संतुलित जीवन

753
balance-life
image credits: Tiny Buddha

हम सभी के जीवन में ऐसे पल आते हैं जब हमें लगता है की हमारे कार्य और जीवन के बीच संतुलन बैठना मुश्किल हो रहा है। काम छोटा हो या बड़ा, इसके प्रति समर्पण और संकल्पित मन रखने के प्रभाव कई बार हम जीवन पर देखने लगते हैं। और फिर मन में सवाल उठता है की इस स्थिति में क्या किया जाए।

 

अक्सर देखा जाता है की सफल व्यक्ति अपने जीवन के सात आधार- स्वास्थ्य, परिवार, समाज, वित्तीय, व्यापार , नगरीय और अध्यात्म के बीच संतुलन बनाने की लगातार कोशिश करते हैं तथा इन्हीं मापों पर खुद को नापते हैं। वे कोशिश करते हैं की इन सभी बिन्दुओं को बराबर महत्व दिया जाए और एक संतुष्ट और बेहतर होती ज़िन्दगी का आनंद लिया जाए।

 

इन सात स्तम्भों को बराबर महत्व देना ही संतुलित जीवन कहलाता है। आप भी जीवन के इस संतुलन को पाने की कोशिश कर सफलता का आनंद ले सकते हैं, ज़रूरत है तो बस नीचे दिए सूत्रों को अपनाने की-

 

शारीरिक स्वास्थ्य 

आप चाहे कोई कार्य कर रहे हों, थोड़ी व्यस्तता आते ही एक्सरसाइज और आहार से ध्यान हटना स्वाभाविक है। पर कई बार हम यह भूल जाते हैं की सफलता का आनंद दरअसल स्वस्थ शरीर से ही पाया जा सकता है। इसलिए बहुत ज़रूरी है की आपका शरीर हर वो चीज़ करने के लायक हो आपको काम और जीवन के लिए ज़रूरी है। इसी क्षण खुद से पूछें की किन वजहों से आप व्यायाम पर ध्यान नहीं दे रहे हैं। इसका जवाब पूरी ईमानदारी से ढूढें और इस वजह को हटाने की कोशिश भी करें। दिन का एक आधा घंटा व्यायाम में देना और दिनभर आहार के बेहतर विकल्प चुनना आपके जीवन में बड़ा बदलाव ला सकते हैं।

 

परिवार

अपने परिवार के साथ बिताए गये समय के बारे में सोचें-क्या यह समय संतुलित है? आपके साथी, बच्चों और माता-पिता के साथ आपके सम्बंध कैसे हैं? इन सवालों के जवाब पूरी ईमानदारी से ढूंढें और इसे बेहतर करने की कोशिश भी करें। आपका परिवार आपके करीबी लोगों का एक बड़ा हिस्सा है जो ज़रूरत पड़ने पर हमेशा आपका साथ देगा। इसलिए कोशिश करें की रिश्तों में आई छोटी दरारों को भी समय देकर भरें।

 

सामाजिक 

आपके दोस्तों का नेटवर्क कितना मजबूत है? क्या आपके पास ऐसे लोग हैं जिनके साथ आप लगभग रोज़ाना मिलने या खेलने जाते हैं? अगर नहीं तो आज से ही ऐसे दोस्त बनाने की कोशिश करें। यह आपको कई तरह से मदद करेगा और शोध के अनुसार लम्बे जीवन का सुख भी देगा। कोशिश करें की जीवन के इस पहलु को आप न भूलें।

 

वित्तीय 

पैसा जीवन में अहम् भूमिका अदा करता है यह बात हम सभी जानते हैं। क्या आपने अपनी अब तक की कमाई पर नजर डाली है? क्या आप आज जिस राह पर हैं वह आपको एक सहज जीवन और रिटायरमेंट दे सकती है। क्या आपके जीवन में वित्तीय सम्पत्ति बढ़ रही है या कम होती जा रही है? इन सभी सवालों का जवाब ढूंढें और कुछ गलत लगे तो बदलाव लाने से न डरें। एक सफल वित्तीय जीवन का मूलमंत्र है की आपके पास इतने पैसों हों की आप जीवन में कुछ विकल्पों का चुनाव कर सकें। अगर आप बहुत मेहनत कर रहे हैं लेकिन आमदनी आपको बेहतर जीवन नहीं दे पा रही है तो आपको जल्द कुछ बदलावों की ज़रूरत है।

 

व्यापार 

आप चाहे खुद व्यापार करते हैं या करियर को सीढ़ी चढ़ रहे हैं, खुद से यह सवाल पूछें- हर रोज़ काम पर जाते हुए आप कितना उर्जावान महसूस करते हैं? क्या आप उत्सुक हैं या फिर एकरसता से परेशान हैं। आपके कार्य और कार्यक्षेत्र का प्रदर्शन कैसे है? इन सवालों का जवाब आपको बताएगा की आपकी कितनी मेहनत दरअसल आपको फायदा दे रही है तथा कितनी उर्जा बेकार जा रही है।

 

नगरीय 

अपने समुदाय के जिन पहलुओं की आप परवाह करते हैं, उनके लिए आप क्या कर सकते हैं तथा क्या करते हैं? यह कार्य स्वयंसेवा भी हो सकता है या लोगों को फुटबॉल सिखाना भी। यह आपकी जागरूकता और कृतज्ञता दर्शाता है। अगर आपने अब तक ऐसा कोई कार्य नहीं किया है तो आज से ही शुरू करें। जल्द ही आप जीवन के उस जुड़ाव को महसूस करेंगे जो इंसान को एक सामाजिक प्राणी बनाता है।

 

अध्यात्म 

आखरी रुख है आपका आध्यात्मिक पहलु। यह कुछ भी हो सकता है- आप पास के जंगलों में ठंडी हवा में खो सकते हैं या हफ्ते में एक बार अपने भगवान से जुड़ सकते हैं। जब आप सबसे ज्यादा निराश या थके हुए हों तो भी यह आदत आपको खुश कर सकती है। प्रकृति या ईश्वर से अपने जुड़ाव पर दोबारा सोचें और इसे मजबूत करने के लिए कदम बढाएं।