ए.सी. किस तरह सिर्फ वातावरण को ही नहीं अपितु शरीर को भी गंभीर क्षति पहुंचा रहे हैं

10806
Air_conditioners_health-hazards
image credits: wikipedia.org

कई सालों से दिन-प्रतिदिन बढ रही गर्मी की वजह से आजकल एयर कंडीशनर घरों में आम बात हो गई है। अधिकतर लोगों की जीवनशैली मे एयर कंडीशनर (Air Conditioners) का इतना प्रभाव हो गया है कि घर में, दफ्तर में, कार में हर जगह उसी की हवा में रहने लगें हैं।

लेकिन क्या आपने ए.सी. लगवाने से पहले यह सोचा है कि यह वातावरण में हाइड्रो-क्लोरो-फ्लोरो-कार्बन (HCFCs) छोड़ने के अलावा आपके शरीर को कितना नुकसान पहुंचाएगा। यह HCFCs ही ओजोन लेयर की डिप्लीशन का कारण बनते हैं और सीधे तौर पर ग्लोबल वार्मिंग को बढ़ाने में योगदान कर रहे हैं।

जब बात वातावरण की आती है तो इसका दुष्प्रभाव आपको सीधी तौर पर तो नहीं दिखता और आप इस बात को नजरांदाज कर देते हैं। कभी आप दो मिनट ए.सी. के बाहर की तरफ खड़े होकर देखिए तब समझ आएगा कि यह वातावरण को कितना दूषित कर रहा है। यह बात तो पूरी दुनिया के विशेषज्ञ मानने लगे हैं कि भारत के तटवर्ती इलाकों में स्थित शहर जैसे मुंबई, चैन्नई, पुरी, कोलकाता जैसे शहरों में ग्लोबल-वार्मिंग की वजह से समुद्री-स्तर में बढ़ोतरी हो रही है और आने वाले कुछ वर्षों में लगभग 4 करोड़ लोग अपना घर गवा बैठेंगे।

यह भी पढ़ें – किस तरह मटके का पानी फ्रिज के पानी से है बेहतर

एयर कंडीशनर का उपयोग करना आजकल एक आम सी बात हो गई है तथा इस गर्मी भरे वातावरण में एयर कंडीशनर का होना एक रोजमर्रा की जरूरत माना जा रहा है। लोगों को एयर कंडीशनर की इतनी लत लग चुकी है, कि हफ्ता भर तो वे दफ्तर में एयर कंडीशनर के माहौल में अपना समय बिताते हैं, पर छुट्टी के दिन अथवा रविवार को भी दिनभर घर पर एयर कंडीशनर चलाकर अपना दिन व्यतीत करते हैं।

कडकती हुई तेज धूप में से ठंडी ठंडी एयर कंडीशनर वाले कमरे में जाना यूँ तो बहुत ही आराम दायक लगता है, लेकिन लंबे समय तक एयर कंडीशनर का इस्तेमाल करना हमारे स्वास्थ्य के लिए हानिकारक भी साबित हो सकता है। आइये अब हम बात करते हैं की एयर कंडीशनर की हवा में रहने से हम किस प्रकार अपने शरीर को नुकसान पहुंचा रहें हैं।

1) अधिक थकान महसूस करना – एयर कंडीशनर का अत्याधिक उपयोग करने से आपको अधिक शारीरिक थकान का एहसास होने लगता है। जो लोग सारा समय एयर कंडीशनर में काम करते है, उन्हें हमेशा अपने शरीर में तकलीफदेह तथा जलन भरे बलगम की समस्या का सामना करना पडता है। उन्हें अक्सर सांस संबंधी भी परेशानियाँ होने लगती हैं जिसकी वजह से उन्हें सदैव सर्दी, जुकाम, तथा फ्लू जैसी बीमारियों के चपेट में आने की संभावना बनी रहती है।

यह भी पढ़ें – कुछ टिप्स जिन्हें अपनाकर आप रख सकते हैं तेज गर्मी में भी अपनी त्वचा का ख्याल

2) त्वचा का खुष्क होना – एयर कंडीशनर के वातावरण में अधिक समय बिताने से हमारी त्वचा को पर्याप्त मात्रा में नमी प्रदान नहीं होती। एयर कंडीशनर कमरे से सारी नमी खींच कर हवा को खुष्क कर देता है, जिसकी वजह से हमारी त्वचा रूखी तथा खुष्क होने लगती है। जब त्वचा खुष्क तथा खिंची हुई होने लगती है, तो उसमें खुजली होने लगती है।

3) बीमारियों में वृद्धि होना, शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता का कम होना – एयर कंडीशनर की वजह से हमारे शरीर में पाई जाने वाली बीमारियों के प्रभावों में वृद्धि होने का खतरा बढने लगता है। एयर कंडीशनर के इस्तेमाल के कारण विभिन्न प्रकार की बीमारियों जैसे रक्तचाप, जोडों का दर्द के लक्षणों को बढावा मिलने लगता है।

4) थोड़ी गर्मी को बर्दाशत न कर पाना – जो लोग ज्यादातर एयर कंडीशनर के वातावरण में रहते हैं उनमें बाहर की उष्णता को बर्दाश्त करने की क्षमता काफी हद तक कम हो जाती है जिसका आपके शारीरिक प्रतिरक्षा पर एक नकारात्मक प्रभाव पडने लगता है।

यह भी पढ़ें – इस 50 डिग्री वाली गर्मी से टक्कर लेने के लिए करें खुद को तैयार

5) शरीर का सुस्त पड़ना – अधिक समय तक एयर कंडीशनर में रहने की वजह से आप बहुत आरामदायक महसूस करते हैं। लेकिन इसके कारण आपका शरीर सुस्त होने लगता है तथा आपमें एक प्रकार का आलसीपन निर्माण होने लगता है। आपका मन कहीं भी बाहर जाने को नहीं करता। एयर कंडीशनर की आदत पड़ने के बाद आप पहले की तरह बिना एयर कंडीशनर वाली जगह पर काम नही कर पाते।

6) श्वास-संबंधी बीमारियों के संक्रमण के फैलने का खतरा – एयर कंडीशनर की हवा के परिसंचरण के कारण विभिन्न प्रकार की श्वास-संबंधी संक्रामक बीमारियों के होने की संभावना हमेशा बनी रहती है।

7) शरीर पर अधिक तनाव पड़ना – अक्सर लोग अपने एयर कंडीशनर ऑफिस या एयर कंडीशनर कार में से बाहर तेज धूप में जाते है, तथा तेज धूप में से अपने एयर कंडीशनर ऑफिस या एयर कंडीशनर कार में जाते है। इस तरह एक अतिशय ठंडे तथा गरम वातावरण में आने जाने के कारण आपका शरीर अधिक तनावयुक्त होने लगता है।

यह भी पढ़ें – इस गर्मी गैस वाली कोलड्रिंक्स का सहारा छोड़, अपनाइए गन्ने का रस