इस तरह घर पर बनाएं शुगर-फ्री दिवाली के मिष्ठान

1265
sugar-free-sweets
image credits: Mix and Stir

भारत में सभी उत्सवों पर मिठाइयों का विशेष महत्व होता है। (Sugar free sweets recipe indian for diwali) इस दौरान लोग काजू कतली, लड्डू, गुलाब जामुन आदि मिष्ठान बांटते भी हैं और लुत्फ़ भी उठाते हैं। पर इसी समय मधुमेह व् अन्य बीमारियों के रोगी को बहुत सावधानी बरतनी पडती हैं ताकि स्वास्थ्य पर किसी भी तरह का दुष्प्रभाव न पड़े।

 

डायबिटिक होने का मतलब ये नहीं की आपको मिठाई पूरी तरह छोडनी पड़ जाए। आप मिठाई का सही चुनाव करें तथा सीमित मात्रा में व्यंजन खाएँ। मलाइदार दूध की जगह लो-फैट दूध का उपयोग करें। शक्कर की जगह गुड, खजूर व् अन्य प्राकृतिक मिठास के स्रोतों को ढूढें।

 

आपके स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए हम आपके लिए ऐसे चुनिन्दा व्यंजन लाए हैं, जिन्हें आप आसानी से घर में तैयार कर त्यौहार की चिंता कम और आनंद बढ़ा सकते हैं-

 

रागी नारियल लड्डू-

रागी के आटे से बनने वाले ये लड्डू बहुत ही लोकप्रिय है। ये स्वादिष्ट होने के साथ ही फाइबर, मिनरल और प्रोटीन से भी भरे हैं जो मधुमेह के रोगियों के लिए खुशखबरी है।

 

1 कप रागी का आटा लें। इसमें पानी छिडकते हुए अच्छी तरह मिलाएं जिससे कोई भी गांठें न रह जाएँ। मिश्रण थोडा गाढ़ा पेस्ट बन जाएगा। अब इसमें 1/4 कप नारियल चुरा/किस डालकर मिला लें। इस मिश्रण को 10-15 मिनट तक भाप में पका लें। इसके बाद इसे एक ट्रे/प्लेट में फैला कर ठंडा होने दें। 1/4 कप चुरा किया हुआ गुड इस मिश्रण में डालें। चाहें तो 1/4 कप मूंगफली के भुने दाने भी मिलाए जा सकते हैं। सभी चीज़ों को अच्छी तरह मिला लें। इसके थोड़े=थोड़े हिस्से लेकर गोल लड्डू बना लें। ठंडा होने पर इसके स्वाद का आनंद लें।

 

रागी मालपुआ-

ये मालपुए का एक हेल्थी रूप है जिसे आप ज़रूर पसंद करेंगें। इसमें डाले रागी, दलिया और आटा आपको ग्लानी मुक्त रखेंगे। अक्सर मालपुए डीप फ्राई किए जाते हैं पर आप चाहें तो इन्हें एक नॉन स्टिक बर्तन में न्यूनतम तेल के उपयोग से बना सकते हैं।

 

2 चम्मच खरबूजे के बीज और 2 चम्मच किसा नारियल 2 मिनट तक तवे पर सेकें। आंच से हटा कर इसमें 1/2 चम्मच इलायची पाउडर और 1 चम्मच शहद डालें। अच्छी तरह मिलाएं। भरावन के लिए मसाला तैयार है। मालपुए के लिए 4 चम्मच रागी आटा, 2 चम्मच गेंहू का आटा, 1 चम्मच पिसी दलिया और कुछ चम्मच दूध डालकर थोडा पतला पेस्ट बना लें। अब अपनी पसंद के अनुसार शक्कर/ गुड/ फलों की मिठास मिलाएं। दुबारा अच्छी तरह फेटें। अब एक पैन में 1 चम्मच राइस ब्रान आयल लें। मालपुए के पेस्ट को एक चम्मच में लेकर गर्म तेल में डालें। मालपुए का रंग भूरा होने तक सेकें। जब मालपुआ किनारा छोड़ने लगे तो इसे पलटकर दूसरी तरफ से सेकें। इसे एक प्लेट में रखें। बीच में भरावन रखकर रोल बनाएँ। ऊपर से अनार के दाने रखकर सर्व करें।

 

शुगर-फ्री फिरनी-

फिरनी चावल से बनी एक पुडिंग होती है जिसे दूध में धीमी आंच पर बहुत देर तक पकाया जाता है। इस तरह पकाने से मिठाई में पिस्ता और बादाम का स्वाद घुलने लगता है तथा रोज एसेंस की खुशबू इसे दिवाली के लिए उपयुक्त मिष्ठान बना देती है।

 

1/3 कप चावल को गर्म पानी में 30 मिनट के लिए भिगो दें। अब पानी निकालकर चावल को मिक्सर में महीन पीस लें। ज़रूरत पड़ने पर थोडा दूध भी डालें। 5 कप दूध एक भारी तले के बर्तन में उबालें। पीसे चावल डालकर दूध में एक बार और उबाल लाएं। अब आंच धीमी कर लगातार चलाते हुए मिश्रण को पकने दें। धीरे-धीरे चावल घुलकर दूध में पूरी तरह मिल जाएँगे। इसमें 20-25 मिनट का समय लगेगा। अब आंच बंद कर 5 इलायची का पाउडर और पसंद की शक्कर डालें। इस फिरनी को दो भागों में बाटें। एक में 4-5 पिसे पिस्ता का पेस्ट डालें तथा दुसरे में कुछ बूँद रोज एसेंस (गुलाब का अर्क) डालें। सफ़ेद फिरनी(गुलाब युक्त) को फ्रिज में रखकर जमाएँ तथा दूसरी फिरनी को सामान्य तापमान में रख दें। जब सफ़ेद फिरनी सेट हो जाए ऊपर से हरी फिरनी डालें। वर्क और बादाम से सजाकर सर्व करें।

 

सेब की खीर-

त्योहारों के मौसम में खीर का ज़िक्र न हो ये कैसे हो सकता है। सेब, गुड, दूध और मेवों से बनी ये गाढ़ी खीर आपके अरमानों पर पूरी तरह खरी साबित होगी। खजूर का गुड इस खीर को बहुत लुभावना स्वाद देगा इसलिए आप चाहें तो गुड की जगह इस विकल्प को अपना सकते हैं।

 

5 बड़े सेब को धोकर छील लें। इसे काटकर बीजों को हटा दें तथा फ्रिज में ठंडा होने रख दें। एक कुकर में 1 कप भुने हरे चने और 3 कप पानी डालकर 3 सीटी आने तक पकाएं। अब एक नॉन-स्टिक बर्तन में गुड और 1 चम्मच इलायची पाउडर रखें तथा पिघलने पर पकाएं। इसमें पके चने और सेब के टुकड़े डालें और अच्छी तरह मिलाएं। 1 कप दूध/नारियल का दूध डालकर उबालें। खीर तैयार है। मेवों से सजाकर परोसें।

 

सौन्देश-

मीठे पनीर, इलायची और केसर से बनने वाली यह बंगाल की विशेषता आपकी दिवाली में मिठास घोलने के लिए काफी है। ये कम शक्कर से तैयार की जा सकती है और गुड आदि के साथ भी खूब जंचती है।

 

150 ग्राम पनीर, 1/2 कप खोया और 6 चम्मच शक्कर या गुर को आपस में तब तक मिलाएं जब तक मिश्रण एकसार न हो जाए। इसके लिए आप मिक्सर या कटोरी के नीचे के भाग की मदद भी ले सकते हैं। इसमें अब 4 पीसी इलायची डालें तथा आधा इंच मोटी परत में फैला दें। इसे जम जाने तक ठंडा करें फिर मनचाहे आकार में काट लें। ऊपर से सजाकर परोसें।