जो़ड़ों का दर्द, सूजन व मानसिक रोगों के ईलाज में लाभदायक आयुर्वेदिक औषधि – पुनर्नवा 

5217
Punarnava
image credits: Spice Flair

पुर्ननवा संस्कृत के दो शब्द पुनः अर्थात ‘फिर’ और नव अर्थात ‘नया’ से बना है। (punarnava powder benefits in hindi) पुर्ननवा औषधि में भी अपने नाम के अनुरूप ही शरीर को पुनः नया कर देने वाले गुण पाए जाता है। इसलिए इसे रोगों से लड़ने से लेकर कैंसर के इलाज तक में उपयोग किया जाता है।

 

पुनर्नवा के पौधे का हर हिस्सा औषधि के रूप में उपयोग किया जा सकता है जिसके फायदे इस प्रकार है –

 

  1. पुनर्नवा रक्तशोधन में उपयोग किया जाता है। यह रक्त से विषैले पदार्थों को दूर कर कई रोगों को नष्ट कर देता है।

 

2. पुनर्नवा का उपयोग जोड़ों के दर्द से निजात दिलाता है। यह किसी भी तरह के आर्थराइटिस में उपयोगी साबित होता है।

 

3. पुर्ननवा सूजन ठीक करने के लिए रामबाण औषधि है। यह ओएडेमा या ऐसी सूजन जिसमे त्वचा के अंदर पानी भर जाता है , में भी प्रभावी होता है।

4. पुनर्नवा शरीर को ऊर्जा देता है। यह मांसपेशियों को मज़बूत कर कमज़ोरी और दुबलापन दूर करता है।

5. पुनर्नवा पेट से जुडी बीमारियों को दूर करता है। आँतों में ऐठन, अपच और पेट में ज़रूरी अम्लों की कमी जैसे रोगों में यह जल्द आराम दिलाता है।

6. पुनर्नवा कफ और संकुलन पैदा करने वाले कारकों को दूर करता है। यह ब्रोंकाइटिस में अवरोध को दूर कर साँस लेने में मदद करता है। अस्थमा जैसे रोगों में भी यह निजात दिलाता है।

7. किसी भी तरह के चर्मरोग जैसे दाग, धब्बे, छाई , चोट के निशान आदि पर पुनर्नवा के जड़ को पीस कर लेप बनाकर लगाएं। कुछ ही दिनों में आप रोग को दूर होता पाएंगे।

8. मानसिक कमज़ोरी, भूलने की बीमारी, तनाव, अवसाद और मनःरोगों में पुनर्नवा का सेवन राहत देता है।

9. पैरालिसिस, शरीर के किसी विशेष हिस्से का सुन्न पड़ना और मांसपेशियों में कमज़ोरी आना जैसी समस्याएं भी पुनर्नवा के सेवन से दूर होती है।

10. पुनर्नवा उपयुक्त वज़न बनाये रखने में मदद करता है। यह अतरिक्त वसा कम करता है तथा दुबलेपन को भी दूर करता है।

11. पुनर्नवा का नियमित सेवन मूत्रप्रवाह को सुचारू कर शरीर को स्वस्थ और स्वच्छरखता है। यह कोशिकाओं में तरल पदार्थ के प्रवाह को भी बेहतर करता है।

आजकल बहुचर्चित डिटॉक्सिफाइंग आहार नियम, जो शरीर से विषैले पदार्थों को दूर कर लिवर को पुनः जीवंत करता है , में पुनर्नवा भी प्रभावी असर डालता है। किसी चिकित्सक के परामर्श से इसे अपने आहार या औषधि शैली में शामिल करें और आरोग्य की ओर बढ़ें। 

 

पुनर्नवा के ये चमत्कारिक प्रभाव शेयर करना न भूलें।