एक प्राचीन काल से उपयोग होती औषधी – हरड़

3745
image credits: rajasthan patrika.com

प्राचीन काल से हरड एक बहुत ही महत्वपूर्ण तथा अत्यंत ही गुणकारी औषधि के रूप में उपयोग की जा रही है। (harad powder benefits in hindi) हरड का प्रयोग विभिन्न प्रकार के रोगों को दूर करने के लिए लाभकारी होता है। हरड को हरि तकी के नाम से भी जाना जाता है। हरड सभी उम्र के लोगों के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। हरड च्यवनप्राश तथा त्रिफला चूर्ण में पाए जाने वाला एक अति महत्वपूर्ण तत्व है। हमारे प्राचीन ग्रंथों में भी हरड की उपयोगिता का वर्णन विभिन्न प्रकार की बीमारियों के इलाज के लिए किया गया है।

आइये हम देखते हैं, कि हरड खाऩे से हमारे शरीर को किस प्रकार से लाभ हो सकता हैं।

1) हरड का नियमित सेवन करने से पाचन संबंधी सारी समस्याएँ दूर होने में काफी सहायता मिलती है तथा इसको खाने से कब्ज की शिकायत नहीं रहती तथा पेट साफ रहने लगता है। हरड हमारे शरीर में पाए जानेवाले विभिन्न प्रकार के विषैले रासायनिक पदार्थों को बाहर निकालता है, जिससे हमारे शारीरिक वजन को कम करने में लाभ होता है।

2) हरड का सेवन बवासीर से पीडित मरीजों के लिए बहुत ही उपयोगी माना जाता है। बवासीर में होने वाली जलन तथा सूजन से हरड राहत दिलाता है।

3) हमारे शरीर में पाए जाने वाले कफ को संतुलित बनाए रखनें में हरड फायदेमंद होता है। यह हमारे शरीर में पित्त को भी कम करता है। वात संबंधी समस्या होने पर हरड का सेवन घी के साथ करने से काफी लाभ पहुँचता है।

4) हरड का सेवन करने से हमारी याददाश्त में वृद्धि होती है।

5) त्वचा के रंग को निखारने के लिए हरड़ एक बहुत ही उपयोगी तथा प्रभावशाली उपाय है। यह बढती उम्र को रोकने में भी सहायक होता है, तथा त्वचा में पाए जाने वाली विभिन्न बीमारियों को भी दूर करने में उपयोगी है।

6) हरड का सेवन करने से सर्दी, कफ, गले की खराश, तथा अस्थमा जैसी बीमारियाँ भी दूर होने लगती है।

7) हरड हमारे दाँतों के स्वास्थ्य को बनाये रखने के लिए भी काफी उपयोगी है। यह हमारे मसूडों में होने वाली समस्या को दूर करने के लिए एक गुणकारी औषधि है।

8) हरड एक बहुत ही प्रभावकारी detoxicant है तथा हमारे शरीर में कोलेस्टेरॉल की मात्रा को संतुलित बनाये रखने में बहुत ही सहायक है।

9) हरड का उपयोग करने से हमारे आंखों का भी स्वास्थ्य बना रहता है। हरड के पावडर को पानी में मिलाकर यह मिश्रण आंखों पर लगाने से आंखों में पाई जाने वाली विभिन्न समस्याएँ दूर होने लगती हैं। तथा आंख आना जैसी परेशानी से भी राहत मिलती है।