वर्षा ऋतु में आंखों के इंफेक्शन होने से बचें इस तरह

879
irritated-eyes
image credits: Firmoo.com

मॉनसून में बारिश ही नहीं आँख आना, गोहरी आदि आँखों के संक्रमण हमारा दरवाज़ा खटखटा सकते हैं। विशेषज्ञों की सलाह और उचित सावधानी ही इन संक्रमणो से बचाव का तरीका है। इस मॉनसून आँखों की देखभाल के इन तरीकों को अपनाएं और अच्छी सेहत पाएं-

 

आँखों को बारबार न छुएं

आँखों को संक्रमण से बचाने के लिए हाथों को बार-बार धोना तथा आँखों को न छूना ज़रूरी है। आँखों में खुजली होने पर इन्हे रगड़ने की जगह साफ़ पानी से धोएं तथा हाथ भी साफ़ करें। इस मौसम में बाहर से घर आने पर हमेशा ठंडे पानी से आँखे धोएं।

अपनाएं यह 10 आहार ताकि बनाएं रख सकें अपनी आंखों को स्वस्थ          

आँखों के एक्सेसरीज साफ़ करें

मॉनसून में चश्मे आदि आँखों के प्रसाधनों को साफ़ रखना बहुत ज़रूरी है। इसके लिए चश्मा/लेंस साफ़ करने के लिए बनाए गए सोलुशन का उपयोग करें। पानी से गीले हो जाने पर इन्हे अच्छी तरह साफ़ करें; नहीं तो इनमें फफूँद या कीटाणु पैदा हो सकते हैं। कभी भी कांटेक्ट लेंस को खुले में न छोड़ें। अगर आपको आँख आना जैसा कोई संक्रमण हुआ है तो आँखों को चश्में से ढकें। उपयोग किये चश्मे तथा रुमाल आदि चीज़ों को उपयोग के तुरंत बाद एंटीसेप्टिक साबुन से धोएं।

आंसुओं की कमी बनती है आंखों में दर्द, जलन व खुजली का कारण

आँखों का मेकअप

बारिश में आँखों पर किया मेकअप जल्द धूल जाता है इसलिए वाटरप्रूफ मेकअप ही पहनें। अपने आँखों के सौंदर्य प्रसाधन किसी से शेयर न करें। अपने कांटेक्ट लेंस का केस (डिब्बा) किसी से न बातें। उपयोग के पहले लेंस तथा मेकअप को अच्छी तरह साफ़ कर लें। अगर आँखों में किसी तरह का संक्रमण हो गया है तो मेकअप न करें।

आँखों की लेजर ट्रीटमेंट करवाने से पहले जानें इसके फायदे व दुष्परिणाम

आँख आना

घर पर अगर किसी की आँख आई है तो ऑय ड्रॉप आदि दवाइयां उपयोग करने के पहले तथा बाद में हाथ अच्छी तरह धो लें। इस दौरान अपना तौलिया तथा अन्य चीज़ों को किसी और के साथ न बाटें। हो सके तो घर के हर सदस्य को अलग-अलग ज़रूरी सामान(कपड़े या बार-बार छुई जाने वाली चीज़ें) दें। शहर में कंजक्टिविटिस की बीमारी फ़ैल रही हो तो भीड़भरे इलाके और तैराकी से बचें।

आंखों में जलन और खुजली कर सकती है रेटिना को क्षतिग्रस्त, अपनाएं यह घरेलु नुस्खे

पानी भरे इलाको से दूर रहें

पानी भरे गड्ढों, नालियों या पानी रुकने के स्थानों के पास खड़े होकर इंतज़ार करने से बचें। गंदे पानी के स्रोतों से भी दूर रहें। ज़रूरी है की बारिश की फुहारें या जमे पानी की फुहारें आँखों में न जा पाए। आँखों की सुरक्षा के लिए ज़रूरी इंतेज़ाम रखें।

यदि आप भी करतें हैं कंप्यूटर पर लम्बे समय तक काम, तो करिए आंखों की थकान को दूर इन आसान घरेलू नुस्खों से

हवा और धूल से बचें

अगर धुल भरी आंधी में फस जाएं तो किसी छाँव में जाएं या घर में जाएं और हो सके तो आँखों को साफ़ पानी से धो लें। आँखों में कचरा आने से संक्रमण की संभावना बढ़ जाती है। हवा या आंधी में आँखों को अच्छी तरह ढकें/ चश्मा पहनें। अपने पास एक सौम्य तथा विश्वसनीय ऑय ड्राप ज़रूर रखें।

आंखो का हो कोई भी रोग, बचना है तो अपनाएं यह आहार और योग