क्या आपको गर्भवती होते हुए हवाई यात्रा करनी चाहिए?

47
Image Credits: Today

मेघन मैर्केल, इंग्लैंड के राजपरिवार की नवीनतम सदस्य ने हाल ही में एक शिशु को जन्म दिया। पर वे इससे कहीं पहले अपने गर्भवती होने के कारण सुर्खियां बटोर रही थीं।

शादी के बाद अमेरिका की उनकी पहली यात्रा प्रेसिडेंटस डे पर हुई जब वे सात महीने गर्भावस्था में रहते हुए भी हवाई यात्रा करते हुए विदेश पहुंची। यह उनके लिए निजी और राजनयिक यात्रा, दोनों ही थी लेकिन लोग जितना उनके एजेंडा में रूचि ले रहे थे उतना ही यह जानने के लिए भी उत्सुक थे की क्या गर्भावस्था में हवाई यात्रा करना सुरक्षित होता है?

इस सवाल का जवाब हर महिला के लिए ज़रूरी है। आइये जानें विशेषज्ञ इस बारे में क्या कहते हैं-

गर्भावस्था में हवाई यात्रा कर रही महिलाओं के लिए एक ही चिंता का बिंदु होता है- अगर यात्रा के दौरान कोई जटिलता आती है तो इसे कैसे संभाला जाएगा। ज़्यादातर मामलों में जटिलताएं पहली या तीसरी तिमाही में आती है लेकिन ये बाकी समय में भी आ सकती है।

एक खतरा प्रीटर्म डिलीवरी का होता है जब शिशु 37 हफ़्तों के पहले ही जन्म लेता है। अगर ऐसा हवाई जहाज में हो और कोई भी चिकित्सक या नर्स मौजूद न हो तो मुश्किल बड़ी हो सकती है।

पर आम तौर पर देखें, तो ज़्यादातर स्वास्थ्य संस्थाएं ऐसी यात्राओं की इजाज़त देती है जब तक गर्भ 36 हफ़्तों का न हो जाए। शर्त यह है की शिशु और माँ पूरी तरह स्वस्थ रहने चाहिए। 36 हफ़्तों के बाद कोई हवाई यात्रा नहीं की जानी चाहिए।

इसके अलावा अलग अलग एयरलाइन के अपने नियम होते हैं जिसके अनुसार गर्भवती महिला को यात्रा करने की इजाज़त दी जाती है। कई बार आपको यात्रा करने के लिए अपने चिकित्सक से सर्टिफिकेट लाने की ज़रूरत भी पड़ सकती है।

गर्भवती माँ को खून के थक्के जमने की सम्भावना भी ज़्यादा होती है। इसलिए अगर यात्रा लम्बी है तो आपको कुछ सावधानियां बरतनी होगी- भरपूर पानी पियें, ढीले कपडे पहनें तथा बीच बीच में टहलते रहें।

अंत में आपको ऐसे इलाकों की यात्राओं से बचना चाहिए जहाँ ज़ीका वायरस या अन्य महामारी फैली हो। गंतव्य की खबरों पर नज़र डालें तथा इस इलाके के हॉस्पिटल की सूचि निकालना न भूलें।