जानिए चावल से जुड़े मिथक

211
brown-rice-recipe
image credits: SparkRecipes

भारत के कई प्रान्तों में चावल को ही मुख्य अनाज के रूप में खाया जाता है। इतना ही नहीं, अन्य राज्यों में भी दिन में एक बार भोजन में चावल को ज़रूर शामिल किया जाता है। पर बिगड़ती जीवनशैली और बदलते वातावरण की वजह से बढ़ रही बीमारियों के डर से इस अनाज के प्रति हमारे मन में संदेह पैदा हो रहे हैं।

 

जिन मिथकों के बल पर हम अपनी आहार शैली में बड़ा बदलाव ला रहे हैं, क्या उनका कोई तथ्यपूर्ण आधार है? आइये जानते हैं-

 

चावल में ग्लूटेन होता है 

दुनियाभर के कई लोग ग्लूटेन के प्रति एलर्जी होने के कारण अनाजों के विकल्प ढूंढ रहे हैं। ग्लूटेन युक्त भोजन को मधुमेह से पीड़ित लोग तथा मोटापे से ग्रसित लोग भी नहीं खाते हैं। यह एक प्रचलित मिथक है की चावल भी ग्लूटेन युक्त होता है। पर तथ्य यही है की चावल पूरी तरह ग्लूटेन मुक्त होता है तथा अन्य अनाजों की तरह किसी भी एलर्जी का कारण नहीं होता।

चावल के पानी (मांढ़) के ऐसे फायदे जिनसे थे आप अभी तक अनजान

चावल से मोटापा बढ़ता है 

सुस्त जीवनशैली में रह रहे कई लोग अब डाइटिंग की ओर बढकर वजन प्रबंधित करने की कोशिश कर रहे हैं। पर दिलचस्प बात यह है की इन डाइट प्लान में से ज्यादातर में चावल को शामिल नहीं किया जाता। इसकी वजह यह मिथक है की चावल से मोटापा बढ़ता है। पर अगर आप इसकी पोषण रूपरेखा देखेंगे तो इस मिथक को हमेशा के लिए अपने दिमाग से हटा देंगे-चावल पचाने में आसान होता है, कम वसा लिए होता है तथा कोलेस्ट्रोल से मुक्त होता है। इससे आपको कार्ब्स मिलते हैं जो आपके शरीर और दिमाग की उर्जा के लिए बेहद ज़रूरी तत्व है।

 

चावल में प्रोटीन नहीं होता 

चावल को हम सिर्फ कार्ब्स और फैट का स्रोत मानते हैं। पर प्रोटीन इससे मिलने वाला दूसरा सबसे प्रमुख तत्व है। हर एक कटोरी चावल खाने पर आप चार ग्राम तक प्रोटीन पा सकते हैं। यह मात्रा किसी भी अन्य अनाज की तुलना में समान ही है तथा दाल के मुकाबले 1-2 ग्राम ही कम है।

ब्राउन राइस को इस तरह बनाइए अपनी डायट का हिस्सा

चावल से ब्लड प्रेशर बढ़ता है 

चावल सिर्फ कोलेस्ट्रोल से मुक्त नहीं होता, इसमें सोडियम की मात्रा बहुत ही कम होती है। इन्हीं दोनों वजहों से चावल का रक्तचाप पर कोई असर नहीं होता। इस मिथक के पीछे चावल में नमक डालकर पकाने या खाने में अधिक नमक का उपयोग हो सकते हैं। इसलिए अगर आपके घर में उच्च रक्तचाप की समस्या हो तो चावल खाना बंद करने से पहले नमक कम करने की कोशिश करें।

 

रात में चावल खाने से आपका वजन बढ़ता है 

दरअसल चावल को पचाना बहुत ही आसान होता है तथा इसे खाने से नींद भी गहरी आती है। ज्यादातर मामलों में किसी व्यक्ति के मोटापे और उसके भोजन में चावल की मौजूदगी के बीच इतना ही सम्बंध होता है की वह जितने कार्ब्स ले रहा है उतने की खपत नहीं कर रहा जिससे ये शरीर में वसा की तरह जमा हो रहे हैं।

जो आहार कार्ब्स से भरपूर होते हैं उन्हें रात में खाना विशेषकर हितकर होता है। रात में कार्ब्स तेज़ी से ग्लूकोस में बदलते हैं जो आसानी से उर्जा के रूप में उपलब्ध हो जाते हैं। दिन में यही ग्लूकोस वसा का रूप लेने लगते हैं।

 

इन मिथकों तथा इनसे जुड़े तथ्यों को जानकर आप यह बात समझ ही गये होंगे की किसी एक अनाज से आप रोगी नहीं बन सकते। स्वास्थ्य के लिए आपको किसी अनाज को अपनाने या छोड़ने की ज़रूरत नहीं, बस पूरक आहार लेने की तथा खाए गये कार्ब्स, वसा आदि के के सम्पूर्ण उपयोग करने वाली दिनचर्या अपनाने की ज़रूरत है ।