जानें कैसे मलाइका अरोरा ने पायी अपने साइनस से राहत 

158
Image Credits: Vogue India

साइनोसाइटिस साइनस के अंदरूनी कोशिकाओं में सूजन व् जलन से होने वाली बीमारी है। स्वस्थ साइनस हवा से भरे होते हैं वहीं संक्रमण होने पर इनमें कीटाणु बढने लगते हैं तथा इनमें तरल भर जाता है। इसका कारण अक्सर सर्दी, सूजन या नाक में तिरछापन होते हैं।

गंभीर साइनोसाइटिस में आपको सर्दी जैसे लक्षण रहते हैं जिसमें नाक जाम रहती है, बहती है तथा चेहरे पर दर्द बना रहता है। यह दर्द अचानक शुरू हो सकता है तथा दो से चार हफ्तों तक बना रहता है। बहुत गम्भीर सूजन होने पर यह लक्षण बारह हफ्तों तक भी बना रहता है। आपको साल में कई बात साइनोसाइटिस हो सकता है।

मलाइका अरोरा भी इसी तरह के गंभीर साइनस से पीड़ित रही हैं। वायरस से होने वाला यह रोग दवाओं की मदद से भी आसानी से खत्म नहीं किया जा सकता। लेकिन अचूक और प्राकृतिक उपचार के लिए मलाइका ने घरेलु नुस्खों का रुख किया और इसे जड़ से खत्म किया। गंभीर साइनस होने पर आपको बिना देर किये चिकित्सक से मिलना चाहिए। लेकिन किसी भी मामले में ये घरेलु उपाय आपको राहत ज़रूर देंगे-

  1. दिन में दो बार अपनी नाक के अंदरूनी हिस्से को धोएं। ऐसा करने से संक्रमण का असर कम हो जाएगा।
  2. गर्म पानी से नहाएं तथा ठंडे पानी का शावर बिलकुल न लें।
  3. aromatherapy भी साइनस के मरीजों के लिए बेहद प्रभावी साबित हुई है। विभिन्न तरह के तेल की खुशबू लेने से संक्रमण कारी कीटाणु कम होने लगते हैं तथा आपकी नाक खुलने लगती है।
  4. रोजाना सोते समय अपना सिर थोडा उपर रखें। ऐसा करने से तरल नाक में आकर जमा नहीं होगा। इस तरह आपकी नाक सोते हुए जाम नहीं होगी और भरपूर नींद ले पाएंगे।
  5. पीना का पानी आपकी समस्या को पूरी तरह खत्म कर सकता है। यह बीमारी और संक्रमण से लड़ने में भी बड़ी मदद करता है। हमेशा भरपूर पानी पियें तथा एक वाटर बोतल को अपने पास रखें।

ये सभी नुस्खे आपको साइनस के लक्षणों से निजात दिलाएंगे। पर अगर आपको बेहद गंभीर साइनोसाइटिस है या आपकी नाक का आकार टेढ़ा है तो आपको विशेषज्ञ के मार्गदर्शन की ज़रूरत होगी। डेवीएटेड सेप्टम की यह समस्या मलाइका अरोरा को भी थी जिन्होंने विशेषज्ञ का मार्गदर्शन लिया तथा 2011 में सर्जरी करवाई।