शरीर के मेटाबॉलिज़्म को बेहतर करने के लिए अपनाइए यह आहार

1375
metabolism
image credits: Fitness Jockey

स्वस्थ जीवन जीने की आशा में हम सभी खाने को लेकर कई तरह पाबंदी अपने ऊपर लगाते हैं। (increase your metabolism diet plan) कई लोग जहाँ भूख से थोड़ा कम खाने की सोचते हैं वहीँ कई लोग तो बिना तेल और मसाले का उबला खाना खाने लगते हैं। पर हमारे शरीर के सभी तंत्रों की गतिविधियों से जुड़ा मेटाबोलिज्म दरअसल आपसे कुछ और चाहता है।

 

मेटाबोलिज्म आपके शरीर में वसा के उपयोग से लेकर रोगप्रतिरोधक क्षमता तक पर असर डालता है। इसलिए बच्चे से लेकर बुज़ुर्ग तक को ज़रूरी है की उनका मेटाबोलिज्म तीव्र हो। ऐसा करने के लिए स्वयं को भूखा रखने वाली सभी पाबंदियों को हटाकर कुछ लाभकारी आहारों का सेवन ज़रूरी है। इन आहारों के सेवन से शरीर में संतुलन स्थापित होगा जो जल्द ही आपके सम्पूर्ण  स्वास्थ्य में झलकने लगेगा।

 

आइये, मेटाबोलिज्म बेहतर करने वाले इन आहारों को जानें-

 

अंडे की सफेदी-

अंडे की सफेदी अमीनो अम्ल की लम्बी श्रृंख्ला से भरपूर होती है जो आपके मेटाबोलिज्म को सुचारु और तंदरुस्त रख सकती है। इतना ही नहीं, ये प्रोटीन और विटामिन D से भरी होती है। तो जल्द ही अण्डों की सफेदी से बनने वाले व्यंजन ढूंढकर अपने नाश्ते या खाने का हिस्सा बना लें और जल्द असर देखें।

 

लीन मीट-

कम वसायुक्त मीट आयरन से भरा होता है। इसमें मौजूद अन्य पोषक तत्व भी शरीर में किसी खनिज की कमी नहीं होने देते। हर इंसान को दिनभर में 3-4 बार लौह तत्व से भरपूर खाना ज़रूर खाना चाहिए।

 

पानी-

आपके शरीर में थोड़ा भी डिहाइड्रेशन होने पर मेटाबोलिज्म तुरंत धीमा हो जाता है। ऐसा न हो ये सुनिश्चित करने के लिए भरपूर पानी पीना ज़रूरी है। ये आपके शरीर से विषैले तत्व भी बाहर कर बीमारियों को जड़ से खत्म करता है। आम धारणा के विरुद्ध ठंडा पानी पीने से शरीर को अतिरिक्त कैलोरी जलाने की ज़रूरत पड़ती है जो शरीर को तंदरुस्त बनाए रखता है।

 

मिर्चियाँ-

लगभग सभी तरह की मिर्चियों में कैप्साइसिन नामक एक रसायन होता है जो मेटाबोलिज्म को तीव्र स्तर तक लेकर जाने का काम करता है। विशेषज्ञ दिन में एक बार खाने में एक चम्मच कटी मिर्ची डालने की सलाह देते हैं।

 

कॉफी-

बाजार में आपको कॉफी के दो विकल्प के दो विकल्प मिलते हैं- कैफीनयुक्त व् डीकैफ। एक शोध में पाया गया की कैफीनयुक्त कॉफी पीने वाले वालों की मेटाबोलिक दर डीकैफ पीने वालों से 16 प्रतिशत ज़्यादा होती है। कॉफी पीने का समय यहाँ बहुत महत्वपूर्ण है; इसे सोने के समय से 4 घंटे का अंतर् रखें।

 

ग्रीन टी-

कॉफी की तरह ग्रीन टी में कैफीन नहीं होती पर इसका सेवन भी आपके मेटाबोलिज्म को तीव्र बना देता है। इस चाय में EGCG नामक एक पौध रसायन होता है जो वसा के उपयोग को तेज़ कर देता है।

 

दूध-

दूध पोषक तत्वों से भरपूर आहार है जो हर उम्र के इंसान के लिए लाभकारी है। इसमें मुख्य तौर पर कैल्शियम होता है जो शरीर की वसा के सही उपयोग को बढ़ावा देकर मेटाबोलिज्म दुरुस्त रखता है।

 

अनाज-

पास्ता और ब्रेड जैसे मैदे से बने व्यंजन के मुकाबले फाइबर युक्त अनाज शरीर में कैलोरीज और वसा की खपत को बढ़ा देते हैं। विभिन्न अनाजों से बने पकवान को अपनाना अपनी सेहत के लिए आपका सबसे उचित चुनाव होगा। इससे मिलने वाले पोषण और फाइबर से आपका मेटाबोलिज्म जल्द तीव्र होगा।

 

दाल-

20 प्रतिशत महिलाओं में खून की कमी देखी जाती है। खून की कमी शरीर की कैलोरी की खपत करने की क्षमता घटा देती है जिससे पेट के आस-पास वसा जमने लगती है। दिनभर में एक कटोरी दाल खाने से 35 प्रतिशत लौह तत्व की कमी पूरी हो जाती है।