किन आदतों को अपनाकर अपच (Indigestion) से आप पा सकते हैं छुटकारा

625
Acidity-churna-churan
image credits: fitnut.in

अपच हर व्यक्ति के लिए एक असहज स्थिति होती है खासकर जब यह रोजाना की समस्या बन जाए। हमेशा पेट भरा हुआ और भारी लगना, कई बार पेट में दर्द या जलन रहना तथा खाने के बाद असहजता महसूस होना, यह सब खाने के सही तरह से न पच पाने के संकेत है। पर अपच कई समस्याओं और कारणों को अपने अंदर समेटे हुए होता है तथा इसके दुष्प्रभाव भी गंभीर हो सकते हैं। इसलिए इस रोग की समझ बहुत ज़रुरी है-

 

लक्षण 

  • पेट फूलना
  • गैस होना
  • उलटी जैसा लगना या उलटी होना
  • मुँह में खट्टा स्वाद आना
  • खाना खाने के बाद पेट बहुत भरा लगना
  • पेट से गुडगुडाने की आवाज़ आना
  • पेट में जलन होना
  • पेट में दर्द होना

 

अगर आप तनाव में हैं तो ये लक्षण और भी गंभीर रूप ले सकते हैं। साथ ही खाने की गलत आदतें आपकी समस्याएँ और भी बढ़ा सकती हैं।

 

वजह 

किसी भी व्यक्ति को अपच हो सकता है लेकिन कुछ लोगों में इसकी संभावना ज्यादा होती है। इन लोगों में ये कारण प्रमुख होते हैं-

 

  • पेट के छाले
  • पेट का कैंसर
  • पेट के छोटे-बड़े रोग
  • पेट के संक्रमण
  • पैंक्रियास में सुजन
  • थाइरोइड के रोग
  • दर्द निवारक गोलियां
  • गर्भनिरोधक गोलियां
  • स्टेरॉयड
  • एंटीबायोटिक
  • थाइरोइड की दवा
  • बहुत ज्यादा खाना, बहुत तेज़ी से खाना, वसायुक्त भोजन खाना
  • अत्यधिक शराब पीना
  • धुम्रपान करना
  • तनाव और आलस

 

महिलाओं में प्रसव के बाद लम्बे समय तक अपच की समस्या रह सकती है-यह हॉर्मोन में बदलाव के कारण होता है।

 

जांच 

अपच अपने आप में कई तरह की समस्या को दर्शा सकता है इसलिए अच्छा होगा अगर आप अपने चिकित्सक से इसकी वजह और रूप की पुष्टि कर लें। अपच की समस्या जितनी पुरानी होती जाती है, इसकी जांच की ज़रूरत उतनी ही बढती जाती है। साथ ही अपच के निवारण व् जीवनशैली में बदलाव के बारे में भी आपके चिकित्सक आपको बहुत कुछ बता सकते हैं।

 

उपचार 

अपच के लिए अक्सर किसी दवा की ज़रूरत नहीं होती। जैसे ही इसका कारण दूर हो जाता है, यह समस्या भी चली जाती है। पर अगर आपकी समस्या के लक्षण गंभीर हो रहे हैं, तो तुरंत चिकित्सक को बताएं।

कुछ उपायों के द्वारा आप अपच को ठीक कर सकते हैं-

 

  • खाने को अच्छी तरह चबाएं तथा मुँह बंद कर खाना खाएं।
  • एक ही बार में बहुत ज्यादा खाने से बचें।
  • खाने के बाद लेटें या बैठें नहीं-कुछ देर टहलने की आदत डालें।
  • खाने के दौरान पानी या अन्य पेय पीने से बचें।
  • धुम्रपान छोड़ें।
  • मसालेदार खाना कम करें।
  • शराब पीने से बचें।
  • देर रात खाने से बचें।
  • कसे हुए कपड़े न पहने।
  • तनाव दूर करने के लिए कदम उठाएं।

 

अगर आपको अचानक दस्त और अचानक अपच की समस्या हो रही है तो चिकित्सक से बात करें। साथ ही मलविसर्जन में खून निकलना, बहुत पीड़ा होना या वजन अचानक कम होने लगना जैसी समस्या है तो भी जल्द चिकित्सक से मिलें।

कई बार अचानक उठे अपच के लक्षण हार्ट अटैक के भी हो सकते हैं। इसलिए हमेशा अपच की समस्या से बचने की कोशिश करें तथा ऐसे लक्षण दिखने पर जल्द इमरजेंसी वार्ड पहुंचें।