हृदय, डॉयबिटीज, तेज़ दिमाग हो या त्वचा, इन सबका ख्याल रखता है सूरजमुखी के बीजों का नियमित सेवन

4641
sunflower-seeds-benefits
image credits: food.ndtv.com

शोध में यह पाया गया है की जो लोग बीजों और मेवों का सेवन करते हैं वो ह्रदय सम्बन्धी विकारों से दूर रहते हैं। (surajmukhi seeds benefits) सूरजमुखी के बीज भी सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं। पीले रंग के इस फूल के बीज के साथ साथ अन्य भाग स्वस्थ के लोए लाभकारी होते हैं। यह फूल अमरीका का देशज है पर रूस, अमरीका, ब्रिटेन, मिस्र, डेनमार्क, स्वीडन और भारत आदि अनेक देशों में आज उगाया जाता है। इसका नाम सूरजमुखी इस कारण पड़ा कि यह सूर्य और ओर झुकता रहता है, हालाँकि प्राय: सभी पेड़ पौधे सूर्य प्रकाश के लिए सूर्य की ओर कुछ न कुछ देर झुकते हीं हैं। सूरजमुखी का सूर्य की ओर झुकना आँखों से देखा जा सकता है।

सूरजमुखी के बीज पोषक तत्वों से भरपुर होते हैं। सूरजमुखी में पाये जाने वाले कुछ मुख्य तत्वों में से विटामिन ई, विटामिन बी3, बी4, फॉस्फोरस, थाइमिन और सेलेनियम मुख्य हैं। एक चौथाई कप सूरजमुखी के बीजों के सेवन से आप 16 ग्राम वसा, 4 ग्राम फाइबर, 6 ग्राम प्रोटीन और 190 कैलोरी पाते हैं। इसके सेवन से आप दिन भर के लिए जरुरी सभी जरुरी पोषक तत्व जैसे विटामिन ई और कॉपर की पूर्ती क्रमश 82% और 70% तक करता है। सूरजमुखी के बीजों में पाये जाने वाले और भी ऐसे खनिज और पोषक तत्व है जिनका सेवन पोषण के लिए जरुरी है। ये खनिज तत्व हैं मैंगनीज, ज़िंक, आयरन फोलेट और कुछ अन्य फेरती एसिड. आईये आज आपको हम सूरजमुखी के और भी ऐसे गुणों के बारे में बताते हैं जिसकी वजह से हम बहुत सारी स्वास्थ सम्बन्धी तकलीफो को दूर कर सकते हैं।

1. ह्रदय तथा रक्तवाहिकाओं को मजबूत बनाता है – शोध के अनुसार ये पता लगा है की इन्फ्लमैशन से बहुत सारी ह्रदय सम्बन्धी बीमारियां होती हैं. सूरजमुखी के बीजों में बहुतायत मात्र में एंटी इंफ्लेमेटरी कंपाउंड और एंटी ऑक्सीडेंट पाये जाते हैं। सूरजमुखी में पाया जाने वाला विटामिन इ धमनियों और रक्तवाहिकाओं में मौजूद हानिकारक तत्वों को दूर करता है और हृदयाघात जैसी स्थिति से रोकता है। इसके साथ साथ कृषि और फ़ूड केमिस्ट्री के एक पत्रिका के रिपोर्ट के अनुसार सूरजमुखी के बीजों में फीटोस्टेरॉल नामक तत्व पाया जाता है जो शरीर में कोलेस्ट्रोल की मात्र काम करता है और ह्रदय और रक्तवाहिकाओं को मजबूत बनाता है।

2. सूरजमुखी के बीजों में पाये जाने वाले शक्तिशाली एंटी ऑक्सीडेंट तत्व कैंसर जैसी बीमारियों के साथ-साथ और भी विषाणु (Virus) जनित बीमारियों के रोकथाम में सहायक होता है। सूरजमुखी के बीज में पाये जाने वाले कुछ तत्त्व इतने असरदार होते हैं की वो कैंसर के शुरुवाती दौर में होने वाले ट्यूमर को रोक सकते हैं। इन तत्वों में डीएनए को ठीक करने के साथ साथ शरीर में बाधा पहुँचाने वाली अतिरिक्त कोशिकाओां को जड़ से हटाने की भी शक्ति होती है। विटामिन इ प्रोस्टेट कैंसर में बहुत मारक साबित होता है और हाल ही में टेक्सेस वूमन यूनिवर्सिटी में हुए एक शोध में पता चला है की विटामिन इ महिलाओं में होने वाले फेफड़े के कैंसर को भी बहुत हद तक होने से रोकता है। सूरजमुखी के बीजों में पाया जाने वाला एक और तत्व है सेलेनियम, यह महिलाओं में होने वाले स्तन कैंसर को रोकता है।

3. थाइरोइड सम्बन्धी विकारों से बचाता है – दुनिया में ऐसे लोगों की तादाद करोड़ों में है जो थाइरोइड की बीमारी से ग्रसित हैं। शोधकर्ताओं का मानना है की शरीर में सेलेनियम की कमी इस रोग की एक प्रमुख वजह है। सूरजमुखी के बीज में सेलेनियम की प्रचुरता, सूरजमुखी को थाइरोइड सम्बन्धी रोगो के खिलाफ एक औसधीय बूटी के रूप में प्रस्तुत करती है।

4. हड्डियों को मजबूत बनाती है – दूध के अलावा हड्डियों कोई मजबूत बनाने के लिए किसी और चीज का नाम अगर आता है तो उसमे सूरजमुखी के बीज भी शामिल हैं। सूरजमुखी के बीज में मौजूद मैग्नीशियम शरीर में कैल्सियम और पोटैशियम के अनुपात को संतुलित रखता है। ये हड्डियों के घन्तव को भी बढ़ाता है और ऑस्टियोपोरोसिस से भी बचाता है।

5. डायबिटीज के रोकथाम में भी सहायक – बहुत सारे शोधों के मुताबिक ये बात सामने आई है की बीजों और मेवों में डायबिटीज (मधुमेह) से लड़ने वाले तत्व पाये जाते हैं। सूरजमुखी के बीजों में भी ऐसे तत्व पाये जाते हैं जो शरीर में चीनी की मात्रा को नियंत्रित करती है। इन बीजों में पाये जाने वाले मैग्नीशियम आपको टाइप 2 डायबिटीज से बचाते हैं।

6. त्वचा की भी करता है सुरक्षा – पीले रंग के इस चमकदार पौधे के बीज आपके चहरे की चमक बनाने में भी बहुत फायदेमंद होते हैं। अगर आप एक सुन्दर और चमकते चेहरे की कामना करते हैं तो अपने आहार में सूरजमुखी के बीजों को शामिल कीजिये। जानवरों पर हुए शोध में पता चला की सूरजमुखी के बीजों ने इन जानवरों की ऊपर त्वचा के विकास में कमाल का चमत्कार किया। इसके सेवन से उनकी ऊपरी त्वचा का विकास अच्छे ढंग से हुआ। जानवरों के साथ साथ इंसानों पर भी सूरजमुखी का असर कुछ ऐसा ही हैं। इसके सेवन से त्वचा प्रदुषण और सूरज द्वारा निकली हानिकारक युवी किरणों से बची रहती है। ये त्वचा को उसकी प्राकृतिक नमी बनाये रखने में भी बहुत मदद करती है।

7. दिमाग को भी बनाता है मजबूत – विटामिन बी5 जिसे पैन्टोथेनिक (Pantothenic) एसिड के नाम से भी जाना जाता है दिमाग के विकास में महत्वपूर्ण होता है। ये विटामिन सूरजमुखी के बीजों में भी पाया जाता है। ये दिमाग में हॉर्मोन लेवल को संतुलित करता है तथा दिमाग को मजबूत बनाता है। सूरजमुखी के बीजों में पाये जाने वाले मैग्नीशियम तत्व तनाव, बेचैनी तथा मूड स्विंग को रोकते हैं और दिमाग और चित्त को शांत करते हैं। सूरजमुखी के बीजों में अल्झाइमर के रोग से भी लड़ने की अद्भुत क्षमता होती है। सूरजमुखी के बीजों को खरीदते समय एक बात का ध्यान रखे की आप वैसे ही बीज ख़रीदे जो एक समान रंग के हो और उनमे कोई पीले धब्बे न हो। इन बीजों में उच्च मात्र में पॉलीअनसेचुरेटेड फैट होते हैं इसलिए इन्हे हमेशा एक एयर टाइट कंटेनर में रख कर फ्रीज में रखें।