दही चावल खाएं और करें ख़ुशी का अनुभव

555
dahi-chawal-curd-rice-recipe
image credits: YouTube

ज्यादातर साउथ इंडियन व्यंजनों की तरह ही दही-चावल भी एक कौर खाते ही लगभग हर व्यक्ति की पसंद बन जाता है। ये साधारण, स्वादिष्ट और पेट भरने वाला व्यंजन आपको कुछ ही देर में भूख से छुटकारा और मन की शान्ति देता है। पर आप शायद ही जानते होंगे की इस संतुष्टि और ख़ुशी के एहसास की वजह स्वाद नहीं, बल्कि कुछ और है-

 

ट्रिपटोफन 

दही चावल से मिलने वाली संतुष्टि की वजह दही में मौजूद ट्रिपटोफन नामक एक कंपाउंड है जो की एक एमिनो अम्ल होता है। एमिनो अम्ल हमारा शरीर अपने आप नहीं बना पाता इसलिए इसे आहार से लेने की ज़रूरत होती है तथा इसी वजह से इन्हें “एसेंशियल” या आवश्यक का दर्जा दिया जाता है।

 

ट्रिपटोफन आवश्यक क्यों है?

ट्रिपटोफन सीधे तौर पर आपको ख़ुशी नहीं देता है। पर आपके शरीर में बनने वाला सेरोटोनिन नामक रसायन, जो की हैप्पीनेस हॉर्मोन के नाम से जाना जाता है, ट्रिपटोफन से ही तैयार होता है। इस हॉर्मोन की मदद से आपकी मनोदशा नियंत्रित होती है, भावनाओं में संतुलन आता है, घबराहट कम होती है तथा आपको ध्यान केन्द्रित करने में सहायता मिलती है।

शरीर में सेरोटोनिन की कमी मूड डिसऑर्डर को जन्म देती है जिससे अनिद्रा, डिप्रेशन जैसी समस्याएँ खड़ी हो जाती हैं।

 

चावल की क्या भूमिका है?

ट्रिपटोफन से बना सेरोटोनिन खुद से दिमाग तक नहीं पहुँच पाता और रक्त में ही रह जाता है। ऐसे में चावल की भूमिका अहम हो जाती है।

चावल में मौजूद कार्ब्स दिमाग को ट्रिपटोफन लेकर सेरोटोनिन बनाने में मदद करते हैं। यही वजह है की दही आदि लो-कार्ब आहार आपको संतुष्टि नहीं देते। इन्हें कार्ब युक्त आहारों के साथ लेने पर ही आप बेहतर महसूस कर पाते हैं। कार्ब से रक्त में इन्सुलिन का निर्माण होता है जिसकी मदद से दिमाग सेरोटोनिन बना पाता है। यही वजह है की अगर आप बहुत ज्यादा दही-चावल खा लें तो आपको आलस महसूस होने लगता है।

 

दही-चावल से पेट को लाभ होता है 

दही में प्राकृतिक रूप से प्रोबिओटिक मौजूद होते हैं जो आपकी आँतों में बैक्टीरिया के आवश्यक संतुलन को बनाते हैं। इस तरह आप दस्त, उलटी व् अपच जैसी समस्याओं से बच पाते हैं और आहार से पूरा पोषण ले पाते हैं। दही-चावल में मौजूद मैग्नीशियम और पोटैशियम पेट दर्द और मरोड़ खत्म करने में मदद करते हैं।

इस तरह दही-चावल का सही मेल पाचन क्रिया से जुडी लगभग हर समस्या का निवारण कर सकता है।

यह भी पढ़ें –

  1. जानिए रेसिपी प्रोटीन से भरपूर टोफू स्मूदी की
  2. कई फायदो के साथ भरपूर ऊर्जा का स्रोत है काजू मिल्कशेक, जानिए रेसिपी
  3. जानिए कैल्शियम, आयरन और फॉस्फोरस सहित कई पोषक तत्वों से युक्त चीकू मिल्कशेक की रेसिपी
  4. उपमा की प्रोटीनयुक्त रेसिपी