आयुर्वेदिक नुस्खों से पाएं गहरी नींद

594
Sleep-Benefits
image credits: http://wakeuptothesunriselight.com

शरीर और मन को आराम देने के लिए नींद एक प्राकृतिक व्यवस्था है। पर विभिन्न कारणों से लोग अनिद्रा या कच्ची नींद के शिकार हो जाते हैं जिसके कारण कई तरह की समस्याएँ उन्हें सताने लगती है। आयुर्वेद इसकी वजह अनियमित आहारशैली और गलत जीवनशैली को बताता है जिससे शरीर में वात बढने लगता है। (how ayurvedic medicine to get deep sleep, gehri neend kaise paayein, ke liye gharelu upay)

 

रात में चाय-कॉफ़ी पीना, भोजन के बीच लम्बा अन्तराल रखना, ठंडा या रूखा खाना खाना तथा जला हुआ खाना खाने से आपको यह समस्या हो सकती है। इसके अलावा दबे हुए विचार, घबराहट, चिंता, गुस्सा, बहुत ज्यादा काम करना या रोगों के चलते भी यह समस्या होती है।

अगर आपको नींद सही से नहीं आती तो खाने से गोभी, फल्ली, फूलगोभी, मटर और चावल हटा दें। इसके अलावा निम्न उपायों को अपनाने से आप गहरी नींद ले पाएँगे-

 

आहार और जीवनशैली में बदलाव 

 

  • खाने में ताज़े फल, अवोकेडो, दूध से बने पदार्थ और मीठे आहार शामिल करें।
  • सूखे मेवे और पोषक बीजों को आहार का हिस्सा बनाएँ।
  • खाने में चिकनाई और दही को नियंत्रित तरह से बढाएं।
  • मैदे की जगह आटे का प्रयोग करें तथा ब्राउन राइस अपनाएं।
  • शाम में शराब, कैफीन और सोडा का सेवन बिल्कुल न करें।
  • खाने में घी का उपयोग करें।
  • देर रात तक टीवी या कंप्यूटर को देखने की आदत बदलें।
  • नहाने से पहले शरीर की तिल के तेल से मालिश करें।

 

आयुर्वेदिक उपाय 

 

  • रात में सोने से पहले मलाइदार दूध में इलायची पाउडर डालकर पियें।
  • पुदीने की कुछ पट्टियों को एक कप पानी में 15-20 मिनट के लिए उबालें। इस काढ़े का एक चम्मच शहद के साथ सोते समय लें।
  • आधा चम्मच दालचीनी पाउडर और एक चम्मच शहद एक कप गुनगुने दूध में डालकर लें।
  • सोते समय अपने पैरों की मालिश तिल के तेल से करने की आदत बनाएँ।
  • अगर रात में किसी वजह से नींद पूरी न हो पाए तो अगले दिन सुबह 1 चम्मच ब्राह्मी और 1 चम्मच अश्वगंधा 2 कप पानी में उबालें और एक कप रह जाने पर पियें।
  • एक चम्मच भुना जीरा एक केले के टुकड़ों पर छिडकें। इसे रोजाना सोने से पहले खाएँ।