घरेलु नुस्खों से करें गले के इंफेक्शन का खात्मा

5843
cure-throat-infection-home-remedy
image credits:

गले कि खराश अर्थात गले में सूजन हो जाना या जलन होना जहाँ पर हमें गले कि खराश के कारण असहनीय दर्द होता है कभी कभी हमें खाना निगलने में भी काफी परेशानी होती है। कई बार यह गले कि खराश हमें सर्दी, बुखार या फिर विषाणुजनित संक्रमण की वजह से होती है। पर कई बार हमारी यह गले कि खराश कई दिनों तक चलती है जिसके निम्मलिखित कारण हो सकते है –

1) संक्रमण

2) एलर्जी

3) धूम्रपान

4)जोरजोर से गले पर दबाव देकर, चिल्लाकर बोलना

5) वायु-प्रदूषण

6) रासायनिक धुँआ

कई बार हमें गले की समस्या का हल ढूँढने के लिए ङॉक्टर के पास जाना पङता है जो हमें विविध प्रकार की एंटीबायोटिक लेने की सलाह देते हैं। पर क्या आप जानतें है कि इन दवाइयों को लेने की वजाय यदि हम गले कि खराश कि समस्याओं पर दादी माँ के कुछ घरेलु नुस्खों को अपनाएँ तो हमें काफी राहत मिल सकती है।

आइयें हम उन गुणों की ओर देंखें।

1) गरारा करना – एक गिलास गुनगुने पानी में लगभग आधा चम्मच नमक ङालकर अच्छी तरह मिला लें। कुछ सेंकंङ तक इस पानी से गरारा करें और थूंक दें। इसे कम से कम दिन में 3 या 4 बार करें। हमें कभी भी ठंङे पानी से गरारा नहीं करना चाहिए। नमकीन गुनगुने पानी से गला साफ रहता है और सूजन भी कम होती है।

2) एक कप गरम पानी में दो छोटे चम्मच शहद मिलाकर पीने से काफी राहत मिलती है। शहद में कई प्रकार के सौम्य जीवाणुरोध गुण होते है, जो गले में जीवाणु होने से रोकते हैं इसलिए इस उपाय को सर्वोत्तम उपाय माना गया है। यह गले के जख्मों को भरने में भी सहायक है। इसलिए प्राचीन काल से शहद का उपयोग गले की खराश को ठीक करने के लिए किय़ा जाता है।

3) हरी चाय (ग्रीन टी) – हरी चाय का सेवन करने से हमें गले की खराश से काफी राहत मिलती है। क्योंकी यह प्राकृतिक तरीके से गले में संक्रमण होने से रोकती है।

4) एक गिलास गर्म पानी में दो या तीन लौंग को पीसकर मिला लें। अब यह गर्म पानी गुनगुना होनेपर गरारा करें। काफी आराम मिलता है।

5) गले की समस्या को दूर करने के लिए लगभग एक छोटा चम्मच धनिया के दानों कों मुंह में ङालकर अच्छी तरह से चूसकर फिर चबाना चाहिए। गले की समस्या दूर होन में सहायता मिलेगी।

6) एक बर्तन में दो कप पानी लेकर उसमें एक छोटा टुकङा अदरक काटकर ङालें और उसे कम से कम दस मिनट ते उबालें। फिर उसमें दो चम्मच नींबू का रस और एक चम्मच शहद ङालें। फिर यह पानी पी लें। इस पानी के सेवन से हमें गले की खराश की तकलीफ को दूर होने में काफी लाभ होता है।

7) गेंहू के ज्वारे के रस का सेवन करने से गले के दर्द में काफी राहत मिलती है क्योंकि यह गलें में कीटाणुओं की वृद्धि होने से रोकता है।

इस तरह यदि हम ऊपर दिये गए घरेलू निर्देशों का सही और नियमित रूप से पालन करें तो हमारे गले की खराश की समस्या दूर होने में बहुत जल्द ही राहत मिलेगी और हमें किसी भी चिकित्सक के पास जाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी।