3 दिलचस्प प्राचीन नुस्खे जिनके लाभ से आप अब तक अनजान थे

730
Image Credits: matador network

हाल के सालों में स्वस्थ जीवनशैली लोगों का ध्यान खींच रही है। विभिन्न बीमारियों और व्यस्त जीवनशैली के बीच हम विज्ञानं और शोध से मदद की चाह रख रहे हैं। पर इस बीच भारत में सालों से प्रचलित तरीकों को कई बार नज़रअंदाज़ कर दिया जाता है। आप यह गलती न करें, इन अनूठे नुस्खों से सीख लें और लाभ पाएं-

सूखी गिलकी से शरीर साफ़ करना-

नहाने के समय त्वचा की सफाई सूखी हुई गिल्की से करना आम हुआ करता था। इनकी जगह कई घरों में प्लास्टिक से बने लूफा ने ले ली है जो की इतने प्रभावी नहीं है। शरीर को गिल्की के फाइबर से साफ़ करने से त्वचा से मृत कोशिकाएं हटती हैं, रक्त प्रवाह बेहतर होता है, मांसपेशियां तनाव रहित होती हैं तथा त्वचा दमकने लगती है।

आप किसी महंगे नेचुरोपैथी सेण्टर में सॉना बाथ लेंगे तो भी आपको यही स्क्रब ट्रीटमेंट मिलेगा। इसे घर पर आज़माएँ और अपनी त्वचा में फर्क देखें।

हॉट पॉट

गरम और ठंडे पानी से क्रमवार तरिके से नहाना मेटाबलिज्म बेहतर करने में, रोग प्रतिरोधक क्षमता बढाने में तथा आपको सुगठित बनाने में मदद करता हैं । यह तरीका अपनाना आपको तनाव से मुक्त कर गहरी नींद भी देता हैं ।

सिसु

फीनलैंड दुनिया का सबसे खुश देश माना जाता हैं । यहाँ सिसु क्रिया प्रचलित हैं जिसकी मदद से हिम्मत, लगन और निष्ठा बढाई जाति हैं । ऐसी ही एक प्रक्रिया हैं तेज ठण्ड में बर्फिले पानी में डूबकी लगाना । इस देश के लोगो की माने तो यह क्रिया पुरे दिनभर ऊर्जा देती हैं ।