प्राणायाम करने से आप पा सकते हैं ये 7 लाभ

269
Image Credits: lifealth

अच्छे स्वास्थ्य के लिए योग में व्यायाम को जितना महत्वपूर्ण माना जाता है उतना ही महत्व प्राणायाम भी दिया जाता है। आप गौर करेंगे तो पाएंगे की किसी भी और व्यायाम शैली में साँसों के प्रवाह को साधने पर इतना जोर नहीं दिया गया। क्यों प्राणायाम एक अच्छी जीवनशैली का अभिन्न अंग माना जाता है? आइये, वैज्ञानिक कारणों को जानें-

रक्त प्रवाह बेहतर करे

शरीर की हर कोशिका तक उर्जा पहुंचाने का काम रक्त का होता है। जब आप प्राणायाम करते हैं तो रक्त प्रवाह तेज़ होता है, शरीर के अंदर जाने वाली ऑक्सीजन की मात्रा बढती है तथा हर कोशिका बेहतर रूप से काम करने लगती है।

ह्रदय रोग से बचाए

ह्रदय रोग भारत और दुनिया में एक बड़ी समस्या बन चुके हैं। प्राणायाम करने से आपके शरीर में रक्त प्रवाह तेज़ होता है जिससे नसों में प्लाक जमने की सम्भावना कम हो जाती है। साथ ही प्राणायाम से तनाव कम होता है और आपका दिल बेहतर रूप से काम कर पाता है।

शरीर और मन को शांत करे

प्राणायाम के ज़रिये साँसों की अनियमितता खत्म होती है और आपका शरीर भरपूर मात्रा में ऑक्सीजन पाता है। इन दोनों ही प्रभावों से आपके शरीर और मन को शान्ति मिलती है और आप आनन्द का अनुभव करते हैं।

आपका ध्यान बेहतर करे

प्राणायाम के अभ्यास का एक महत्वपूर्ण अंग है साँसों पर ध्यान लगाकर इसके प्रवाह को नियंत्रित करना। रोजाना इस तरह का अभ्यास आपके मन को ध्यान लगाना सिखाता है जिससे आप अपने कार्यक्षेत्र में बेहतर रूप से काम कर पाते हैं।

तनाव और अवसाद से उबारे

शरीर और मन स्वस्थ होने पर आप कम तनाव अनुभव करते हैं तथा अवसाद से उबर पाते हैं। आज की भागती हुई ज़िन्दगी में यह लाभ बहुत ही ज़रूरी है खासकर तब जब लगभग सभी बड़ी बीमारियाँ और समस्याएँ तनाव और अवसाद के कारण जन्म ले रही हों।

अंदरूनी अंगों को स्वस्थ करे

प्राणायाम से शरीर और मन को अद्भुत लाभ होना शुरू हो जाते हैं जिनका सकरात्मक प्रभाव आपके अंदरूनी अंगों पर भी पड़ता है। साथ ही कई तरह के प्राणायाम से इन अंगों की मालिश भी होती है।

आत्म विश्वास बढाए

बेहतर ध्यान, शांत मन, स्वास्थ्य शरीर और घटता तनाव आपको एक ऐसे जीवन में लेकर जा सकता है जिसका आपने अब तक अनुभव नहीं किया। आप खुद पर विश्वास कर पाते हैं और मुश्किल काम भी बेहद आसानी से कर जाते हैं।