ही हैं, साथ ही हल्दी के बेहतरीन गुणों को भी पा सकते हैं।

 

आइये जानते हैं हल्दी-काली मिर्च का मिश्रण रोजाना लेने से आप कौनसे लाभ पाते हैं-

 

तकलीफ से मुक्त करे 

इसके सुजन विरोधी गुणों की वजह से इस मिश्रण को भारत में लम्बे समय से शरीर के उपचार में उपयोग किया जाता रहा है। संक्रमण से लड़ने से लेकर जोड़ों के दर्द तक सभी तकलीफें इस मिश्रण से दूर होती हैं। साथ ही काली मिर्च की वजह से यह मिश्रण तेज़ दर्द में भी राहत देता है। नसों से जुड़े दर्द को दूर करने के लिए इस मिश्रण का उपयोग किया जा सकता है।

 

मोटापा दूर करे 

काली मिर्च और हल्दी का मिश्रण वजन कम करने की राह में आपका महत्वपूर्ण साथी बन सकता है। कई फिटनेस विशेषज्ञ भी इस मिश्रण की भूमिका को मानते हैं तथा इसे रोजाना खाली पेट गुनगुने पानी के साथ लेने का सुझाव देते हैं। इसके द्वारा आपका शरीर अतिरिक्त वसा से छुटकारा पा जाता है तथा मेटाबोलिज्म दुरुस्त करता है। अगर आपको इस मिश्रण का स्वाद पसंद नहीं तो इसमें कुछ बूंद नींबू का रस भी मिला सकते हैं।

बेहतर लाभ पाना चाहते हैं तो ताज़ी हल्दी का उपयोग करें।

 

मधुमेह प्रबंधन में मदद करे 

मधुमेह कई तरह की बीमारियों को जन्म दे सकता है। ऐसी ही एक समस्या है रक्त वाहिकाओं को हुई क्षति। शोधकर्ताओं ने पाया की हल्दी में मौजूद कर्कुमिन और काली मिर्च के एंटीऑक्सीडेंट के गुण मिलकर रक्त कोशिकाओं को होने वाले नुकसान के कारणों को ही खत्म देते हैं। इसलिए अगर आप मधुमेह प्रबंधन में मुश्किल महसूस कर रहे हैं तो इस मिश्रण का सेवन शुरू कर दें।

 

सूजन से लड़े 

आयुर्वेद में काली मिर्च और हल्दी के मिश्रण को सुजन कम करने के लिए उपयोगी बताया गया है। ये दोनों ही सामग्री सुजन विरोधी है इसलिए पारम्परिक विधि के अनुसार इनका उपयोग कई लाभ दे सकता है। आर्थराइटिस के निवारण में भी इसका उपयोग किया जाता है। कई शोध बताते हैं की हल्दी जोड़ों के दर्द से बचने में बहुत सहायक हो सकती है।

 

कैंसर से बचाए 

यह मिश्रण कैंसर से बचने में आपकी मदद कर सकता है। काली मिर्च हल्दी को पूरी तरह से काम करने में मदद करती है तथा कैंसर बनाने वाली कोशिकाओं को खत्म करती है। कई इंसानों पर हुए शोध दर्शाते हैं की हल्दी के कैंसर विरोधी गुण बेहद प्रभावी है तथा यह उपचार में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है। कई शोध यह भी दिखाते हैं की भारत में कैंसर के मामले विदेशों से कम हैं; इसकी वजह भी हल्दी का रोजाना सेवन ही समझा जाता है।