बालतोड़ के 10 आसानी से किये जाने वाले घरेलु उपचार

40974
boils-baal-tod-home-cure
image credit: newstracklive.com

बालतोड़ या बलतोड़ जिसे अंग्रेजी में बोय्ल्स (boils, baltod home remedy in hindi, gharelu upay) कहते हैं वो एक फुंसी या फोड़ा होता है जो बाल टूटने के वजह से उत्पन्न होता है। ये घाव आम घावों से अलग होता है और तकलीफदेह भी। शरीर के किसी भी हिस्से का अगर कोई बाल टूट जाए तो इस घाव के होने की संभावना बढ़ जाती है। ज्यादातर ये पैर, हाथ, पीठ या जननांगों के पास की जगह पर होता है।


बालतोड़ के 
लक्षण-


1
. प्रभावित जगह के त्वचा का लाल हो जाना
2.
बालतोड़ होने पर प्रभावित जगह फूल जाती है
3.
प्रभावित जगह पर फुंसी निकलना
4.
फुंसी में पीव का भर जाना

 


बालतोड़ के 
घरेलु उपचार-


1.
बालतोड़ की स्तिथि में अगर मुह में गेंहू के कुछ दानों को हल्का चबा कर, फिर चबाये हुए गेंहूँ को बालतोड़ कि जगह पर लगाया जाए तो बालतोड़ से आराम  मिलता है।

2. बालतोड़ घाव के उपचार में पीपल भी एक योग्य औषधि का काम करती है। पीपल के पेड़ के छल को पीस कर और पानी मिलाकर लेप बना लें और इसे दिन में दो बार घाव की जगह पर लगायें।

3. बराबर मात्रा में नीम और कालीमिर्च को पीसकर लेप बना लें। इस लेप को घाव की जगह पर लगाकर पट्टी बांध ले। घाव जल्दी ठीक हो जाएगा। आप चाहे तो सिर्फ नीम के पत्ते का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

4. एक चम्मच मैदा ले और घी में पका लें। ठंडा हो जाने के बाद  इस लेप को घाव पर लगाकर पट्टी बाँध ले। घाव बहुत जल्दी ठीक हो जाएगा।

5. बालतोड़ के उपचार में मेहदी भी फायदेमंद होता है। मेहदी के पत्तो को पीसकर बालतोड़ के घाव पर लगाने से घाव ठीक होता  है।

6. एक चम्मच हल्दी पाउडर को एक गिलास उबले दूध में मिलाकर चारपांच दिन तक पियें, घाव ठीक हो जाएगा।

7. एक साफ़ कपड़ा लें और गर्म पानी में भिगो ले। अब इस कपडे को घाव की जगह पर रखकर आहिस्ता आहिस्ता दबाये। ऐसा करने से दर्द तो कम होगा ही घाव भी ठीक होगा। आप चाहे तो पानी में नमक भी मिला सकते है।

8. प्याज में एंटीसेप्टिक गुण होते है जिस वजह से ये बालतोड़ के उपचार में काम आता है। प्याज की एक स्लाइस घाव पर रखें और एक कपडे से बाँध ले। एक दो घंटे के बाद ये पट्टी हटा ले और फिर इस प्रक्रिया को एक घंटे बाद दुबारा दुहरायें।

9. लहसुन को पीस कर पेस्ट बना ले और इस पेस्ट को घाव पर लगाये। लहसुन की दो तीन कलियाँ कच्चा खाने से भी बालतोड़ में आराम मिलता है।

10. मक्के के आटे को एक कप पानी में उबालकर गाढ़ा पेस्ट बना लें। ठंडा हो जाने के बाद इस पेस्ट को घाव पर लगायें और पट्टी बाँध लें। दो तीन घंटे बाद पट्टी खोल कर घाव साफ़ कर ले और दोबारा पट्टी बाँध लें। 

पढ़ें यह भी –

  1. जानिए लकवा मारने जैसी गंभीर बीमारी के कारणों को और अपनाईये सावधानियां
  2. करिए स्विस बॉल व्यायाम, जोड़ों व कमर को मजबूत बनाने के लिए
  3. जोड़ों में होने वाला दर्द और अकड़न ऑस्टिओआर्थराइटिस भी हो सकता है