इन तेलों का उपयोग कर बचें स्किन बर्न से और पाएं प्राकृतिक कांति

2059
sun-protection-oil
image credit: Beauty Woman

खूबसूरत और दमकती त्वचा पाने का सबसे अच्छा तरीका है (essential oils for skin care acne, face) कुछ देर धूप में बैठकर त्वचा को विटामिन D का पोषण देना। सीमित अवधि के लिए त्वचा को धूप देना इसे खूबसूरत बनाता है पर यह अवधि लम्बी हो जाये तो त्वचा को नुकसान भी पहुंच सकता है। इससे बचने के लिए हमें सनस्क्रीन लगाने का सुझाव दिया जाता है पर हाल ही में इनसे होने वाले बहुत से गंभीर दुष्प्रभाव देखे जा रहे है। इन सभी समस्याओं से बचने का प्राकृतिक

विकल्प एसेंशियल ऑयल्स हैं।

 

गोरी त्वचा को सांवली त्वचा के मुकाबले कम अवधि तक धूप में रहने की ज़रूरत होती है क्यूंकि गोरी त्वचा जल्द ही UV किरणों को विटामिन D में बदल लेती है। आपकी त्वचा जैसी भी हो, तेल या लोशन लगाने से पहले त्वचा को अच्छी तरह साफ़ कर एक्सफोलिएट करें। इस तरह आपकी त्वचा तेल अच्छी तरह सोख लेगी तथा सभी अंगों का रंग समान बना रहेगा।

 

धूप से बचाने के लिए प्राकृतिक टैनिंग ऑयल्स-(skin tanning treatment at home in hindi) 

 

अवोकेडो का तेल- (avokedo oil)

बिना रिफाइन किया गया कोल्ड-प्रेसड अवोकेडो का तेल आपकी खुश्क त्वचा को ज़रूरी अम्ल, विटामिन और लेसिथिन देकर चमत्कारिक प्रभाव डाल सकता है।

 

नारियल का तेल- (coconut oil)

अगर आपकी त्वचा संवेदनशील है तो नारियल का तेल का सर्वश्रेष्ठ विकल्प है। अन्य कई तेल खुजली या एलर्जी की समस्या खड़ी कर सकते हैं। नारियल का तेल भी ज़रूरी अम्लों से भरपूर है तथा SPF4 होने की वजह से सूर्य की किरणों से बचाव भी करता है।

 

एलो-वेरा या ग्रीन टी का अर्क-

धूप के दुष्प्रभावों से बचने के लिए हमें ऐसी सामग्रियों का उपयोग करना चाहिए जो एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर हो और ठंडक प्रदान करे। एलो-वेरा और ग्रीन टी का अर्क ऐसी ही सामग्रियां हैं। ये दोनों ही आपकी त्वचा को ठंडक पहुँचाकर धूप के दुष्प्रभावों को खत्म करते हैं। इनमें तेल मिलाकर आप खुश्क त्वचा से भी मुक्ति पा सकते हैं।

 

अखरोट का तेल- (akhrot ka tel)

अखरोट का तेल विटामिन E से भरपूर होता है। यह प्राकृतिक टैनिंग ऑयल्स में से सबसे प्रचलित है। इसे त्वचा आसानी से सोख लेती है तथा इसमें ज़रूरी अम्लों की भरपूर मात्रा होती है।

 

जैतून का तेल-(jaitun ka tel)

ओलिव आयल भी विटामिन E से भरपूर होता है और त्वचा को मॉइस्चराइज करने के साथ ठंडक भी प्रदान करता है। इसे लगाने से आपकी त्वचा में एक सुनहरी चमक आ जाती है। जैतून के तेल में कुछ बूंदे गाजर के रस मिलाने से आपकी त्वचा का रंग हल्का गहरा और दमकता हुआ हो जाएगा।

 

अंकुरित गेंहू का तेल(wheat germ)-

wheat germ आयल त्वचा को प्रभावी ढंग से ठंडक पहुँचाकर एक सुनहरी दमक देता है। यह विटामिन A, D और E से भरपूर है। इन विटामिन से आपकी त्वचा कोमल और जवां हो जाती है तथा सूर्य की किरणों के असर खत्म हो जाते हैं। इस तेल के उपयोग से झुर्रियां और झाइयाँ भी खत्म होती है।

 

सूरजमुखी का तेल- (sunflower oil)

एक अच्छा मॉइस्चराइजर होने के साथ ही सूरजमुखी का तेल अच्छा टैनिंग आयल भी है। यह त्वचा को जवां बनाए रखता है तथा झुर्रियों को खत्म करता है।

 

तिल का तेल-(til ka tel)

SPF 4-6 वाला तिल का तेल बहुत गाढ़ा, चिपचिपा और तीखी खुशबु वाला होता है इसलिए इसे बहुत थोडा उपयोग करें। इसे आप नारियल के तेल में मिलाकर भी उपयोग कर सकते हैं।

 

मिश्रित तेल-(mix oil)

और भी बेहतर असर पाना चाहते हैं तो घर पर ही तेलों का मिश्रण तैयार करें।

 

80 मिली नारियल का तेल, 10 मिली सूरजमुखी का तेल, 5 मिली तिल का तेल और 5 मिली जैतून का तेल मिला लें। इसे घर से बाहर निकलने से पहले लगाने से आपकी त्वचा पर एक गहरी आभा आ जाती है। यह मिश्रण SPF 4 देता है।

और भी पोषक और क्षतिपूर्ति करने वाला मिश्रण इस प्रकार तैयार होगा- ऊपर तैयार तेल में 10 मिली रोजहिप तेल और 3 मिली गाजर के बीज का तेल मिला दें।

लोशन बनाना चाहते हैं तो 10 मिली मधुमोम और 20 मिली एलोवेरा भी बना सकते हैं।