मसाले जो आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बेहतर करें

455
spices-for-loosing-weight
image credits: 1mhealthtips.com

खाने में मसाले सिर्फ स्वाद बढ़ाने के लिए नहीं डाले जाते, बल्कि इसके पीछे अनूठा विज्ञान है। मसाले कुदरत की वो खास देन हैं जिन्हें सही रूप में लेने पर आप कई लाभ पा सकते हैं। इन मसालों को नियमित रूप से आप अपने आहार का हिस्सा बनाकर शरीर को बीमारियों से मुक्त रख सकते हैं। (masale, spices good for immune system, for better health, sleep, skin, digestion in hindi )

 

आइये जानते हैं ऐसे ही कुछ मसालों को, जिनका नियमित उपयोग आपको बेहतर रोग प्रतिरोधक क्षमता देगा-

 

दालचीनी 

यह रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में चमत्कार की तरह काम कर सकती है। इसमें कीटाणु विरोधी, सन्सर विरोधी और माइक्रोब विरोधी गुण होते हैं। इतना ही नहीं, यह एंटीऑक्सीडेंट के मामले में कई सब्जियों से भी बेहतर है। यही वजह है की यह आपके शरीर को बीमारियों से बचा सकता है।

इन सभी लाभों के अलावा इसके सेवन से आपको मैंगनीज, फाइबर, कैल्शियम और आयरन भी मिलता है।

ध्यान रखें, दालचीनी का बहुत ज्यादा सेवन लीवर पर विपरीत असर डाल सकता है इसलिए इसे सीमित मात्रा में ही लें। अगर आप कैंसर के रोगी हैं, गर्भवती हैं या शिशु को दुग्धपान करवाती हैं तो इसका सेवन न करें।

 

अदरक/सौंठ 

अदरक में सुजन-विरोधी गुण होते हैं तथा यह शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट से भी भरपूर होता है। यह गुण इसे शरीर को रोगों से बचाने में मदद करते हैं।

देखा जाता है की कैंसर से उबरने में अदरक रोगी की मदद कर सकता है। लेकिन ध्यान रखें, चिकित्सक के परामर्श के बिना 4 ग्राम से ज्यादा अदरक एक दिन में न लें। अगर आप गर्भवती हैं तो यह मात्रा 1 ग्राम कर लें।

 

लहसुन 

लहसुन एक तरह सब्जी ही है लेकिन लोग इसे सुखाकर मसाले की तरह भी उपयोग करते हैं। यह कीटाणु विरोधी, फफूंद विरोधी तथा वायरस विरोधी गुण रखती है इसलिए बीमारियों से लड़ने में बेहद प्रभावी है।

इसमें सल्फर की मात्रा भरपूर होती है जिस के सेवन से शरीर को कैंसर की कोशिकाओं से लड़ने में मदद मिलती है। इसमें ट्युमर के विकास को रोकने के गुण भी हैं।

एक दिन में एक या दो लहसुन की कली लें। इसका एक प्रमुख घटक अल्सिन लहसुन को कूटने के एक घंटे के अंदर ही खत्म हो जाता है इसलिए कोशिश करें की इसका सेवन इस अवधि के अंदर ही कर लिया जाए तथा गार्लिक पिल्स के भरोसे न रहा जाए।

 

काली मिर्च 

काली मिर्च के गुणों पर हुए कई शोधों में पाया गया की यह रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है तथा ट्युमर को भी खत्म करता है। इस तरह स्वस्थ शरीर के लिए काली मिर्च आपके आहार का हिस्सा ज़रूर होना चाहिए।

एक अन्य शोध में पाया गया की काली मिर्च से पाचन तन्त्र बेहतर होता है तथा चर्मरोग भी दूर होते हैं। साथ ही इसमें मलेरिया का कारण माने जाने वाले पैरासाइट को खत्म करने के भी गुण हैं।

काली मिर्च पर हुए कई शोध दिखाते हैं की यह सुजन विरोधी, एंटीऑक्सीडेंट, कीटाणु विरोधी और बुखार कम करने वाला गुण रखती है और आपके शरीर को रोगों से बचाती है।

 

हल्दी 

हल्दी को लम्बे समय से कई बीमारियों की अचूक दवा माना जाता रहा है। इसमें सुजन कम करने तथा कैंसर से बचाने के बेहतरीन गुण होते हैं और कर्कुमिन नामक एक सक्रीय घटक भी होता है। देखा जाता है की इन सभी गुणों की बदौलत हल्दी स्तन , प्रोस्टेट, आंतें, पैंक्रियास आदि के कैंसर से बचा सकती है।

साथ ही कर्कुमिन शरीर में मृत कोशिकाओं को बाहर करने की प्रक्रिया को भी तेज़ करता है जिससे शरीर क्षतिग्रस्त कोशिकाओं से आज़ाद हो सके।