हाइपरहिड्रोसिस – अत्यधिक पसीने की समस्या से कैसे निपटें

158
excessive-sweating-perspiration
image credits: buzznigeria.com

पसीना आना शरीर को ठंडा रखने के लिए ज़रूरी एक क्रिया है। ये वेट लोस और बॉडी ट्रेनिंग करने वालों का भी बड़ा साथी होता है तथा शरीर से विषाक्त तत्वों को भी बाहर कर रोगों से रक्षा करता है। पर अगर यही क्रिया असंतुलित हो जाए और आपको असहज करने लगे तो इसका उपचार भी ज़रूरी हो जाता है। अगर आपको भी अत्यधिक पसीना आने की समस्या रहती है, तो इसके निवारण के लिए ये कदम उठाएं-

 

एंटीपर्सपिरेंट अपनाएं 

ये अलुमुनियम से बने प्रसाधन होते हैं जो शरीर के पसीना बनाने वाले छिद्रों को बंद कर देता है। इस तरह यह आपकी त्वचा तक पहुँचने वाले पसीने की मात्रा कम कर देता है। अगर पसीना आने की आपकी समस्या गंभीर नहीं है तो यह उपाय आपके लिए बेहद प्रभावी होगा।

 

एस्ट्रीजेंट का उपयोग करें 

ये भी टैनिक अम्ल से बने प्रसाधन होते हैं जो कसेले होते हैं तथा इन्हें शरीर पर लगाकर पसीने की मात्रा कम की जा सकती है। नींबू भी एक तरह का सौम्य एस्ट्रीजेंट है।

पसीना रोकने के प्राकृतिक तरीके

रोजाना नहाएं 

रोजाना नहाने से आपके शरीर के बैक्टीरिया की नियमित रूप से सफाई हो जाती है जिससे पसीना, संक्रमण और बैक्टीरिया में कमी आती है। नहाने के तुरंत बाद अपने आप को अच्छी तरह पोछने और सुखाने के बाद ही कपड़े पहने। पैरों और काँखों को सुखाने पर ज्यादा ध्यान दें।

 

सही जूते और मौजे चुनें 

प्राकृतिक चीज़ों से बने जूते और मौजे आपके पैरों को लगातार हवा के सम्पर्क में रखते हैं तथा अत्यधिक  पसीने को सोख भी लेते हैं। यह खासकर ज़रूरी है अगर आपके पैरों में बहुत पसीना और बदबू रहती हो। अगर आपको बहुत भाग-दौड़ करनी पडती हो या फिर आप दिन के कुछ समय दौड़ने जैसे व्यायाम करते हों तो नमी को तेज़ी से सुखाने वाले मौजे लें।

गर्मी में पसीने तथा शरीर की दुर्गन्ध से निजात पाने 10 आसान एवं घरेलु नुस्खे

मौजों को बदलें 

अपने मौजो को दिन में एक से दो बार ज़रूर बदलें। इस दौरान पैरों को सुखाने और हवा देने की कोशिश भी करें। आप चाहें तो ऐसे मौजे ले सकते हैं जिनके सोल कॉटन से बने होते हैं। अगर समस्या ज्यादा हो तो पैरों के लिए बने विशिष्ट पाउडर का भी उपयोग कर सकते हैं।

 

अपने कपड़ों को काम के अनुसार चुनें

लम्बे समय के लिए कपड़े चुन रहें हैं तो हमेशा सूती, ऊनि व् सिल्क जैसे कपड़े को चुनें। ये सभी आपकी त्वचा को सांस लेने की जगह देते हैं। अगर आप व्यायाम कर रहे हैं तो ऐसे कपड़ों को चुनें जो और भी तेज़ी से शरीर के पसीने की नमी सोखने में मदद करे।

 

आराम करने के उपाय अपनाए 

ऐसी तकनीकें अपनाएं जो आपके शरीर को ठंडक दे। इनमें योग, ध्यान, प्राणायाम व् शरीर की क्रियाओं के प्रति सचेत होना शामिल है। ये सभी शरीर में तनाव और असहजता कम कर देती हैं जिससे आपके शरीर द्वारा पसीने के स्त्राव की दर भी बहुत कम हो जाती है।

ये सभी उपाय पसीना कम करने में बहुत प्रभावी हैं। फिर भी अगर आप पसीने से परेशान हैं या आपको इसकी वजह समझ नहीं आ रही है तो चिकित्सक से ज़रूर सम्पर्क करें तथा उनके द्वारा बताए गये तरीकों को अपनाएं।

क्या आपको भी बहुत पसीना आता है, जानिए इसका कारण

कहीं पसीने की बदबू आपको अपनों से दूर करने की वजह तो नहीं