कहीं आपकी उदासी की वजह आपके घर की खराब हवा तो नहीं?

68
Image Credits: Healthline

कई दशकों से जीडीपी को ही एक देश की तरक्की का सही माप समझा जाता रहा है। पर अब यह स्पष्ट हो चूका है की आर्थिक दृष्टि से विकास किसी की ख़ुशी की वजह नहीं होता है।

देखा जाता है की अक्सर किसी देश के अमीर हो जाने पर उसके क्षेत्र में आने वाले हरित क्षेत्र और प्राकृतिक प्रसाधन खतरे में आ जाते हैं। उसी प्रकार अक्सर एक व्यक्ति की आमदनी बढने पर वह सीमाओं में बंधने लगता है तथा प्रसाधनों का उपयोग बढ़ा देता है। इसी के साथ पार्क, प्राकृतिक सोते आदि के पास जाने से होने वाले शारीरिक और मानसिक लाभ भी खत्म हो जाते हैं। हवा दूषित रहने लगती है और लोग अपने व्यक्तिगत जीवन में सिमटने लगते हैं। विश्व स्वास्थ्य संस्था ने इसे शिशुओं की मृत्यु तथा श्वास के रोग से जोडकर देखा और पाया की वायु के प्रदुषण से हर साल 70 लाख मृत्यु होती है।

वैज्ञानिक लगातार खराब हवा के प्रभावों को समझने का प्रयास कर रहे हैं। ऐसा ही एक प्रयास हाल ही चाइना में हुआ जहाँ विशेषज्ञों ने कुछ सीना वेइबो (चाइना में ट्विटर का विकल्प) अकाउंट को चिन्हित किया तथा इनके मालिकों के शहरों में हवा की गुणवत्ता व् पोस्ट करते हुए उनके मूड के बीच सम्बन्ध को समझने की कोशिश की। पाया गया की जिन शहरों में हवा की गुणवत्ता खराब थी वहा से संचालित हो रहे अकाउंट में खराब मूड को दर्शाते हुए पोस्ट ज्यादा मात्रा में भेजे जा रहे थे।

अपने जीवन को बेहतर बनाने में खुश रहने का महत्वपूर्ण स्थान है। हवा को साफ़ रखना जहाँ एक सामाजिक नियम के तहत होना चाहिए, वहीं आप भी अपनी कोशिशें से अपने आस पास की हवा साफ़ रख सकते हैं। कैसे?!

आइये जानते हैं-

  • घर के कमरों को हवादार रखें तथा दिन के कुछ घंटे एसी को बंद कर सभी खिड़की दरवाज़े खोल दें।
  • अपने एसी को समय समय पर साफ़ करते रहें तथा इसकी सर्विसिंग भी करवाएं।
  • अपने घर की चादरें, पर्दे और कपड़े साफ़ रखें तथा इनमें धुल कभी न जमने दें।
  • बीसवेक्स मोमबत्ती का उपयोग कर घर की हवा को साफ़ रखें।
  • एक्टिवेटिड चारकोल की मदद से भी हवा की जा सकती है।
  • घर में मनी प्लांट और साइलेंट लिली जैसे पौधे लगाएं तथा इनके गमलों की साफ़ सफाई करते रहें।
  • अपने घर के रेनोवेशन को ज्यादा प्राकृतिक रखने की कोशिश करें तथा पेंट को सावधानी से चुनें।
  • सफाई के लिए एको फ्रेंडली प्रोडक्ट्स का उपयोग करें।