इन तरीकों से घटाएं मधुमेह की आशंका  

226
Image Credits: Daily Post

अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन, जिसे AHA भी कहा जाता है, नियमित रूप से स्वस्थ जीवनशैली के लिए दिशा निर्देश जारी करती है। इसी संस्था के द्वारा हाल ही में स्वस्थ ह्रदय के लिए ज़रूरी सात निर्देश निकाले गये। ओहायो यूनिवर्सिटी द्वारा करवाए गये एक शोध में पाया गया की अगर कोई वयस्क इनमें से सिर्फ 4 निर्देशों का पालन भी सही तरीके से करता है तो वह मधुमेह से बच सकता है। देखा गया की ऐसे लोगों में आने वाले 10 सालों में मधुमेह होने की आशंका 70 प्रतिशत तक कम हो गयी।

तो आइये, जानते हैं वो सात सरल सूत्र जो आपको मधुमेह से बचने में मदद कर सकते हैं-

अपने रक्तचाप को नियंत्रित रखें

रक्तचाप को उचित सीमाओं में रखने से आपके दिल पर दबाव कम बनता है। इससे दिल की मांसपेशियां तो स्वस्थ रहती ही हैं, साथ ही नसों को भी नुक्सान नहीं होता। आपकी किडनी व् शरीर के अन्य अंग भी स्वस्थ बने रहते हैं।

कोलेस्ट्रोल कम रखें 

कोलेस्ट्रोल के स्तर बढने से नसों में जमाव बनने लगता है जिससे ये अवरुद्ध हो जाती हैं। अगर ऐसा लम्बे समय समय तक बना रहे तो आपको दिल के रोग हो सकते हैं तथा दिल का दौरा भी पड़ सकता है।

रक्त में शक्कर की मात्रा कम रखें

समय के साथ रक्त में शक्कर की बढ़ी मात्रा मधुमेह का कारण बन सकती है। यह रोग आपके दिल, किडनी, आँखों और नसों को गम्भीर नुक्सान पहुंचा सकता है।

शारीरिक रूप से सक्रीय रहें 

पर्याप्त मात्रा में व्यायाम करने से शरीर का वजन संतुलित बना रहता है। यह दिल की मांसपेशियों को स्वस्थ रखने के लिए बेहद ज़रूरी है। साथ ही शरीर की अन्य मांसपेशियों को भी सुगठित रखकर आप लम्बा और निरोग जीवन जी सकते हैं।

स्वास्थ्यवर्धक आहार लें 

अपनी थाली में भरपूर फल, सब्जियों और मोटे अनाज को जगह दें। ऐसा पोषक भोजन करने से आपको ह्रदय रोग की आशंका कम रहेगी तथा मोटापे और मधुमेह से छुटकारा मिलेगा।

शरीर का वजन सामान्य बनाएं 

अगर आप मोटापे से परेशान हैं तो पहले इसी रोग पर ध्यान दें। शरीर से अत्यधिक वजन हटाने से आपके दिल पर पड़ रहे दबाव में कमी आएगी। साथ ही आपके फेफड़े और जोड़ अच्छी तरह काम कर पाएंगे। वजन कम करने से आपको रक्तचाप को नियंत्रित करने में भी मदद मिलेगी।

धुम्रपान छोड़ें 

धुम्रपान करने से न सिर्फ आपको दिल की बिमारी का खतरा रहता है, बल्कि यह आपको कैंसर होने की सम्भावना भी कई गुना बढ़ा देता है। यही वजह है की स्वस्थ जीवनशैली की ओर पहला कदम धुम्रपान छोडकर ही बढ़ाया जा सकता है।

यह भी पढ़ें – 

मधुमेह और अनुवांशिकता

यह 4 भारतीय मेवे मधुमेह रोगियों के लिए हैं बेहतरीन