कडवे बादाम: दवा या ज़हर?

155
Image Credits: Inside Science

बादाम को अनगिनत फायदों वाला स्वादिष्ट मेवा माना जाता है। ये मीठे भी हो सकते हैं और कडवे भी। मीठे बादाम जहाँ बहुयोगी माने जाते हैं वहीँ कडवे बादाम को बिलकुल न खाने की सलाह दी जाती है। इनमें घातक रसायन होते हैं जो हमारे स्नायु तन्त्र को धीमा कर देते हैं तथा ज़हरीले माने जाते हैं। फिर भी देश के कई हिस्सों में इन बादामों का तेल बनाकर बेचा जाता है। आइये जानते हैं इस तेल के गुणों के बारे में-

कडवे बादाम के तेल से क्या हानि है?

अब तक कोई भी शोध पूरी तरह से यह नहीं जान पाया है की कडवे तेल का उपयोग रोगों के उपर कैसा असर डालता है। कडवे बादाम में HCN नामक हानिकारक अम्लीय विष होता है जिसके कई गंभीर दुष्प्रभाव हो सकते हैं।

उपाय 

कडवे बादाम के तेल के किसी भी उपाय की वैद्यता को वैज्ञानिक रूप से सिद्ध नहीं किया गया है। फिर भी इस तेल से निम्न समस्याओं के समाधान का दावा किया जाता है-

  • जकडन
  • दर्द
  • कफ
  • खुजली
  • अन्य समस्याएँ

दुष्प्रभाव व् सावधानी 

कडवे बादाम के तेल को बिलकुल भी न खाने की सलाह दी जाती है। इसका सेवन आपको कई परेशानियाँ दे सकता है जिनमें धीमा स्नायु तन्त्र, साँस लेने में परेशानी व् मृत्यु शामिल है।

सामान्य रूप से हानिकारक होने के बाद भी यह कुछ और लोगो के लिए विशेष रूप से घातक हो सकती है। गर्भावस्था में तथा शिशु को स्तनपान करवाने वाली माँ को कभी भी इसे नहीं लेना चाहिए। साथ ही अगर आपका ऑपरेशन होना है जिसमें आपको अनेस्थासिया की ज़रूरत होगी, तो भी आपको इस तेल का उपयोग दो हफ्ते पहले ही बंद कर देना चाहिए।

अन्य दवाओं से प्रतिक्रिया 

अगर आप दर्द निवारक दवा, तनाव निवारक दवा व् नींद की दवा लेते हैं तो इस तेल का उपयोग किसी भी रूप से न करें। कडवे बादाम के सेवन से नींद आती है तथा अन्य दवाओं के साथ इसका सेवन आपको अवांछित नतीजे दे सकता है।