कई पोषक तत्वों से पूर्ण अंजीर के हैं ढेर सारे स्वास्थ्य लाभ

1562
Dried_fig_anjeer
image credits: UdupiHut

अक्सर स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं जैसे मुँहासे या कब्ज़, सुनने में छोटी लगती हैं पर आसानी से पीछा नहीं छोड़ती। (anjeer benefits during pregnanacy, skin and hair in hindi, anjeer fruit ke fayde) ऐसी कई समस्याओं का समाधान अंजीर के द्वारा किया जा सकता है। इसमें मौजूद खनिज, विटामिन तथा फाइबर इसे स्वास्थ्य के लिए बहुत हितकारी बनाते हैं। इसमें विटामिन A, B1 तथा B2 के साथ कैल्शियम, आयरन, फॉस्फोरस, मैंगनीज, सोडियम, पोटैशियम और क्लोरीन पाया जाता है।

anjeer ke faayde

आइये जानें, अंजीर के क्या-क्या फायदे हैं-

 

कब्ज़ दूर करे

3 अंजीर में लगभग 5 ग्राम फाइबर होता है। फाइबर की यह मात्रा पाचन को सुचारु करने में मदद करती है। साथ ही अंजीर का सेवन अनियमित पाचन तथा दस्त से भी निजात दिलाता है। सुपाचन वज़न कम करने तथा प्रबंधन में भी मदद करता है।

 

कोलेस्ट्रॉल कम करे

अंजीर में पेक्टिन नामक घुलनशील फाइबर होता है। जब यह हमारे पाचन तंत्र से गुज़रता है तो कोलेस्ट्रॉल के समूह को भी अपने साथ लेकर निकलता है। इस तरह यह रक्त में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ने नहीं देता और आँतों के कैंसर से भी बचाव करता है।

यह भी पढ़ें – कई सेहतमंद गुणों का खजाना है अंजीर

ब्रैस्ट कैंसर से बचाए

मेनोपॉज़ के बाद महिलाओं के शरीर में हॉर्मोन्स असंतुलित होने लगते हैं। नतीजतन ब्रैस्ट कैंसर जैसी बड़ी बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। इस असंतुलन से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता भी तेज़ी से कम होने लगती है। अंजीर कैंसर कारक फ्री रेडिकल्स को कम कर शरीर की रक्षा करते हैं।

 

अवसाद मुक्त करे

अक्सर लोग सोडियम की ज़रूरत पूरी करने के लिए नमक लेते हैं पर पोटैशियम को पूरी तरह भूल जाते हैं। नतीजतन शरीर में सोडियम की मात्रा सीमा से बाहर हो जाती है जिससे अवसाद होता है। अंजीर पोटैशियम का स्रोत है और अवसाद से बचाने में बहुत मददगार भी। यह दिमाग की नसों को आराम देकर पुरे दिन आपके मन को शांत रखता है।

 

यौन रोग का उपचार

सदियों से यौन-रोगों के उपचार के लिए अंजीर का उपयोग किया जाता है। दूध में 2-3 अंजीर रातभर भिगो कर रखें तथा सुबह उठकर पी लें। यह शरीर को ताकत देगा, ऊर्जा बढ़ाएगा तथा यौन रोगों से मुक्त करेगा।

 

हड्डियां मज़बूत करे

अंजीर कैल्शियम से भरपूर होता है। यह हड्डियों की मज़बूती और ऑस्टियोपोरोसिस से बचाव के लिए ज़रूरी है। अंजीर में फॉस्फोरस भी पाया जाता है जो हड्डियों के विकास तथा क्षति पहुँचने पर पुनर्विकास के लिए ज़रूरी होता है।

 

नेत्र रोगों से बचाए

रात भर पानी में अंजीर भिगो के रखें तथा सुबह अंजीर खा लें और पानी भी पी लें। ऐसा रोज़ करने से नेत्र रोगों से बचाव होता है। कमज़ोर नज़र, आँखों में गर्मी जैसी समस्याएं तो कम होती ही हैं साथ ही बढ़ती उम्र में मैकुलर डिजनरेशन की वजह से घटती नज़र से भी बचाव होता है।

 

गाँठ हटाए

शरीर में कहीं पर भी गाँठ होने पर यह उपाय करें- कुछ अंजीर को पानी में डालकर उबाल लें। उबले अंजीर को अच्छी तरह पीस कर इसका पेस्ट बना लें। इसे शरीर में जहाँ भी गाँठ हो, वहां लगा लें। आधे घंटे लगे रहने दें फिर पानी से धो लें। ऐसा लगातार कुछ दिनों तक करने से गाँठ ठीक हो जाएगी।

 

अति किसी भी चीज़ की अच्छी नहीं; अंजीर को ज़्यादा मात्रा में खा लेने से दस्त लग सकते हैं। साथ ही शरीर में शर्करा की मात्रा भी बढ़ सकती है। औसतन एक व्यक्ति 4 अंजीर तक खा सकता है। पर अगर आप मधुमेह या ऐसी ही किसी बीमारी से ग्रसित हों तो चिकित्सक से परामर्श लेकर ही अंजीर खाएं।