यदि आप भी खाते हैं ज्यादा केले तो हो सकते हैं यह दुष्प्रभाव

235
raw_banana-1
image credits: FreshClick

स्वाद, पोषण और सहजता, इन तीनों ही मामलों में केले का जवाब नहीं। ये सेहतवर्धक नाश्ता भी है जिसे आप कॉर्न फलैक्स, दही, केक, ब्रेड, शेक, मिठाई आदि में मिलाकर खा सकते हैं। इस बहुगुणी फल के सेवन से आप उर्जापूर्ण रहते हैं, पतले होते हैं, पेट के फूलने की समस्या कम कर पाते हैं, अपच से बचते हैं तथा पथरी की समस्या से बचाव करते हैं। यही वजह है की केला हममें से ज्यादातर लोगों का पसंदीदा फल है।

 

पर अगर केला आपके आहार का बड़ा हिस्सा बन चूका है, तो आपको इसके अत्यधिक सेवन से होने वाले नुकसान को भी जान लेना चाहिए-

 

अपच 

कच्चे केलों से आपको अपच की समस्या हो सकती है। इसकी वजह इनमें मौजूद स्टार्च है जो शरीर में आसानी से पचता नहीं है। साथ ही केलों में बहुत सारे फाइबर होते हैं जो आपकी आँतों से पानी को सोख लेते हैं। इस वजह से भी आपको अपच की समस्या हो सकती है।

 

पोषण का असंतुलन 

हमारे शरीर को सभी क्रियाओं को सही तरह से सम्पन्न करने के लिए संतुलित आहार की ज़रूरत होती है। अगर आप फल के नाम पर अक्सर केले ही खाते हैं या दिन में कई बार केले का सेवन करते हैं तो अन्य पोषक आहारों से आप वंचित रह जाते हैं। हर व्यक्ति को दिन में दो कटोरे फल खाने की सलाह दी जाती है जो की दरअसल एक बड़े केले जितनी ही मात्रा है। ऐसे में अन्य फलों, सब्जियों और अनाज के लिए आपकी थाली में जगह नहीं रह जाती।

क्या केला खाना सही है जिम वर्कआउट्स के बाद, कौन से फल है ज्यादा फायदेमंद

अत्यधिक फाइबर से पाचन तन्त्र में समस्याएँ पैदा होती हैं 

खाने में सीमित मात्रा में फाइबर लेने से आपकी पाचन क्रिया बेहतर होती है। पर अगर फाइबर को बहुत ज्यादा लिया जाए, तो इससे पेट में मरोड़ उठाना, गैस होना तथा पेट फूलना जैसी समस्याएँ हो सकती हैं। इतना ही नहीं, ये रेशे कैल्शियम और आयरन के अवशोषण को बाधित कर सकते हैं।

 

वजन बढना 

केले कैलोरी से भरपूर होते हैं। सिर्फ दो केलों से ही आपको 300 कैलोरीज तक मिल जाती है। इसलिए दिन में एक या दो केले खाने पर ही आपको बाकी आहार से मिलने वाली कैलोरी पर ध्यान देना शुरू करना होगा। यह सावधानी न बरतने से आप कुछ ही दिनों में अपना वजन बढ़ता हुआ महसूस करेंगे।

कैसे केले का रोजाना सेवन आपकी शादी-शुदा ज़िन्दगी में भर देगा एक नयापन

नींद आना 

केलों में कई ऐसे एमिनो अम्ल होते हैं जो आपकी नींद को बेहतर करते हैं। इसमें मौजूद कार्ब्स और मैग्नीशियम समेत अन्य तत्व भी मांसपेशियों को आराम देकर आपको नींद महसूस करवाते हैं। यह अनिद्रा के रोगियों के प्रभावी उपचार है पर अगर आप काम के बीच केलों का सेवन करते हैं तो आपके ध्यान पर असर पड़ सकता है।

 

दंत रोग 

केले में शक्कर की मात्रा भी भरपूर होती है जो आपके दांतों को नुकसान पहुंचा सकती है। अगर आप केले बहुत ज्यादा खाते हैं आपके दांतों में सडन भी पैदा हो सकती है। सामान्यतः केले से आपके मुँह में बैक्टीरिया की तादाद बढ़ जाती है इसलिए इसे खाने के तुरंत बाद साफ़ पानी से कुल्ला ज़रूर करें।

 

वसा की कम मात्रा 

केलों में वसा की मात्रा शून्य होती है जो इसे डाइट का आदर्श हिस्सा बनाती है। लेकिन दिनभर में बिल्कुल वसा न लेना आपके स्वास्थ्य और मानसिक विकास पर असर डाल सकता है। इसलिए ज़रूरी है की आप केलों के साथ वसा युक्त भोजन का भी सेवन करें।