जानिए नेचुरल स्वीट्नर स्टेविया के स्वास्थ्य लाभ व उपयोग करने के तरीके

2613
stevia-plant-powder
image credits: Live Science

स्टेविया (stevia benefits diabetes) की खेती कई देशों में की जाती है, लेकिन वर्तमान में चीन इसका प्रमुख निर्यातक है। स्टेविया जैव-विविधता में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है क्योंकि इसकी खेती के लिए बहुत कम भूमि की आवश्यकता होती है जो किसानों को फसलों में विविधता की अनुमति देता है। स्टेविया की खेती कमोडिटी फसलों के विपरीत छोटे-2 भूखंडों पर होती है। यह पूरक आय प्रदान करता है। स्टेविया में तीव्र मिठास होती है। स्टेविया की पत्तियों की मिठास उनमें उपस्थित ग्लाइकोसाइड तत्व के कारण होती है। ये ग्लाइकोसाइड स्टेवियोसाइड, रेबौडियोसाइड A, C, D, E तथा F हैं।

स्टेविया के स्वास्थ्य लाभ:

1. स्टेवियोल ग्लाइकोसाइड में शून्य कैलोरी होती है। स्टेविया आधारित मिठाइयों में शून्य या कम से कम कैलोरी की मिठास होती है। इन कारणों से ये वजन को नियंत्रित या मधुमेह का प्रबंधन करने के लिए सकारात्मक उपयोगी होता है।

2. डायबिटीज में: इसकी मिठास कैलोरी तथा कार्बोहाइड्रेट में इजाफा नही करती मतलब यह खून में शर्करा की मात्रा को नही बढ़ाती है।

3. वजन नियंत्रित करने में: चीनी खाने से उसका 16% भाग कैलोरी बढ़ाता है। जबकि स्टेविया को मिठास के घटक के रूप में प्रयोग करने से ये कैलोरी में इजाफा नही करता है।

4. रक्त-चाप: स्टेविया निम्न रक्तचाप में बहुत असरकारक होती है।

मधुमेह (Diabetes) के रोगियों के लिए लाभदायक है ईसबगोल की भूसी

स्टेविया का उपयोग:

स्टेविया के पत्तियों की मिठास का प्रयोग चॉकलेट में किया जाता है। वर्तमान में दुनिया भर में 5000 से अधिक खाद्य और पेय उत्पादों स्टेविया का उपयोग एक घटक के रूप में किया जाता है। स्टेविया की मिठास एशिया और दक्षिण अमेरिका के निम्न उत्पादों जैसे आइसक्रीम, डेसर्ट, सॉस, दही, मसालेदार खाद्य पदार्थ, रोटी, शीतल पेय, च्यूइंग गम

कैंडी, समुद्री भोजन तथा तैयार सब्जियों में एक घटक के रूप में इस्तेमाल किया जाता है।

आइये देखते हैं स्टेविया के पत्तो को उपयोग करने के कुछ तरीके:

1- स्टेविया के ताजे पत्तो को पेय पदार्थों या मिठाई में मिठास के लिए प्रयोग किया जा सकता है। कुछ स्टेविया और पुदीने के पत्तो को उबलते हुए पानी में डाल कर एक हर्बल चाय बनाई जा सकती है। स्टेविया की पत्तियों को खाने-पीने वाली चीजों पर सजावट की तरह इस्तेमाल किया जा सकता है।

मीठा खाने का मन करता है तो गुड़ खाइए– स्वाद भी, सेहत भी

2- स्टेविया के पत्तो को सुखाकर मीठे पाउडर की तरह इस्तेमाल कर सकते हैं। पत्तो को गर्म तथा सूखी जगह पर सुखा कर उन्हें पीस लें फिर उसे हवा बंद डब्बे में भर कर रख दें। लेकिन यह काफी मीठी होती है तो ध्यान रखें की 2 चम्मच स्टेविया के पत्तों का पाउडर 1 कप चीनी के बराबर होता है।

3- सूखे स्टेविया के पत्तों का पाउडर ड्रिंक्स, सिरप इत्यादि को मीठा करने के लिए प्रयोग कर सकते हैं। ¼ कप स्टेविया की ताज़ी कटी पत्तियों में 1 कप गरम पानी मिलाएं, इस मिश्रण को हवा बंद डब्बे में भर कर 24 घंटे के लिए छोड़ दें फिर इस पानी को छान लें। इस पानी को धीमी आंच पर पका कर कम कर लें अब आप इसे कई सालों तक फ्रिज में रख सकते हैं।

मधुमेह रोगी करें इन सब्जियों व फलों का सेवन