बेहतर जीवन चाहते हैं तो छोड़ें इन आदतों को

280
right-eating-habits
image credit: i2.wp.com

आपका पूरा दिन इस बात पर निर्भर करता है की आप अपना दिन कैसे शुरू करते हैं। सुबह की आदतें आपके जीवन की गति और गुणवत्ता को निश्चित करती हैं। यही वजह ही की अगर आप सफल जीवन जीना चाहते हैं, तो दिन के पहले 60 मिनट का सही उपयोग करें।

 

दिन के शुरुआत में इन आदतों से दूर रहना आपको दिनभर उर्जावान रहने में मदद करेगा-

 

अलार्म बंद करना 

हर रोज़ सुबह अलार्म इस उम्मीद में बंद करना की सोने के लिए 10 मिनट और मिल जाएं, यह सभी ने कभी न कभी ज़रूर किया होगा। पर अगर यह आदत रोज़ाना के नियम में शामिल हो जाए तो आप बड़ी मुश्किलों में पड़ सकते हैं। अगर आप दिन की शुरुआत खुले दिल से नहीं करेंगे, तो इसके अंत की उम्मीद भी अच्छी नहीं की जा सकती। इसलिए सोते हुए ही ये संकल्प करें और सुबह पूरी उर्जा के साथ बिस्तर छोड़ें।

दिन भर नींद आना एक बीमारी की निशानी हैं, जानें इससे बचने के कुछ सरल उपाय

नाश्ता न करना 

अगर आपको दिनभर उर्जावान महसूस करना है तो ऐसा नाश्ता करें जो इसमें योगदान दे। सुबह-सुबह कुछ न खाना या जल्दबाजी में थोड़ा सा खाना आपके दिमाग को भरपूर उर्जा नहीं दे सकता। सुनिश्चित करें की आप सुबह शक्कर, स्टार्च या ग्लूकोस से भरपूर नाश्ता न करें। यह आपको दोपहर तक थका सकते हैं और आपकी कार्यकुशलता कम हो सकती है। इसकी जगह फाइबर, कार्ब्स और पोषक तत्वों से भरा नाश्ता करें।

नाश्ता राजकुमार की तरह, लंच राजा की तरह और रात्रिभोज रंक की तरह

सुबह ऑफिस जाने के पहले के घंटे बर्बाद करना 

सुबह तैयार होते समय अगर आप सोशल मीडिया की ओर नजर रखते हैं या कोई टीवी शो देखते हैं तो यह आपके महत्वपूर्ण समय की बर्बादी है। ऐसा करने से आप खुद पर पूरी तरह से ध्यान भी नहीं दे पाते तथा मीडिया पर बिताया समय भी आपके काम का नहीं रह जाता। इसकी जगह एक बार में एक चीज़ पर ध्यान दें- पहले पूरा मन लगाकर तेज़ी से तैयार हो जाएं तथा फिर न्यूज़ और मीडिया पर ध्यान देकर ज़रूरी जानकारी लें। इस सुझाव को ज़रूर आजमाएँ और अपने द्वारा बचाए गये समय पर ध्यान दें।

 

आप मुख्य काम पर ध्यान नहीं दे रहे 

एक शोध में देखा गया की काम पर बिताए गये हमारे समय में से सिर्फ 20 प्रतिशत ही लक्ष्य की प्राप्ति की ओर लेकर जाता है। अपने काम पर ध्यान देना शुरू करें और देखें की कहीं आप भी काम करने की जगह इससे नाम के लिए जुड़े कार्यों को करने में तो नहीं बिता रहे। अगर ऐसा है तो अपने बहुमूल्य समय के सीमित घंटों को प्रभावी कार्यों में लगाएं। यह शुरुआत में आसान नहीं होगा पर धीरे-धीरे आप कार्य में बेहतर होते चले जाएंगे तथा सफलता को करीब पाएंगे।

एकाग्रता तथा मानसिक क्षमता को बढ़ाता है – पार्स्व बकासन योग

नींद को महत्व नहीं दे रहे 

कार्य क्षमता को खत्म कर देने वाली यह आदत आपको कई तरह से नुकसान पहुंचा सकती है। अगर आप थोड़ी नींद लेकर पूरा समय काम या अन्य चीज़ों को दे रहे हैं तो जल्द ही आप बीमारियों और असफलताओं से घिर सकते हैं। ऐसा करने की जगह दिन के घंटों को और प्रभावी ढंग से उपयोग करने की कोशिश करें तथा दिन के अंत में तय समय पर सोने की कोशिश करें। यकीन मानें, यह आदत आपको बेहतर ध्यान और लम्बी उम्र देगी।

आयुर्वेदिक नुस्खों से पाएं गहरी नींद

संवाद की कमी 

इंसान एक सामाजिक प्राणी है जिसे दूसरों से जुड़े रहने और बात करने की ज़रूरत होती है। अक्सर इस ज़रूरत को हम कोई चाहत या जिद मानकर नज़रंदाज़ करते हैं तथा लोगों को अपने जीवन से जुड़ने नहीं देते। इस आदत में छोटा सा बदलाव आपका नजरिया बदल सकता है- अपने परिवारजन, रूममेट, कार्यक्षेत्र या घर पर साथी या फिर रोजाना मिलने वाले लोगों से दिन की शुरुआत में थोड़ी बातें करें। यह बातचीत कभी नमस्ते हो सकती है या फिर दिल की गहराई से हुई बात। इसे नियम बनाने से आप जल्द ही अपने जीवन में खुशहाली और सफलता देखेंगे।