गर्मियों में घूमने जा रहे हैं तो क्या करें तथा क्या न करें

795
summer-vacation
image credits: Reaching Milestones

गर्मियों की छुट्टी मिलने पर लम्बे समय से टल रहे सफ़र पर जाना एक रिवाज़ सा बन चूका है। आप भी आने वाले महीनों में ऐसी ही कोई ट्रिप प्लान कर रहे हैं तो कुछ ख़ास बातों का ध्यान रखना बिल्कुल न भूलें। (prepare your fifteen days plan for summer vacation)

 

यह न करें 

 

घर के कपड़ों में घर से न निकलें 

लम्बे सफर में हर किसी का मन होता है की वह चप्पल पहनकर, ढीले-ढाले कपड़ों में एअरपोर्ट/ स्टेशन पहुंचे। पर ऐसा न करने की कई वजहें हैं। हो सकता है प्लेन के अंदर तापमान कम हो जाए या सामान रखने-उठाने में आपके कपड़ों की वजह से आप अन्य यात्रिओं के बीच असहज हो सकते हैं। इसके अलावा सहयात्रियों व् पुराने यात्रियों की अस्वच्छ आदतों की वजह से गंदे हुए कम्पार्टमेंट से आपको पतले कपड़े नहीं बचा पाएंगे(यकीन मानिए, यह सिर्फ रेल यात्रियों के लिए नहीं बल्कि हवाई यात्रियों के लिए भी सच है )। इन सभी बातों का ध्यान रखकर अपनी वेशभूषा चुनें।

 

रास्ते से ध्यान न हटाएं 

अगर आप किसी गाडी से अपना सफ़र तय कर रहे हैं तो यह सुझाव आपके लिए है। अक्सर लोग घर से जल्दबाजी में निकलने के कारण पढ़ना, खाना, फ़ोन पर किसी को मेसेज करना जैसे काम कार में बैठकर करने लगते हैं। छुट्टी के दिनों में यह मुश्किल और भी बड़ी हो जाती है क्यूंकि रास्ते पर ऐसे कई ड्राईवर होते हैं जिन्हें रास्तों का सही पता मालूम नहीं होता। ऐसे में आप ध्यान भटकने का खतरा बिल्कुल मोल न लें ; किसी एप्प या मानचित्र के ज़रिये पहले से रास्ते देख लें तथा सफ़र के दौरान रास्ते देखने के लिए गाडी की रफ्तार धीमी करें।

 

असहजता से घबराएं नहीं 

अक्सर लोग दुनिया घुमने का सपना देखते हैं और इसे पूरा करने के लिए बहुत कोशिश भी करते हैं। लेकिन घर से थोडा दूर निकलते ही भाषा, व्यवहार, खाने, मौसम जैसे कारकों के कारण शिकायत करने लगते हैं। कोशिश करें की ऐसा न हो, जिस जगह जा रहे हैं उस जगह की मुश्किलों और फायदों को अपना बनाएं। और सहजता के लिए अपने घर से ही आस रखें।

 

स्वयं ध्यान भटकाने की वजह न बनें 

हो सकता है किसी जगह पर आप पहली बार नहीं जा रहे हैं या यह जगह आपको पसंद नहीं आ रही। फिर भी ऐसे कई लोग वहां होंगे जो अपने सफ़र का पूरा लुत्फ़ उठाना चाहते होंगे तथा अच्छी यादें समेट रहे होंगे। इन लोगों का सफ़र आपकी शिकायतों, फ़ोन पर जोर-जोर से बात करने की आदत या गाइड से ज़्यादा ज्ञान रखने के दावों के कारण ख़राब न हो, इसका भी ध्यान रखें।

 

यह करें 

 

सही कपड़े चुनें 

जहाँ जा रहे हैं वहां किस तरह के लिबास पहनने की परम्परा है इसका पता लगाएं। किसी धार्मिक स्थल या दुनिया के कुछ खास इलाकों में आपके द्वारा चुनें कपड़ों का बहुत खास महत्व हो सकता है। इन परम्पराओं के अनुसार कपड़े चुनें जिससे मान्यताओं के प्रति आपका आदर स्पष्ट दिखे।

 

टिप खुले दिल से दें 

सफ़र पर निकलते ही आप खर्चे की चिंता में लग जाते हैं। हो भी क्यूँ न, आपकी मेहनत की कमाई ही खर्च हो रही है। पर सफ़र के दौरान आपको ऐसे अनगिनत लोग मिलेंगे जो आपकी सेवा के लिए बहुत मेहनत कर रहे हैं लेकिन उनकी कमाई ज्यादा नहीं हैं। हममें से ज्यादातर लोगों ने भी ऐसे ही किसी काम से शुरुआत की थी। तो ऐसे मेहनती लोगों के द्वारा दी जा रही सेवा को उचित टिप देकर सम्मानित करना भी न भूलें।

 

एक अच्छे मेहमान और मेज़बान बनें 

किसी दोस्त के घर रुककर नया शहर देखने से खर्चा तो कम होता ही है, साथ ही शहर की बेहतर जानकारी भी मिलती है। इसी तरह अपने घर पर मेहमानों को आमंत्रित करने से अपने ही शहर को नए नज़रिए से देखने का मौका मिलता है। इन सभी फायदों के बीच रिश्तों को नई चमक भी दी जा सकती है। तो ऐसा मौका कभी न छोड़ें; अच्छे मेहमान और मेज़बान बनें।

 

एक अच्छे यात्री बनें 

गर्मियों में सफ़र पर जाने की बड़ी वजह है आराम, शारीरिक और मानसिक। तो माहौल से झुंझलाने की जगह मुस्कुराएं। सफ़र पर मिलने वाले लोगों से जिंदादिली से मुलाकात करें तथा चिंता को घर पर ही छोड़ दें। रास्ते में मिलने वाले अजीब लोगों को बिना आपका मूड ख़राब किए गुजरने दें। घूमते हुए कोई अप्रिय परिवार कतार में आपके आगे जबरदस्ती खड़ा हो जाए तो शांत दिमाग और हंसी-मज़ाक में स्थिति संभालें। आपका यही खुश मन आपकी छुट्टियों की सबसे बड़ी याद रहेगा।