दूध और तेलों में इस तरह पहचानें मिलावट

363
milk-drinking-health-benefits
image credit: dairyfoods.com

आहार हमारे जीवन को बनाए रखने के लिए बेहद ज़रूरी है। मिलावट आहार लेने वाले को असली सामग्री का छलावा देकर सेहत बर्बाद कर देती है। यही वजह है की हमें अपने आहार की शुद्धता पहचानने के गुर जानने चाहिए। आइये जानते हैं कुछ आम खाद्य सामग्रियों में मिलावट पहचानने के उपाय-

 

दूध 

 

  1. पानी की मिलावट
  • किसी चिकनी और हल्की झुकी सतह को चुनें तथा इसे अच्छी तरह साफ़ करें।
  • दूध की एक बूँद इस सतह पर डालें।
  • शुद्ध दूध इस सतह पर धीरे-धीरे बहेगा तथा बहते हुए दूध की लकीर बनाएगा।
  • पानी मिला दूध तुरंत बहने लगेगा तथा बहते हुए कोई लकीर नहीं छोड़ेगा।

 

  1. डिटर्जेंट की मिलावट
  • एक गिलास में 5-10 मिलीलीटर दूध लें तथा इतना ही पानी इसमें मिलाएं।
  • अब गिलास को अच्छी तरह मिलाएं।
  • मिलावटी दूध से दूध के उपर झाग की मोती परत बन जाएगी।
  • शुद्ध दूध को हिलाने पर बहुत कम झाग बनेगी।

 

  1. स्टार्च की मिलावट (यह जांच आप खोया, पनीर, छेंना आदि पर भी कर सकते हैं)
  • सामग्री की 5-10 मिली/ग्राम मात्रा पानी में डालकर उबालें।
  • मिश्रण को ठंडा होने दें तथा इसमें 2-4 बूँदें आयोडीन डालें।
  • अगर मिश्रण नीला हो जाए तो सामग्री में स्टार्च की मिलावट है।

 

तेल, घी आदि 

 

  1. नारियल तेल में अन्य तेलों की मिलावट
  • एक पारदर्शी कांच के गिलास में नारियल का तेल लें।
  • इसे आधे घंटे के लिए फ्रिज में रख दें।
  • अगर तेल शुद्ध है तो पूरा तेल जम जाएगा।
  • अगर नहीं तो आप तेल को जगह-जगह से पिघला हुआ पाएंगे।

 

शक्कर व् अन्य मीठी सामग्री 

 

  1. शहद में शक्कर की मिलावट

जांच का पहला तरीका:

  • एक पारदर्शी गिलास में पानी भरें।
  • इसमें शहद की एक बूँद डालें।
  • शुद्ध शहद पानी में तुरंत न घुलकर गिलास के तले में बैठ जाएगा।
  • मिलावट होने पर शहद तुरंत घुलने लगेगा।

 

जांच का दूसरा तरीका:

  • रुई के एक फाहे को शहद में डुबोएं।
  • इस फाहे को आग में जलाएं।
  • शुद्ध शहद होने पर रुई तुरंत जलने लगेगी।
  • शहद में पानी और शक्कर होने पर रुई में आग लगाने पर आप चटकने की आवाज़ सुनेंगे तथा रुई आसानी से नहीं जलेगी।

 

  1. शक्कर, गुड, मिश्री आदि में चाक की मिलावट
  • एक पारदर्शी गिलास में पानी भरें।
  • एक चम्मच सामग्री इस पानी में घोलें।
  • सामग्री शुद्ध होने पर पानी पारदर्शी दिखेगा।
  • मिलावट होने पर पानी धुंधला दिखने लगेगा।