वीट जर्म आयल – जानिए इसके 8 फायदों को

6693
wheat-germ-oil-1-512x403
image credit: NaturalPedia

अक्सर आटा या ब्रेड बनाने वाली कंपनी गेंहूँ के अंकुर से बने चोकर को हटा देती हैं। (benefits of wheat germ oil) इसकी वजह इनमे मौजूद तेल हैं जो तेज़ी से ख़राब होते हैं। गेंहू के अंकुर में पाए जाने वाले ये तेल पोषक तत्वों से भरे होते हैं जो कई तरह की चिकित्सा पद्धति और थेरेपी में बहुत उपयोगी साबित होते हैं। इसलिए इन तेलों को अंकुर से निकाल कर ही उपयोग किया जाता है।

 

इसी तेल को वीट जर्म आयल कहा जाता है। ये ओमेगा-3(omega-3) और ओमेगा-6(omega-4) अम्लों के साथ ही विटामिन और एंटीऑक्सिडेंट्स से भरा होता है लेकिन इसमें वसा की मात्रा बहुत कम होती है। इन गुणों की वजह से वीट जर्म आयल बहुत से लाभ प्रदान करता है।

 

आइये, वीट जर्म आयल के प्रमुख लाभों को जानें:

 

बालों की देखभाल- (hair care)

वीट जर्म आयल ओमेगा-6 अम्लों का स्रोत है जो बालों को पोषण देता है। इस तेल को नारियल या जैतून के तेल में मिलाकर सिर की मालिश करने से या शैम्पू/कंडीशनर में मिलाने से आपके बाल चमकदार और मज़बूत बनते हैं। इस तरह बालों का झड़ना और डैंड्रफ की समस्या भी दूर होती है।

 

सुजन कम करे-

सूजी त्वचा पर वीट जर्म आयल लगाना एक आम प्रथा है। इस तेल में विटामिन E पाया जाता है जो त्वचा को पोषण देने के साथ रक्तप्रवाह बढ़ाता है जो क्षतिपूर्ति तेज़ करता है। यह सुजन और इसके कारण आई गर्माहट तथा जलन को खत्म करने में प्रभावकारी है। इसके अलावा वीट जर्म आयल सोरायसिस, एक्जिमा और अन्य चर्मरोगों के निवारण में मदद करता है।

 

दिल को सेहतमंद बनाए-

वीट जर्म आयल में पाए जाने वाले ओमेगा-3 अम्ल कोलेस्ट्रोल के स्तर को कम कर रक्तप्रवाह बढ़ाने वाले माने जाते हैं। इससे सिर्फ ब्लड प्रेशर ही कम नहीं होता बल्कि दिल से जुडी सभी बीमारियों के होने का खतरा कम हो जाता है। सही रक्तप्रवाह से शरीर की अन्य समस्याओं से भी निजात मिलनी शुरू हो जाती है। पर यहाँ ये भी ध्यान रखना ज़रूरी है की अगर वीट जर्म आयल को अधिक मात्रा में लिया जाए तो इसमें मौजूद ओमेगा-6 अम्ल कोलेस्ट्रोल बढ़ा देते हैं।

 

शरीर को जवान बनाए रखे-

वीट जर्म आयल के एंटीऑक्सीडेंट से होने वाले प्रभाव सिर्फ त्वचा ही नहीं बल्कि पुरे शरीर को मिलते हैं। इस तेल को त्वचा पर लगाने से मांसपेशियों का तनाव खत्म हो जाता है तथा झुर्रियां और दाग कम दिखते हैं। शरीर के भीतर तेल के कण फ्री रेडिकल को खत्म कर आपको कई गंभीर समस्याओं से बचाते हैं।

 

मोटापे से बचाए-

इस तेल के उपयोग से मेटाबोलिज्म दुरुस्त होता है जिससे कम सक्रियता में भी वसा घटने लगती है। यह वजन घटाने वालों के लिए बहुत महत्वपूर्ण प्रभाव है। वीट जर्म आयल के अम्ल शरीर को उर्जा तो देते हैं पर वसा नहीं बढ़ाते जिससे कैलोरी खत्म करने में आपको मदद मिलती है। पर वीट जर्म आयल का उपयोग मध्यम मात्रा में ही किया जाना चाहिए।

 

ज्ञान अर्जित करने की क्षमता बढाए-

विटामिन E, A और अन्य एंटीऑक्सीडेंट का मिश्रण आपके दिमाग को शक्ति देता है। यह फ्री रेडिकल की गतिविधियों को कम कर ध्यान और याददाश्त बढ़ाने का काम करता है। इसके सेवन से आपको दिमाग कमजोर करने वाले रोग नहीं जकड़ते।

 

मधुमेह को नियंत्रित करे-

वीट जर्म आयल में एक और बहुत उपयोगी खनिज पाया जाता है- मैग्नीशियम। ये हमारे रक्त में शर्करा की मात्रा को नियंत्रित करने के लिए बेहद ज़रूरी है।

 

उर्जा बढाए-

अगर आप अक्सर थका और कमजोर महसूस करते हैं तो चाय और कॉफ़ी के लती होने बेहतर है वीट जर्म आयल का उपयोग करें। इस तेल से मिलने वाले ओमेगा-3 फैटी अम्ल आपके आहार की उर्जा को तेज़ी से मांसपेशियों तक पहुचाएंगे। इतना ही नहीं, इसके सेवन से रक्तप्रवाह बढ़ता है जो आपकी उर्जा भी बढ़ाएगा।

 

वीट जर्म आयल के कुछ दुष्प्रभाव भी हैं जिसे ध्यान में रखना ज़रूरी है। यह रक्तचाप बहुत कम कर सकता है, त्वचा में खुजली हो सकती है, कोलेस्ट्रोल बढ़ सकता है तथा पेट में असहजता महसूस होती है। इसलिए वीट जर्म आयल का सेवन कम मात्रा में करें। अगर कोई संदेह हो तो चिकित्सक से परामर्श ज़रूर लें।