अगर ये लक्षण दिखे तो डेंटिस्ट से ज़रूर मिलें

363
when-to-see-dentist
image credits: www.hannonandsandlerdentistry.com

डेंटिस्ट से साल में 1-2 बार चेकअप करवाते रहना दांतों को स्वस्थ रखने के लिए ज़रूरी है। (when to see a dentist for gum pain, toothache) लेकिन ज्यादातर लोग ऐसा करना तो दूर, दांतों के अस्वस्थ होने के लक्षणों से भी अनजान रह जाते हैं। दांतों की सेहत पर करीब से नजर रखना तथा इनकी सफाई करना इन्हें स्वस्थ रखने का मूलमंत्र है। इसलिए अगर आप नीचे दिए किसी भी लक्षण को महसूस कर रहे हैं, तो जल्द ही डेंटिस्ट के पास पहुंचें-

 

दांत में दर्द 

दांत दर्द को नज़रंदाज़ करना न ही सरल है न ही समझदारी। जब आपको दांत में दर्द उठता है तो आप तरह-तरह के उपाय करते हैं ताकि इसे रोका जा सके। अगर दांत में दर्द है तो इसके पीछे कोई न कोई गंभीर कारण हो सकता है इसलिए अगर यह 1-2 दिन तक बना रहे तो ज़रूर डेंटिस्ट से ज़रूर परामर्श लें।

 

सूजे मसूड़े 

अगर आपके मसूड़े सूजे हुए तो हैं तो भी डेंटिस्ट को दिखाना ज़रूरी है। मसूड़ों में सुजन दांत के किनारों पर प्लाक के जम जाने पर हो सकती है तथा जिंजिवाइटिस या पेरिओडोंटाईटिस का संकेत हो सकती है जिसमें दांत गिर भी सकते हैं। मसूड़ों में सुजन की कुछ साधारण वजहें भी होती हैं लेकिन डेंटिस्ट से चर्चा कर आप सही कदम उठा सकते हैं।

 

दांतों पर सफ़ेद धब्बे

दांतों पर सफ़ेद धब्बे सडन का पहला संकेत हो सकते हैं। दांतों की सडन दरअसल एक तरह का संक्रमण होता है जिसमें बैक्टीरिया एसिड बनाकर दांत को घोलने लगता है। इसके अलावा दांत की सडन बिना किसी लक्षण के भी आ सकती है इसलिए डेंटिस्ट से नियमित जांच करवाना बेहद ज़रूरी है।

 

दांतों में झनझनाहट 

अगर आप ठंडा या गर्म खाने पर दांतों में झनझनाहट महसूस कर रहे हैं तो यह भी दांतों के सडन का संकेत हो सकता है। दांत जब सड़ना शुरू होता है तो पहली इसकी पहली परत हटती है, फिर धीरे-धीरे कर सडन नसों तक पहुँचने लगती है। सडन के इसी आखरी पड़ाव में आप गर्म और ठंडे की ओर बढ़ी सम्वेदनशीलता महसूस करते हैं। जितनी जल्दी आप इस समस्या का उपचार करेंगे, इसके गंभीर हो जाने की संभावना उतनी ही कम होगी।

 

मुँह के रंग में बदलाव 

रोजाना सुबह ब्रश करते हुए अपने मुँह के अंदर एक नज़र ज़रूर डालें। अपने गाल के अंदरूनी हिस्से, जीभ के उपरी और निचले हिस्से तथा होठों के आस-पास की त्वचा को देखें। जाने की क्या सामान्य है तथा मुँह की त्वचा में किस तरह के बदलाव आ रहे हैं। अगर कुछ असामान्य लगे तो डेंटिस्ट से पूछने में हिचकिचाएं नहीं।

 

छाले 

छाले कई वजहों से हो सकते हैं लेकिन कुछ लोगों में ये ज्यादा आम होते हैं। अगर आपके छाले कुछ ही दिनों में नहीं जाते तो यह चिंता का विषय हो सकते हैं। इसी तरह अगर इनमें दर्द रहता है, खून निकलता है या इनके आस-पास बुखार रहता है तो डेंटिस्ट द्वारा इनकी जांच ज़रूर करवाएं। अहर छालों की समस्या बार-बार हो रही है तो भी चिकित्सक से इस बारे में चर्चा करें।

 

मुँह सूखना 

भरपूर पानी पीते रहने के बाद भी मुँह में सूखा महसूस होते रहने के कई कारण होते हैं। यह बढती उम्र के कारण हो सकता है पर यह कई तरह की दवाओं का दुष्प्रभाव भी होता है। पर अगर आपको अचानक मुँह में सूखा महसूस होने लगे तो डेंटिस्ट से इस बारे में चर्चा करना ज़रूरी है। यह आपके मुँह में बैक्टीरिया के अचानक बदलाव के कारण हो सकता है तथा किसी बीमारी की सुचना दे सकता है।