पोटैशियम की कमी दूर करने के लिए खाएं ये आहार

173
Image Credits: Edison Institute of Nutrition

अगर आपकी भोजन शैली भी भारत के ज्यादातर लोगों की तरह है तो आपको आहार से भरपूर पोटैशियम नहीं मिल पाटा होगा। कैल्शियम और सोडियम की तरह ही पोटैशियम भी एक बेहद महत्वपूर्ण खनिज है जिसकी ज़रूरी मात्रा लेना आपको सेहतमंद रखने के लिए ज़रूरी है।

आइये जानें पोटैशियम को पर्याप्त मात्रा में लेने के लिए आप किन आहारों को ले सकते हैं-

केले, संतरे, खरबूजा, खुबानी, चकोतरा आदि में भरपूर पोटैशियम होता है। साथ ही किशमिश, खजूर आदि सूखे मेवों में भी भरपूर पोटैशियम पाया जाता है।

पकी पालक, ब्रोक्कोली, आलू, मीठे आलू, मशरुम, मटर, ककड़ी, तुरई, बैगन, कद्दू, हरी पत्तेदार सब्जियों से आप पर्याप्त पोटैशियम पा सकते हैं।

पोटैशियम से भरपूर फलों के जूस लेना भी अच्छा विकल्प है-

  • संतरा का रस
  • टमाटर का रस
  • बेर का रस
  • खुबानी का रस
  • खरबूजे का रस

दूध से बने पदार्थ, जैसे दही और पनीर, भी पोटैशियम का अच्छा स्रोत हैं। आप इनके लो फैट या फैट फ्री विकल्प चुन सकते हैं।

कुछ मछलियों में भी पोटैशियम पाया जाता है-

  • टूना
  • हलिबेट
  • कॉड
  • ट्राउट

रॉकफिश

नीचे दी गयी दालों में भरपूर पोटैशियम होता है-

  • लिमा
  • पिंटू
  • राजमा
  • सोयाबीन
  • सभी दालें

कुछ अन्य आहारों से भी आप पोटैशियम पा सकते हैं-

  • नमक के विकल्प
  • गुड़
  • मेवे
  • मीट
  • ब्राउन राइस
  • चोकर का आहार
  • मोटा अनाज

आपको कितने पोटैशियम की ज़रूरत है?

आपको रोजाना 4700 मिलीग्राम पोटैशियम की ज़रूरत है। अगर आपको किडनी का रोग है तो आपको इससे कम पोटैशियम लेना चाहिए। इस बारे में अपने चिकित्सक से चर्चा करने के बाद ही पोटैशियम युक्त आहार लें।

पोटैशियम की ज़रूरत क्यों है?

पोटैशियम संतुलित रक्तचाप के लिए बेहद ज़रूरी है। किडनी की मदद से पोटैशियम शरीर से अत्यधिक सोडियम को बहर कर देता है। साथ ही यह आपकी रक्त वाहिकाओं को आराम देता है जिससे ह्रदय रोग की सम्भावना कम हो जाती है।

आहार जिन्हें आप हानिकारक मानते हैं, पर देते हैं कई स्वास्थ्य लाभ

विभिन्न आहार में मिलावट को पहचानें इन तरीकों से