ऐसे चेक करें अनाज और मसालों में मिलावट

444
indian-pulses-health-benefits
image credit: http://sth.india.com/

आपके खाने को शुद्ध बनाए रखने के लिए इसे कई तरह की जांचों से गुजरना पड़ता है जिनका उद्देश्य खाने में मिलावट को पहचानना होता है। पर भारत में स्थानीय बाज़ार की भी बड़ी भूमिका होती है जिसमें आहार को बिना जांच करे ही बेचा और ख़रीदा जाता है। ज़ाहिर है, ऐसे में विक्रय क्रिया से बड़ा मुनाफा पाने की कोशिश में विक्रेता आहार में मिलावट कर सकता है। ऐसी मिलावटों को आप स्वयं ही पहचान सकते हैं तथा खाने की शुद्धता की परख कर सकते हैं। इन जांचों की क्या प्रक्रिया क्या है, आइये जानें –

 

अनाज 

 

  1. कंकड़ आदि की मिलावट
  • एक थाली में सामग्री की थोड़ी मात्रा लें।
  • सामग्री के हर कण को अलग अलग कर ध्यान से देखें।
  • साफ़ अनाज में आपको कंकड़, भूसी, कीड़े व् अन्य गंदगी नजर नहीं आएगी।
  • मिलावटी अनाज में आप ऐसी चीज़ें साफ़ देख पाएंगे।

 

  1. अनाज में अरगट (एक जहरीली फफूंद)
  • एक कांच के गिलास में 100 मिली पानी लेकर इसमें 20 ग्राम नमक मिलाएं।
  • इस पानी में अनाज डालें।
  • संक्रमित अनाज होने पर फफूंद पानी में तैरकर उपरी सतह पर आ जाएगी।
  • अनाज में लम्बे, गहरे नीले रंग के कणों का होना भी फफूंद का संकेत है।

 

  1. धतूरे की मिलावट
  • दाल व् अनाज को एक साफ़ प्लेट में निकालें।
  • अनाज के कणों को बारीकी से देखें।
  • धतुरा आपको गहरे रंग के गोल टुकड़ों के रूप में दिखेगा।

 

  1. गेंहू में बहुत सारी भूसी की मिलावट
  • एक गिलास पानी लें।
  • इसमें गेंहूँ की सामग्री का एक चम्मच डालें।
  • मिलावट होने पर भूसी तैरकर पानी की उपरी सतह में जम जाएगी।
  • स्वच्छ गेंहूँ में पानी की सतह पर कुछ नहीं दिखेगा।

 

  1. तुअर दाल में केसरी दाल की मिलावट
  • दाल की थोड़ी मात्रा को एक प्लेट में निकालें।
  • इसे गौर से देखें।
  • दाल शुद्ध होने पर आपको इसके दाने एक समान और गोल नजर आएँगे।
  • केसरी दाल की मिलावट होने पर कुछ कण टेढ़े और चपटे दिखेंगे।

 

  1. दाल में रंग की मिलावट
  • एक पारदर्शी गिलास में पानी भरें।
  • इसमें दाल की कुछ मात्रा डालें तथा अच्छी तरह मिलाएं।
  • शुद्ध दाल थोड़ी ही देर में नीचे बैठ जाएगी तथा पानी की रंग पारदर्शी हो जाएगा।
  • अशुद्धि होने पर पानी के रंग में बदलाव आएगा।

 

  1. आटे, मैदे व् सूजी में लोहे के कण
  • सामग्री को एक प्लेट में निकालें।
  • इसके उपर एक चुम्बक फिराएं।
  • आटा साफ होने पर चुम्बक पर कुछ नहीं दिखेगा।
  • मिलावट होने पर आपको चुम्बक पर छोटे कण नजर आने लगेंगे।

 

  1. चावल में हल्दी की मिलावट
  • चावल की थोड़ी सी मात्रा एक प्लेट में निकालें।
  • इसके उपर नींबू का रस डालें।
  • चावल शुद्ध होने पर आपको कोई बदलाव नजर नहीं आएगा।
  • मिलावट होने पर चावल का रंग लाल होने लगेगा।

 

  1. रागी में रहोडामिन बी की मिलावट
  • पानी या खाने के तेल में भिगोई हुई रुई लें।
  • इसे रागी की उपरी सतह पर रगड़ें।
  • अगर रुई का फाहा रंग सोखने लगे तो यह रागी में मिलावट का संकेत है।

 

मसालों में मिलावट 

 

  1. हिंग में मिलावट
  • एक चम्मच में हिंग लेकर आग के पास लेकर जाएं।
  • शुद्ध हिंग कपूर की तरह जलने लगेगी।
  • अशुद्धि होने पर हिंग पूरी तरह नहीं जलेगी।
  1. हिंग में मुल्तानी मिटटी आदि की मिलावट
  • एक गिलास पानी में हिंग डालें।
  • इस सामग्री को नीचे जमने दें।
  • मिलावट होने पर गिलास के तले में मिटटी जैसे पदार्थ नजर आने लगेंगे।

यह भी पढ़ें –

  1. दूध और तेलों में इस तरह पहचानें मिलावट
  2. त्यौहारों में बाजार की मिठाईयों की मिलावट ऐसे पहचानें