क्या करें, क्या न करें, यदि वर्षा ऋतु में रखना है त्वचा का ख्याल

2978
skin-care-monsoon-rainy-season
image credits: Biotique

मॉनसून में हवा में बरकरार रहने वाली नमी कीटाणु तथा फफूँद को न्यौता है। गीली त्वचा पर यह तत्व तेज़ी से आक्र्मण कर खुजली से लेकर दाद तक कई समस्याएँ पैदा कर सकते हैं। इसलिए बारिश के इस मौसम में अपनी त्वचा की देखभाल सूचि में यह नियम भी जोड़ लें- त्वचा को सूखा रखने का पूरा प्रयत्न करें। साथ ही यहाँ दिए आसान सुझाव को अपनाकर मॉनसून में अपनी त्वचा का ख्याल रखें-

  1. त्वचा को दिन में कम से कम 3 बार धोकर रोमछिद्रों से अतिरिक्त तेल तथा गंदगी साफ़ करें।
  2. त्वचा को टोन करें। इसके लिए नॉन-अल्कोहलिक(बिना अल्कोहल का) टोनर का इस्तेमाल करें। यह आपकी त्वचा के pH को समान्य रखेगा साथ ही कुदरती दमक भी देगा।
  3. बारिश के पानी तथा बार-बार साफ़ करने की वजह से आपकी त्वचा रूखी हो सकती है। एक अच्छे मॉइस्चराइजर का उपयोग कर अपनी त्वचा को स्वस्थ रखें।
  4. अगर आप तैलीय त्वचा से परेशान रहते हैं तो वाटर-बेस्ड (पानी से बना) मॉइस्चराइजर जैसे एलोवेरा जेल का उपयोग कर सकते हैं।
  5. अब न करें बालों की फिकर और मनाएं हैप्पी वाला मॉनसून
  6. सही SPF वाला भरोसेमंद सनस्क्रीन उपयोग करें। बादल होने के बावजूद इस मौसम में आपकी त्वचा टेन हो सकती है।
  7. नियमित रूप से त्वचा को एक्सफोलिएट (मृत त्वचा निकलना) करना भी ज़रूरी है पर इसे हल्के हाथ से ही करें।
  8. भरपूर पानी पीते रहें। दिन भर में कम से कम 8 गिलास पानी ज़रूर पियें। मॉनसून की उमस से आने वाला पसीना आपके शरीर में पानी की कमी पैदा कर सकता है।
  9. बारिश की इस मौसम में आपके बालों को हफ्ते में 2 बार या इससे ज़्यादा शैम्पू तथा कंडीशन करने की ज़रूरत पड़ सकती है। उमस से आने वाला पसीना आपके सिर की त्वचा को गंदगी तथा कीटाणु से संक्रमित कर सकता है।
  10. बारिश में मौसम में कृत्रिम धातु से बनेगहने को आज़माने की कोशिश न करें, खासकर अगर आपकी त्वचा संवेदनशील है तो। ऐसा करने से मुंहासें तथा फुंसियां होने की संभावना बढ़ सकती है।
  11. इस मौसम में अपने सबसे भरोसेमंद प्रसाधन ही उपयोग करें। रसोई में उपलब्ध कई चीज़ों से आप फेसपैक बना सकते हैं जो प्राकृतिक और साफ़ होने की वजह से आपकीत्वचा को सेहतमंद बनाएगा।

मॉनसून में न करें यह 7 गलतियां

यह न करें

  • बहुत गर्म पानी से न नहाएं। यह त्वचा की कोशिकाओं को कमज़ोर करेगा जिससे त्वचा को क्षति पहुँच सकती है।
  • जल्दबाज़ी न करें; सही से साफ़ नहीं किया जाए तो त्वचा पर कीटाणु आक्र्मण कर संक्रमण फैला सकते हैं।

जानिए मॉनसून से सम्बंधित रोग तथा बरती जाने वाली सावधानियां

यह करें

  • सम्पूर्ण आहार लें। खाने में सभी पोषक तत्वों के साथ वसा का होना भी ज़रूरी है। वसा त्वचा में नमी बनाए रखती है तथा क्षतिग्रस्त त्वचा को ठीक करती है।
  • पैरों को साँस लेने दें। पैरों को पूरी तरह बंद करने वाले जूते पसीना ला सकते हैं जिससे संक्रमण हो सकता है। इनकी जगह वाटरप्रूफ सैंडल या चप्पल पहनें।
  • मॉनसून में किसी पार्लर में जाकर फेशियल या पेडीक्योर करवाना हैं तो पहले यह जाँच लें की सभी सामान/उपकरण अच्छी तरह साफ़ किए गए हैं या नहीं। कभी-कभी उपकरण संक्रमित होने से बीमारियां फ़ैल सकती है। ज़रूरत पड़ने पर अपने सामने उपकरण साफ़ करने का आग्रह करें।

मॉनसून में बढ़ते फ्लू से बचने के लिए रखें अपनी डॉयट का ख्याल