लौंग के सेवन के हैं अद्भुत फायदे, करे मुंह व पेट की तमाम समस्याओं का निवारण

7636
cloves-benefits
image credits: flusterbuster.com

लौंग साल भर बडी आसानी से उपलब्ध होता है, तथा विभिन्न प्रकार के खादयपदार्थ को बनाने में इसका उपयोग किया जाता है।  (laung khane, lavang ka tel ke fayde in hindi) किसी भी खादयपदार्थ में लौंग के डालने से वह पदार्थ अधिक स्वादिष्ट तथा सुगंधित हो जाता है। लौंग अपने आप में ही एक अदभूत प्रकार का मसाला है तथा लगभग हर एक के रसोईघर में बडीं आसानी से पाया जाता है। लौंग में एक खास प्रकार का युजेनॉल नामक तत्व पाया जाता है, जिसकी वजह से ही लौंग में एक खास तरह की सुगंध आती हैं।

यूँ तो लौंग में विभिन्न प्रकार के अनगिनत स्वास्थ्य लाभ पाए जाते हैं तथा यह बहुत ही फायदेमंद भी हैं, पर गर्मी के मौसम में लौंग का इस्तेमाल बडे ही सावधानी से किया जाना चाहिए, क्योंकि इसका असर गर्म होता है। पर फिर भी लौंग की भारतीय खाने में एक विशेष जगह हैं। अक्सर गरम मसाला तैयार करते वक्त लौंग का इस्तेमाल मुख्य रूप से किया जाता हैं। लौंग का इस्तेमाल विभिन्न प्रकार की आयुर्वेदिक औषधियों को बनाने में भी किया जाता हैं। स्वाद से भरपूर होने के साथ साथ लौंग में अनगिनत स्वास्थ्य गुण भी पाए जाते हैं। जो हमारे शारीरिक सेहत के लिए काफी फायदेमंद हैं, आइये हम लौंग में पाए जाने वाले विभिन्न गुणों के बारे में जानकारी हासिल करते हैं।

1) त्वचा को संक्रमण से दूर रखता है – लौंग के तेल का इस्तेमाल हमारी त्वचा के स्वास्थ्य को बनाए रखने में अत्याधिक लाभदायक है। त्वचा पर दाग धब्बे नहीं होते। तथा लौंग के तेल को यदि आप प्रभावित क्षेत्र में दिन में दो बार लगाते हैं, तो आपकी त्वचा कीटाणुरहित होने लगती है तथा आपकी त्वचा पर किसी भी प्रकार का संक्रमण नहीं होता।

2) मुंह के भीतरी भाग की सुरक्षा के लिए उपयोगी है लौंग – लौंग हमारे दाँतों के स्वास्थ्य को बनाए रखने में एक बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाता हैं। अक्सर आपने देखा या पढा तो अवश्य ही होगा कि, भिन्न प्रकार के टूथपेस्ट तथा दंत-चिकित्सा उत्पादों को बनाने में लौंग का प्रयोग अवश्य ही किया जाता हैं। लौंग हमारे दाँतो के लिए बहुत ही उपयोगी हैं। आइये हम देखें की लौंग किस तरह से हमारे दाँतों को सुरक्षा प्रदान करता हैं।

i. यदि आपके दाँतों के स्वास्थ्य में खराबी है तथा जडों में सडन हैं, आपका कोई दाँत सड़ गया हैं, अथवा आपको दाँतों में असहनीय दर्द है तो, आपको लौंग के तेल का प्रयोग अवश्य ही करना चाहिए। यह दाँतों के लिए बहुत ही उत्तम है तथा दाँतों में पाए जाने वाले विकारों को बडी ही सरलता से ठीक करने में बहुत ही सहायक हैं।

ii. लौंग हमारे मसूडों को मजबुत बनाने तथा सांस में से आनेवाली दुर्गंध को दूर करने में अतिशय फायदेमंद हैं।

विधि – यदि आपको श्वाससंबंधी समस्याएँ हैं, तो खाना खाने के बाद नियमित रूप से 1-2 लौंग मुँह में रखकर चबाइये।

iii. प्राकृतिक रूप से लौंग में कीटाणुओं को रोकने के गुण पाए जाते हैं। सांस की बदबू को दूर करने के लिए लौंग का प्रयोग करना बहुत ही उपयोगी होता हैं। लौंग हमारे मुँह में बदबू पैदा करने वाले कीटाणुओं की रोकथाम करता हैं। इससे हमारे सांस में दुर्गंध नहीं आती।

विधि – लौंग के कुछ टुकडों को पानी में उबालिए तथा जब यह पानी ठंडा हो जाएं तो उस पानी से गरारा कीजिए। सांसों में पाए जाने वाली दुर्गंध से छुटकारा पाने का यह सबसे सरल तथा सर्वोत्तम उपाय हैं।

पढ़ें इसे भी – दांतो के दर्द का कारण व निवारण के उपाय

3) जी मचलाने में कारगार औषधी – यदि आपका जी मिचलाता है अथवा आपको उलटियाँ हो रही हों तो लौंग के तेल में थोडा सा लौंग पीसकर डाल दें। तथा इस मिश्रण को ले ले। ऐसा करने से तुरंत आराम आने लगता हैं। अक्सर गर्भवती महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान उल्टी होने की समस्या पाई जाती हैं। उन महिलाओं के लिए भी यह उपाय अत्यंत ही लाभदायक हैं।

4) पाचन तंत्र करे दुरुस्त – लौंग हमारी पाचनक्रिया का सही रूप से संचालन करने में एक बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाता हैं। लौंग हमारे शारीरिक पाचनक्रिया को बढावा देता हैं तथा पाचनतंत्र में पाए जाने वाले एन्जाइम्स का निर्माण करने में सहायता करता हैं। लौंग हमारे पेट संबंधी सारी समस्याएँ जैसे डायरिया, अपचन, आँतों में गॅस होना, पेटदर्द इत्यादी दूर करने में बहुत ही लाभदायक हैं। लौंग में पाए जाने वाला तेल शरीर में होनेवाले कीटाणुओं को रोकता हैं। तथा पेट में किसी भी प्रकार का संक्रमण नहीं होता। अपनी पाचनशक्ति को बढाने के लिए आप नियमित रूप से लौंग का सेवन कर सकते हैं।

पढ़ें इसे भी – छोटी हो या बड़ी – इलायची है तो बड़े काम की

5) जोड़ो के दर्द में राहत दिलाता है – लौंग का तेल जोंडों में होनेवाले दर्द तथा सूजन को कम करने में काफी सहायक हैं। लौंग के तेल को नियमित रूप से माँसपेशियों तथा जोडों में लगाने से उनमें होनेवाले दर्द से काफी आराम मिलता है। लौंग के तेल में कैल्शिअम, ओमेगा-3, फॅटी एसिड तथा लौह की अत्याधिक मात्रा पाई जाती हैं। लौंग हमारे जोडों तथा हड्डियों की मजबूती बनाए रखने में भी बहुत ही फायदेमंद हैं।

विधि – लौंग के थोडे टुकडों को सेंक लीजिए। फिर उन्हें एक नर्म मुलायम सूती कपडे में लपेट लीजीए। तथा प्रभावित क्षेत्र जहाँ पर भी आपको दर्द हैं, वहाँ पर दर्द कम होने तक हल्के हल्के हाथों से रखिए। धीरे धीरे दर्द कम होने लगता हैं।

6) लौंग का उपयोग करने से निम्नलिखित बीमारियों को दूर होने में काफी सहायता प्राप्त होती है –
साधारण सर्दी जुकाम, बहती हुई नाक, विभिन्न प्रकार के होने वाले संक्रमण, अस्थमा, क्षयरोग तथा फेंफडों का कैंसर

विभिन्न प्रकार के सायनस की तकलीफों को दूर करने में लौंग का नियमित सेवन करना चाहिए।

पढ़ें इसे भी – मुलेठी है एक औषधीय पौधा, फायदे जान आप रह जाएंगे दंग