मूंग दाल हलवा – ठंड के मौसम का स्वास्थवर्धक, लजीज़ व्यंजन

1320
Moong-Dal-Halwa
image credits: RasoiTime

मूंग दाल हलवा एक बेहद लोकप्रिय मिठाई है जिसे राजस्थान और पुरे देश में बड़े शौक से बनाया जाता है। (moong dal ka halwa ki recipe) ठंड के महीनों में इसे शरीर को पोषण और गर्माहट देने वाला माना जाता है। होली, दिवाली और शादियों में भी इसे शुभता लाने वाला मानकर बनाया जाता है।

 

मूंग दाल हलवा तैयार करना मुश्किल और धैर्य माँगने वाली प्रक्रिया है जिसमें डली सामग्री कई बार आपको कैलोरी के हिसाब लगाने पर मज़बूर करेगी। पर यकीन मानिये, तैयार हो जाने पर आपका मन हर्षित ही होगा।

ठंड के मौसम मे इसके सेवन से शरीर रोगमुक्त व सुदृढ़ बनता है। मूँग दाल हलवा के कुछ विशेष लाभ इस प्रकार है-

  • ऑस्टियोपोरोसिस व् अन्य रोगों से बचाए
  • दिल के रोगों से दूर रखे
  • पाचन सुचारू बनाए
  • सुजन कम करे
  • खून की कमी दूर करे
  • ग्लूटेन फ्री डाइट में अच्छा विकल्प है
  • कैंसर और मधुमेह से भी रक्षा करे

तो आइये, मनभावन मूंग दाल हलवा की पाकविधि जानें :

 

सामग्री-

  • बिना छिलके की (धुली)मूंग की दाल, 1 कप दाल भिगोएं फिर मोटा पीस लें
  • घी, 1 कप
  • बेसन, 1 चम्मच
  • दूध, 1 1/2 कप
  • केसर, चुटकीभर
  • शक़्कर, 1 कप
  • खोया, 3/4 कप
  • इलायची पाउडर, चुटकीभर
  • कटे बादाम, 10-12
  • चाँदी का वर्क, 1 शीट

 

विधि

  • एक नॉन-स्टिक बर्तन में घी गर्म करें। इसमें बेसन डालकर अच्छी तरह मिलाएं। मूँग दाल डालें तथा मिलाएं।
  • मध्यम आंच पर लगातार चलाते हुए सुनहरा होने तक पकाएं। इसमें लगभग 20-25 मिनट का समय लगेगा।
  • 1/2 कप दूध एक बर्तन में गर्म करें। इसमें केसर डालें तथा 1 मिनट तक घुलने दें। फिर आंच बंद कर दें।
  • अलग बर्तन में 1 कप पानी उबालें। इसमें शक्कर डालकर घुलने दें फिर आंच से हटा दें।
  • केसर का दूध मूँग दाल में मिलाएं।
  • बचे दूध को धीरे-धीरे मिलाएं और मिश्रण को लगातार चलने दें।
  • केसर दूध के बर्तन में ही खोया डालकर 2 मिनट तक पकाएं।
  • इस खोए को मूँग दाल के मिश्रण में मिलाएं। इलायची पाउडर, बादाम और चाशनी भी मिला दें।
  • सभी चीज़ों को अच्छी तरह मिला दें। इसे ढांक कर धीमी आंच पर 5 मिनट तक पकाएं। ढक्कन हटाकर अच्छी तरह मिलाएं।
  • आंच से हटाकर मिश्रण को प्लेट में निकाल लें।
  • चांदी का वर्क, केसर और बादाम से सजाकर सर्व करें।