अनचाहे बालों से हमेशा के लिए छुटकारा पाएं एलेक्ट्रॉलीसिस से 

59
Image credits: Brynmor Beauty

एलेक्ट्रॉलीसिस शरीर के बालों को एक-एक कर निकालने का तरीका है। आधुनिक तरीकों के ज़रिये रसायनों या गर्मी की मदद से बालों के विकास क्षेत्र को खत्म कर दिया जाता है। इसके बाद बालों को निकाल दिया जाता है जिससे हमेशा के लिए इस जगह से बाल नहीं आते।

शरीर के ज्यादातर हिस्सों पर एलेक्ट्रॉलीसिस का उपयोग किया जा सकता है। इनमें भोहें, चेहरा, पेट, जांघ, स्तन और पैर शामिल हैं।

एलेक्ट्रॉलीसिस का कोई स्थाई दुष्प्रभाव नहीं है लेकिन आपको कुछ समय के लिए त्वचा के लाल होने जैसी समस्या हो सकती है।

अनचाहे बाल क्यों होते हैं?

बालों का विकास अनुवांशिक और हॉर्मोन के कारणों पर निर्भर करता है। साथ ही कुछ दवाएं, हेयर रिमूवल के तरीके और बीमारियाँ भी अनचाहे तरीके से बालों के विकास को बढ़ावा देती हैं।

कितने एलेक्ट्रॉलीसिस ट्रीटमेंट की ज़रूरत होगी?

बालों का विकास कई कारकों पर निर्भर करता है इसलिए हो सकता है की आपको एक से ज्यादा बार एलेक्ट्रॉलीसिस का उपचार लेना पड़े। कोशिश यही रहती है की शरीर के केन्द्रित क्षेत्र के बाल जब तक खत्म न हो जाए तब तक यह ट्रीटमेंट दिया जाता रहे। अक्सर लोग हर हफ्ते या हर दुसरे हफ्ते इस ट्रीटमेंट को दोबारा लेने पहुँचते हैं जिसमें पंद्रह मिनट से एक घंटे लग जाते हैं।

एलेक्ट्रॉलीसिस से जुड़े मिथक 

एलेक्ट्रॉलीसिस पीड़ादायक होती है– ज्यादातर लोगों के लिए यह प्रक्रिया पीड़ा नहीं देती। आपको इसमें उतना ही दर्द हो सकता है जितना वैक्सिंग या ऑयब्रो बनवाते हुए होता है। फिर भी अगर आपको असहजता लगे तो आप अपने चिकित्सक से कहकर लोकल अनेस्थिसिया ले सकते हैं।

परमानेंट हेयर रिमूवल के कई और विकल्प हैं-ज्यादातर चिकित्सा संस्थान सिर्फ एलेक्ट्रॉलीसिस को ही स्थाई हेयर रिमूवल का विकल्प मानते हैं तथा अन्य किसी उत्पाद को इस वादे के साथ बेचे जाने का विरोध करते हैं।

अस्थाई हेयर रिमूवल के तरीके बेहतर हैं- हेयर रिमूवल के लिए अक्सर लोग क्रीम या तरल प्रसाधनों का उपयोग करते हैं जो की रसायनों से युक्त रहते हैं और त्वचा को नुक्सान पहुंचाते हैं। ब्लीच भी बालों को छुपाने का प्रभावी तरीका नहीं है और त्वचा की रंगत बिगाड़ सकता है। वैक्सिंग महंगे और पीड़ादायक विकल्पों में मौजूद है तथा समय के साथ और पीड़ादायक होती जाती है।

एलेक्ट्रॉलीसिस के लिए केंद्र कैसे चुनें?

इलेक्ट्रोलोजिस्ट ऐसे विशेषज्ञों को कहा जाता है जो एलेक्ट्रॉलीसिस करवाने में दक्ष होते हैं। इन्हें सही तरह से चुना जाना ज़रूरी है ताकि आपकी त्वचा और जेब, दोनों पर ही नकरात्मक असर न हो-

पात्रता जानें: कई जगहों पर एलेक्ट्रॉलीसिस करने वालों को लाइसेंस दिया जाता है। इसके बारे में जानें और पात्रता के अनुसार ही विशेषज्ञ को चुनें।

आस-पास पूछें: अच्छी सेवा के बारे में जानने का सबसे अच्छा तरीका है दोस्तों और रिश्तेदारों से पूछना। अगर आप ऐसे किसी को जानते हैं जिसने एलेक्ट्रॉलीसिस करवाया है तो उनकी राय ज़रूर लें।

परामर्श लें: एलेक्ट्रॉलीसिस करवाने से पहले विशेषज्ञ से परामर्श लेने के लिए अपॉइंटमेंट लें। सुनिश्चित करें की आप इस दौरान सभी सवालों का जवाब ले लें जिसमें ट्रीटमेंट की अवधि, खर्चे, पात्रता और पूर्व क्लाइंट के बारे में जानकारी शामिल हो।

सही तरीका सुनिश्चित करें : नीडल (सुई) एलेक्ट्रॉलीसिस ही स्थाई हेयर रिमूवल का एक मात्र तरीका है। कई विशेषज्ञ एलेक्ट्रॉलीसिस के नाम पर अन्य तरीकों का उपयोग करते हैं जो आपको मनचाहे नतीजे नहीं दे पाते। सुनिश्चित करें की आपको नीडल एलेक्ट्रॉलीसिस ही दिया जा रहा है।

समझ का उपयोग करें: क्लिनिक को ध्यान से देखें। क्या स्टाफ अनुभवी नजर आ रहा है? क्या जगह और लोग साफ़ सफाई का ध्यान रख रहे हैं? क्या क्लिनिक सुविधाओं से लेस है? क्लिनिक के लोगों से मिलें और उनके तरीकों से अवगत रहिये। सहजता महसूस होने पर ही आगे बढ़ें।