बार बार जम्हाई आना संकेत हो सकता है शरीर के लिए गंभीर खतरा

1050
yawning
image credits: www.indiasamvad.co.in

बार-बार जम्हाई आने की समस्या की वजह को आप देर रात सोना, शराब पीना, नींद की कमी या उबाऊ काम आसानी से बटा सकते हैं। पर कई बार बहुत जम्हाई आना किसी बड़ी समस्या की ओर इशारा हो सकता है।

 

जम्हाई आना एक प्राकृतिक क्रिया है जो थकान का इशारा है पर अगर आपको अक्सर जम्हाई आती रहती है तो आपको ये समस्याएँ भी हो सकती हैं-

 

आपके रक्तचाप और धडकन की दर में गिरावट 

जब आपके स्नायु तन्त्र के उस हिस्से में समस्याएँ पैदा हो जाती हैं जो आपके ह्रदय की धडकन को नियंत्रित करता है तो आपको ऑक्सीजन की कमी की वजह से जम्हाई आ सकती है। जब आप तनाव में होते हैं तो भी यह हो सकता है।

 

कुछ दवाएं 

कई दवाएं आपको नींद ला सकती हैं जिस वजह से जम्हाई भी आ सकती है। इनमें एंटीडिप्रेसेंट, नींद की गोली आदि शामिल हो सकते हैं।

 

लीवर के रोग 

लीवर के रोग के आखरी चरण में आपको बहुत ज्यादा जम्हाई की शिकायत हो सकती है। इस रोग में आपको आलस आ सकता है, शरीर थकान महसूस कर सकता है तथा ऑक्सीजन की कमी के चलते जम्हाई की ज़रूरत पड़ सकती है।

 

स्क्लेरोसिस 

शोध दर्शाते हैं की स्क्लेरोसिस की समस्या होने पर अत्यधिक जम्हाई आने की शिकायत हो सकती है। इसकी वजह शरीर का तापमान नियत्रित न कर पाना होता है। जम्हाई लेने से आपके शरीर का तापमान कम हो जाता है।

 

नींद से जुड़े रोग (सिर्फ नींद की कमी नहीं)

अनिद्रा या गहरी नींद न लगना जैसी समस्याएँ भी आपको थकान दे सकती हैं जिसकी वजह से जम्हाई आती है।

 

ब्रेन ट्युमर 

शोध दिखाते हैं की दिमाग में ट्युमर होने पर दिमाग का तने समान हिस्सा चोट ग्रस्त हो जाता है जिससे पिट्यूटरी ग्रन्थि पर दबाव बनता है। इस वजह से भी अय्धिक जम्हाई की शिकायत रहने लगती है।

 

आपके रक्त में ग्लूकोज़ की गिरावट 

मधुमेह होने पर कई बार दवाओं और परहेज़ के कारण रक्त में ग्लूकोस का स्तर बहुत कम हो जाता है तथा 72 mg/dl के भी नीचे पहुँच जाता है। ऐसा होने पर आपको अत्यधिक जम्हाई आ सकती है।


दिमाग का गरम हो जाना 

ऑक्सीजन की पूर्ति करने के अलावा जम्हाई का मुख्य काम शरीर को प्राकृतिक रूप से ठंडा करना भी होता है। गहरी सांस लेने पर ठंडी हवा शरीर के अंदर प्रवेश करती है जिससे रक्त तक ठंडक पहुँचती है। अगर आपका खून इतना गर्म हो जाए की दिमाग से सहन न हो तो भी आपको जम्हाई आने लगती है।


दुर्लभ मामलों में एपिलेप्सी के लक्षण 

एपिलेप्सी में आपके दिमाग को स्थाई क्षति होती है जिससे यह संकेत भेजने की अपनी क्षमता खोने लगता है। ऐसा होने पर आपको अत्यधिक जम्हाई आ सकती है। यह कारण दुर्लभ है और बहुत कम मामलों में ही जम्हाई की वजह बनता है।