मॉनसून में ट्रिप प्लान करने से पहले ध्यान रखें यह बातें

622
road-trips-during-monsoon
image credits: Travel Triangle

बारिश के मौसम में सफर करना आसान नहीं। हम सभी ठंड या गर्मियों में घूमना पसंद करते हैं पर बारिश में घर पर रहना ही सुविधाजनक लगता है। इसकी वजह बारिश में तेज़ी से फैलने वाली बीमारियां हैं जो पूरी ट्रिप का मज़ा किरकिरा कर सकती है। साथ ही अपने सफर की मंज़िल पर पहुँचने के बाद भी आप पूरा मज़ा नहीं ले पाते। लेकिन, बारिश के मौसम में अगर घूमने जाने से पहले कुछ ज़रूरी कदम उठाएं जाएं तो आप इन मुश्किलों से सिर्फ बच ही नहीं सकते बल्कि अपने सफर के दौरान इस मौसम की खूबसूरती को पूरी तरह अनुभव भी कर सकते हैं।

 

अपनी ट्रिप को यादगार बनाने के लिए निम्न बातों पर ध्यान दें-

 

मौसम की जानकारी

घर से निकलने से पहले अपने शहर तथा अपनी मंज़िल के मौसम का हाल ज़रूर पता कर लें। आप कई ऑनलाइन वेबसाइट तथा एप्प्स के ज़रिये आज ही नहीं बल्कि आने वाले कई दिनों के मौसम का अनुमान पता कर सकते हैं। सफर के दौरान भी इन वेदर अपडेट का पता करते रहें। प्लेन या ट्रैन से जा रहे हों तो यह जानकारी सफर में संभावित देरी भी बता सकती है।

 

अपनी मंज़िल से जुडी सभी जानकारी लें

आप जिस शहर में जा रहे हैं वहां की संस्कृति तथा माहौल के बारे में जानना आपको बहुत मदद कर सकता है। साथ ही सफर के दौरान की संभावनाओं पर भी नज़र रखें। अगर रोड से सफर कर रहे हैं तो तूफ़ान या मॉनसून की चाल पर ध्यान दें; कहीं यह आपके रास्ते से तो नहीं गुज़र रहे। अपने वाहन की सर्विसिंग कराकर ही सफर पर निकलें।

“एक से भले दो”, यह कहावत यहाँ भी लागू होती है। समूह में सफर करें ताकि किसी मुश्किल में फसने पर भी आप घबरा न जाएं। बहुत ज़रूरी होने पर ही तेज़ बारिश में बाहर निकलें। ट्रिप के लिए सुदुर इलाके बिल्कुल न चुनें।

 

कुछ ज़रूरी सामान अपने साथ ज़रूर रखें

बारिश में खुद को बचाने के लिए छाता, रेनकोट या अन्य सामग्री ज़रूर रखें। कपड़ों को पन्नी में रखने के बाद ही बैग में डालें। एक जोड़ी कपड़े बैग में ऊपर ज़रूर रखें ताकि भीग जाने पर कपड़े जल्दी बदले जा सकें। अपने वाहन के लिए ज़रूरी औज़ार, हिस्से तथा ऑइल आदि ज़रूर रखें। इस मौसम में रबर के जूते, टॉर्च, लिप बाम आदि की ज़रूर भी पड़ सकती है। फोन को पूरी तरह चार्ज कर लें और चार्जर तथा पॉवर बैंक साथ रखें। इसके अलावा मंज़िल के अनुसार ज़रूरी सामानों की एक सूचि बना लें जिससे कोई भी सामान छूटे नहीं।

 

आपातकालीन हेल्पलाइन नंबर

प्रशासन द्वारा जारी सभी ज़रूरी आपातकालीन हेल्पलाइन नंबर अपने फोन में सेव करें और कुछ याद कर लें। साथ ही अपने दोस्तों या रिश्तेदारों का नंबर अपने पास रखें। हो सके तो जहाँ जा रहे हैं वहां किसी भी जान-पहचान वाले का नंबर अपने पास रखें। मंज़िल पर पहुँचकर कुछ लोगों से जान-पहचान बढ़ाएं तथा ज़रूरत पड़ने पर मदद मांगने से हिचके नहीं।

 

अपने खाने पर ध्यान दें

इस मौसम में पाचन क्रिया कमज़ोर हो जाती है। ऐसे में सफर करना और बाहर का खाना खाना मुश्किलें और बढ़ा सकता है। इसलिए तैलीय या मसाले वाले भोजन से परहेज़ करें। गलियों में मिलने वाला फ़ास्ट फ़ूड बिलकुल भी न खाएं।  साफ-सफाई सुनिश्चित कर ही खाना खाएं। सब्ज़ी-फल खाने से रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ेगी। चने, छोले, राजमा आदि गैस कारक चीज़े खाने की जगह दलिया, जौ, ब्राउन राइस जैसे ठंडा करने वाले अनाज खाएं। दूध से बनी चीज़े और बासी खाने से दूर रहें। साफ़, बोतलबंद पानी ही पिएं।

 

सड़क पर सावधानी बरतें

बारिश में सड़क पर दूर तक देखना मुश्किल हो जाता है। सफर के दौरान कुछ सावधानियां बरतनी ज़रूरी है। अपनी गाडी की जानकारी पुस्तिका/मार्गदर्शिका अपने साथ ज़रूर रखें। साथ ही आपातकाल में उपयोग की जाने वाली बत्ती या पटाखे अपने साथ रखें। वाइपर ब्लेड, कांच साफ़ करने का सामान आदि की ज़रूरत भी पड़ सकती है। सड़क पर रेडियो तथा फोन जैसी ध्यान भटकाने वाली चीज़ें दूर रखें। शराब पीकर गाड़ी कभी न चलाएं। यातायात नियमों का पालन करें, सुचना-पट्टियों पर ध्यान देते रहें तथा बारिश में वाहन धीमे चलाएं।

इन बातों का ध्यान रखते ही आप निश्चिंतता से सफर पर निकल सकते हैं। आपकी यात्रा मंगलमय हो !!