जौं व जौं का पानी – दोनों के ही हैं गुण अनमोल

6277
barley-grain-water-benefits
image credits: wisegeek.org

जौ में विभिन्न प्रकार के आवश्यक तथा महत्वपूर्ण खनिज तत्व पाए जाते है। (jau ke aate, jau ke paani ke fayde in hindi) जौ में विटामिन की अत्याधिक मात्रा पाई जाती है। जौ का प्रयोग मुख्य रूप से ब्रेड, भिन्न प्रकार के पेय पदार्थ तथा विभिन्न सांस्कृतिक व्यंजनों को बनाने में किया जाता है। जौ का इस्तेमाल विभिन्न प्रकार की औषधियों के निर्माण में भी किया जाता है। यूँ तो जौ का घर घर में पाया जाना एक बहुत ही साधारण सी बात हो सकती है, लेकिन इस खनिजतत्वों से भरपूर अनाज में विभिन्न प्रकार के स्वास्थ्य तथा सौंदर्य संबंधित भी गुण पाये जाते है।

न केवल जौ बल्कि इसका पानी भी हमारे लिए बहुत ही फायदेमंद साबित होता है। नियमित रूप से जौ का पानी पीने से शरीर में होने वाली विभिन्न समस्याएँ दूर होने लगती है तथा हमारे शरीर को पोषण प्राप्त होता है। यूँ तो बाजार में जौ का पानी दुकानों पर बडी आसानी से उपलब्ध होता है, पर घर पर बनाया हुआ जौ का पानी शरीर के लिए अधिक उपयुक्त माना जाता है। इस पानी को जौ को उबालकर तथा छानकर तैयार किया जाता है जिसके कारण उस में रेशों तथा पोषक तत्वों की अधिकतम मात्रा पाई जाती है और इससे हमारे शारीरिक विकास होता है।

तो आइये हम इस चमत्कारिक अनाज जौ में पाए जाने वाले विभिन्न स्वास्थ्य वर्धक गुणों की ओर देखें।

1) अन्य अनाजों की अपेक्षा जौ में विभिन्न प्रकार के महत्वपूर्ण विटामिन तथा खनिज तत्वों की मात्रा अधिकतम पाई जाती है। जौ में फाइबर, सेलेनियम, बी विटामिन्स, कॉपर, क्रोमियम, फॉस्फोरस, मैग्नेशियम, नियासिन जैसे पोषक तत्व भी पर्याप्त मात्रा में पाए जाते हैं। जौ के नियमित सेवन से हमारे शरीर को इन पोषक तत्वों का प्रदान होता है। जिससे हमारा शरीर स्वास्थ्य रहता है।

2) जौ को नियमित रूप से खाने से हमारे शारीरिक वजन को कम करने में सहायता प्राप्त होती है। जौ में भिन्न प्रकार के आवश्यक एमीनो एसिड तथा रेशों की मात्रा पाई जाती है। जौ हमारे ब्लडशुगर के स्तर में होन वाले उतार चढाव को नियंत्रण में रखता है। जौ में कैलोरी की मात्रा काफी कम पाई जाती है। जौ को खाने से लंबे समय तक भूख नहीं लगती तथा बार बार खाना या कुछ और खाने की आवश्यकता नहीं पडती।

3) जौ के नियमित सेवन से शरीर में पाई जाने वाली उच्च रक्तचाप की मात्रा को कम होने में काफी सहायता प्राप्त होती है।

4) जौ को खाने से हमें हमारे शरीर में कैंसर तथा हृदय संबंधित बीमारियों को होने से रोकथाम होती है। जौ में लिगनन्स प्लान्ट की पर्याप्त मात्रा पाई जाती है। जो हमारे शरीर को स्तन कैंसर तथा अन्य प्रकार के कैंसर को होने से सुरक्षा प्रदान करता है। जौ को नियमित रूप से खाने से हमारा हृदय भी स्वस्थ रहता है।

5) जौ में कॉपर की पर्याप्त मात्रा पाई जाती है जिससे शरीर में होने वाले जोडों के दर्द के लक्षणों को कम होने में काफी सहायता प्राप्त होती है। जौ में शरीर के लिए आवश्यक तत्व कॉपर पाए जाने की वजह से हडिड्यों का भी स्वास्थ्य बना रहता है, तथा जोडों में लचीलापन आने लगता है।

6) जौ हमारी त्वचा का स्वास्थ्य सौंदर्य बनाने के लिए बहुत ही उपयोगी माना जाता है। जौ में विटामिन सी, एंटीऑक्सीडेंट तथा खनिजतत्वों की भरपूर मात्रा में पाए जाने के कारण यह हमारी त्वचा को प्रदूषित होने से बचाती है। जौ में सेलेनियम पाया जाता है जो हमारी त्वचा में लचीलापन बनाए रखता है, तथा त्वचा में किसी भी प्रकार की क्षति को होने की संभावना से बचाता है।

7) शरीर में पोषक तत्वों की कमी की या फिर लंबे समय तक चलने वाली बीमारी का हमारे बालों पर दुष्प्रभाव पड़ सकता है जिसकी वजह से बालों संबंधित समस्याएँ जैसे बालों का गिरना, झडना, बालों का समय से पहले सफेद होना, रूसी का होना इत्यादि होने लगती हैं। जौ में आवश्यक तथा महत्वपूर्ण पोषक तत्व, प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेटस, विटामिन्स तथा एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं, जो बालों के स्वास्थ्य को बनाए रखने में काफी सहायक हैं।

8) जौ में आयरन पाए जाने की वजह से शरीर में रक्त की वृद्धि होती है जिससे शारीरिक थकान तथा कमजोरी भी दूर होने लगती है।

9) जौ की वजह से हमारे शरीर में पाए जाने वाले कोलेस्ट्रॉल की मात्रा कम होने में मदद मिलती है जिसकी वजह से हमारे शरीर में विभिन्न प्रकार की खतरनाक बीमारियों (जैसे हृदय रोग, दिल का दौरा पडना, हार्ट फेल हो जाना ) को होने की संभावना काफी कम होने लगती है।

तो यह हैं, जौ से होने वाले शारीरिक स्वास्थ्य लाभ आइये देखें कि जौ का पानी पीने से हमें किस प्रकार फायदा हो सकता है।

1) जौ के पानी को नियमित रूप से पीने से शरीर में मौजूद विषैले रासायनिक पदार्थों को मल के द्वारा बाहर निकालने में काफी सहायता प्राप्त होती है।

2) जौ के पानी की तासीर काफी ठंडी होती है। इसे गर्मियों के मौसम में पीना काफी लाभदायक माना जाता है। यह हमारे शारीरिक गर्मी को कम करके शरीर को शीतलता प्रदान करता है।

3) किडनी में पाई जाने वाली पथरी के दूर करने के लिए जौ के पानी का सेवन सर्वोत्तम माना जाता है। यदि नियमित रूप से प्रतिदिन एक गिलास जौ के पानी का सेवन किया जाए तो, किडनी में से पथरी को निकल जाती है। जौ के पानी से किडनी का स्वास्थ्य भी बना रहता है।